हिंदी के युवा आलोचक-कथाकार आशुतोष भारद्वाज को इस साल का देवीशंकर अवस्थी सम्मान

हिंदी के युवा आलोचक और पत्रकार-कथाकार आशुतोष भारद्वाज को इस साल का देवीशंकर अवस्थी सम्मान दिया जाएगा। उन्हें यह सम्मान उनकी कृति 'पितृ वध' के लिए दिया जाएगा। इस सम्मान के लिए विजेता का चयन करने वाली समिति में साहित्यकार अशोक वाजपेयी, नंदकिशोर आचार्य और राजेंद्र कुमार शामिल हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

इस बार का देवी अवस्थी सम्मान युवा कथाकार-आलोचक आशुतोष भारद्वाज को उनकी पुस्तक ‘पितृ-वध’ के लिए दिया जा रहा है। 2019 में प्रकाशित उनकी इस पहली आलोचना-पुस्तक में आशुतोष भारद्वाज ने अज्ञेय, मुक्तिबोध, निर्मल वर्मा, कृष्ण बलदेव वेद, कृष्णा सोबती, श्रीकान्त वर्मा, ‘उपन्यास के भारत की स्त्री’,‘स्त्री और राष्ट्रवाद’, ‘स्त्री का एकान्त’ आदि पर गंभीरता से विचार, विश्लेषण और पैनी समझ, गहरी संवेदना और निर्भीकता के साथ नवाचार किया है।

सम्मान के लिए विजेता का चयन करने वाली समिति में शामिल डॉ. राजेन्द्र कुमार, डा. नन्दकिशोर आचार्य और अशोक वाजपेयी ने सर्वसम्मिति से इस पुस्तक को चुना है।

आशुतोष भारद्वाज इंडियन एक्सप्रेस में पत्रकार रहे हैं और बस्तर पर लिखी उनकी पुस्तक ‘दि डैथ टैप’ बहुचर्चित है। शिमला के इंडियन इन्स्टीट्यूट आफ एडवान्स स्टडी में फैलो रहने के बाद वे शिमला में स्वतंत्र लेखन कर रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय