युवा कांग्रेस का 9 अगस्त से ‘रोजगार दो’ आंदोलन, पूरे देश में गुंजेगी बेरोजगार युवाओं की आवाज

देश में लंबे समय से जारी आर्थिक मंदी और अब कोरोना संकट और लॉकडाउन की वजह से विकराल रूप ले चुकी बेरोजगारी की समस्या को लेकर मोदी सरकार पर दबाव बनाने के लिए कांग्रेस की युवा इकाई भारतीय युवा कांग्रेस 9 अगस्त से देशव्यापी ‘रोजगार दो’ अभियान शुरू करेगी।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो
user

नवजीवन डेस्क

लंबे समय से देश पर छाए आर्थिक संकट और कोरोना महामारी और उसके चलते लगाए गए लॉकडाउन के कारण भयंकर हो चुकी बेरोजगारी की समस्या को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस (आईवाईसी) 9 अगस्त से देशव्यापी 'रोजगार दो' आंदोलन शुरू करेगी। इस आंदोलन का मकसद बेरोजगार युवाओं की आवाज बुलंद करना है और उनको रोजगार सुनिश्चित कराना है।

आंदोलन का आगाज युवा कांग्रेस के प्रमुख श्रीनिवास बी.वी. करेंगे। आंदोलन के बारे में बताते हुए श्रीनिवास बी.वी. ने कहा, "आज, देश में 30 करोड़ से ज्यादा युवा बेरोजगार हैं। बेरोजगारी इस कदर बढ़ गई है कि हर रोज कोई न कोई युवा आत्महत्या कर रहा है। और यह दुखद है कि केंद्र सरकार युवाओं की आवाज को पूरी तरह नजरअंदाज कर रही है।"

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि यह सरकार हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा कर सत्ता में आई थी। इस हिसाब से बीते छह साल में 12 करोड़ लोगों को रोजगार मिल जाना चाहिए था। लेकिन इसके विपरीत कोविड-19 से लड़ने में कुप्रबंधन के कारण अब तक कम से कम 12 करोड़ लोगों की नौकरी चली गई।

कांग्रेस की युवा इकाई के अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार रेलवे का निजीकरण और सरकारी कंपनियों को बेचकर युवाओं के रोजगार के अवसर लगातार छीन रही है। उन्होंने कहा, “हमारी मांग है कि विभिन्न सरकारी विभागों के खाली पद तुरंत भरे जाएं, रेलवे और अन्य सरकारी संस्थानों का निजीकरण तुरंत बंद हो, कोरोना काल में बेरोजगार हुए युवाओं को आर्थिक मदद मिले, सरकारी विभागों में पदों को खत्म किए जाने पर रोक लगे और अदालतों में अटकी सरकारी भर्तियों पर जल्द फैसला लिया जाए।”

वहीं भारतीय युवा कांग्रेस के मीडिया प्रभारी राहुल राव ने बताया कि इस अभियान के तहत युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता पूरे देश भर में गांव-गांव में धरना देंगे, बेरोजगार युवाओं की मानव शृंखला बनाकर प्रदर्शन करेंगे। साथ ही आंदोलन के दौरान सोशल मीडिया पर भी बेरोजगार युवाओं की आवाज उठाई जाएगी और केंद्र सरकार की युवा विरोधी नीतियों को देश की जनता के सामने उजागर किया जाएगा।

लोकप्रिय
next