योगी के मंत्री ने ‘नंगे तार’ से की मायावती की तुलना, कहा- कांशीराम की हुई थी संदिग्‍ध मौत, सीबीआई जांच की मांग

बीजेपी नेताओं का विवादित बयान देने का सिलसिला जारी है। साध्वी प्रज्ञा, साक्षी महाराज के बाद इस कड़ी में अगला नाम योगी सरकार में हाल ही में मंत्री बनाए गए गिरिराज सिंह धर्मेश का जुड़ गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी नेताओं का विवादित बयान थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाल ही में साध्वी प्रज्ञा ने विपक्षी पार्टियों को लेकर विवादित बयान दिया था और अब योगी के मंत्री गिरिराज सिंह धर्मेश का नाम भी जुड़ गया है। गिरिराज सिंह धर्मेश ने बीएसपी अध्यक्ष मायावती पर विवादित बयान देते हुए कहा, “मायावती बिजली का नंगा तार हैं, जो भी उन्हें छुएगा वो मर जाएगा। मंत्री ने कहा कि बीजेपी ने उन्हें तीन बार मुख्यमंत्री बनाया, जान बचाई लेकिन मायावती से बदले में धोखा ही मिला।”

इतना ही नहीं योगी के मंत्री गिरिराज सिंह धर्मेश ने कांशीराम की मौत की वजह पर भी संदेह जताया। उन्होंने कहा, “बीएसपी के संस्थापक कांशीराम प्राकृतिक रूप से नहीं मरे। उनकी मौत संदिग्ध अवस्था में हुई थी। मायावती की देखरेख में उनका इलाज चल रहा था। कांशीराम की बहन कह रही है कि मायावती ने उन्हें मारा है। मैं सीएम से अपील करूंगा कि इसकी जांच सीबीआई से करवाई जाए।”

उन्होंने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी के नेता दिवंगत ब्रह्मदत्त द्विवेदी थे, जिन्होंने गेस्ट हाउस कांड में मायावती की जान बचाई थी। फिर भी मायावती ने बीजेपी को धोखा दिया। उन्होंने कहा, “लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी का उपयोग कर अपनी पार्टी को 10 सीटों पर पहुंचाकर समाजवादी पार्टी को धोखा दे दिया।

बता दें कि गिरिराज सिंह धर्मेश पेशे से डॉक्टर हैं। गिरिराज सिंह धर्मेश 1994 में बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्होंने साल 2017 में पहली बार चुनाव जीता था। इस बार हुए मंत्रिमंडल विस्तार में योगी आदित्यनाथ ने उन्हें अपनी कैबिनेट में जगह दी है।

Published: 29 Aug 2019, 4:24 PM
लोकप्रिय