टीका लगवाने के बाद भी आप सुरक्षित नहीं! स्टडी में खुलासा, कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट से जुड़ी परेशान करने वाली खबर

कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट लगातार मुश्किलें बढ़ा रहा है। 130 देशों में ज्यादातर मामले डेल्टा वैरिएंट के ही सामने आ रहे हैं। यह दुनियाभर में फैल चुका है और तेजी से संक्रमित भी कर रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना के डल्टा वैरिएंट को लेकर परेशान करने वली खबर सामने आई है। चेन्नई में किए गए एक आईसीएमआर के अध्ययन में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। स्टडी में पाया गया है कि डेल्टा वैरिएंट में टीकाकरण और असंक्रमित दोनों व्यक्तियों को संक्रमित करने की क्षमता है। ऐसे में जो लोग कोरोना का टीका लगवा चुके हैं वो भी इस वैरिएंट से सुरक्षित नहीं। ऐस में जरूरी है कि लोग कोरोना नियमों का पालन करें और तेजी से फैल रहे वैरिएंट से खुद को सुरक्षित रखें।

130 देशों में ज्यादातर मामले डेल्टा वैरिएंट के ही सामने आ रहे हैं। यह दुनियाभर में फैल चुका है और तेजी से संक्रमित भी कर रहा है। जिन लोगों को वैक्सीन लग चुकी है, उनके शरीर में बनने वाली एंटीबॉडीज पर शोध किया और दूसरे वैरिएंट के खिलाफ इसकी जांच की। इस दौरान पाया गया कि इस वैरिएंट के खिलाफ एंटीबॉडी की प्रभावकारिता दो से तीन गुना कम हो गई। हालांकि राहत की बात यह है कि इसके बावजूद वैक्सीन आपको काफी हद तक बचा सकती है।


डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ एंटीबॉडी की प्रभावकारिता कुछ कम जरूर हो रही है, लेकिन गंभीर संक्रमण से बचने के लिए वैक्सीन जरूरी है, ताकि लोग अस्पताल में भर्ती होने से बचें, यहां तक कि मौत से भी। इसलिए वैरिएंट चाहे जो भी हो, वैक्सीन आपको गंभीर संक्रमण से बचाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 19 Aug 2021, 10:11 AM