आगरा में बन रहे मुगल म्यूज़ियम को योगी ने बताया गुलामी का प्रतीक, शिवाजी महाराज के नाम पर किया नामकरण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में निर्माणाधीन मुगल म्यूजियम का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी म्यूजियम कर दिया है। मुख्यमंत्री ने खुद एक ट्वीट कर कहा कि, म्यूजियम अब शिवाजी महाराज के नाम पर स्थापित होगा।

फोटो सौजन्य : https://worldarchitecture.org
फोटो सौजन्य : https://worldarchitecture.org
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में बन रहे मुगल म्यूजियम का नाम बदल दिया है। इस म्यूजियम का नाम अब छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर होगा। योगी ने यह घोषणा सोमवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यो की समीक्षा के दौरान की। बाद में उन्होंने एक ट्वीट के माध्यम से कहा कि, "आगरा में निर्माणाधीन म्यूजियम को छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम से जाना जाएगा। आपके नए उत्तर प्रदेश में गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों का कोई स्थान नहीं। हम सबके नायक शिवाजी महाराज हैं। जय हिन्द, जय भारत।"

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार राष्ट्रवादी विचारों को पोषित करने वाली है। गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों को छोड़, राष्ट्र के प्रति गौरवबोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। हमारे नायक मुगल नहीं हो सकते। शिवाजी महराज हमारे नायक हैं। इसीलिए आगरा का मुगल म्यूजियम छात्रपति शिवाजी के नाम से जाना जाएगा।

योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान कमिश्नर के आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी और मथुरा के जिलाधिकारियों से जिलों में प्रस्तावित और जारी विभिन्न योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने ब्रज क्षेत्र में पेयजल की समस्या के निस्तारण के लिए जारी परियोजनाओं को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शुद्ध पेयजल की सुविधा हर नागरिक का अधिकार है, इसके लिए हर आवश्यक कदम उठाए जाएं।

उन्होंने इन जिलों में मेट्रों और एयरपोर्ट परियोजनाओं को भी समय से पूरा करने के निर्देश दिए। ध्यान रहे कि बीते दिनों जारी देश के स्मार्ट सिटीज की रैंकिंग में आगरा का स्थान पूरे देश में राष्ट्रीय स्तर पर तीसरे और उत्तर प्रदेश में घोषित स्मार्ट सिटी की सूची में पहले स्थान पर है।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next