देश के पत्रकारों की जासूसी मामले पर युवा कांग्रेस का मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, JPC जांच की मांग

भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने कहा कि "जब अंग्रेज थे, तब भी 'जासूसी' इनका धंधा था, आज जब नही है तब भी 'जासूसी' का धंधा जारी है, आखिर सुधरेंगे कब?

फोटो: INC
फोटो: INC
user

नवजीवन डेस्क

फोन टैपिंग मामले को लेकर देश में एक बार फिर से हंगामा शुरू हो गया है। इस मामले पर विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार पर हमला बोलना शुरू कर दिया है। भारतीय युवा कांग्रेस ने इस मसले पर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। वहीं युवा कांग्रेस ने मांग की है कि जल्द से जल्द जेपीसी द्वारा और सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी के तहत इस जासूसी कांड की जांच होनी चाहिए। भारतीय युवा कांग्रेस के अनुसार, इजराइली सॉफ्टवेयर पेगासस द्वारा पत्रकारों की, विपक्षी नेताओं की, सरकार के मंत्रियों की, व सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीश की जासूसी के विरोध में केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने कहा कि "जब अंग्रेज थे, तब भी 'जासूसी' इनका धंधा था, आज जब नही है तब भी 'जासूसी' का धंधा जारी है, आखिर सुधरेंगे कब? 7 साल बीत गए सिर्फ इस ख्याल में कि वो हमारे 'मन की बात' नहीं सुनते। 7 साल बाद खुलासा हुआ तो पता लगा कि, पेगासस बनकर व्हाट्सएप, गैलरी इत्यादि में बैठकर 'मन की बात' सुन भी रहे थे, देख भी रहा थे।"


भारतीय युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन तो किया ही इसके अलावा सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की हालांकि इस दौरान दिल्ली पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया।

कार्यकर्ताओं के मुताबिक, प्रधानमंत्री, राजनीतिक विरोधियों के साथ-साथ अब पत्रकार, जज, उद्योगपति, खुद के वरिष्ठतम मंत्री और यहां तक की आरएसएस की लीडरशिप को भी नहीं बख्शा है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;