जयंती विशेष: प्रेमचंद की डायरी से ‘गोदान’ के होरी के कर्ज़ का हिसाब-किताब और देखें कुछ अन्य ऐतिहासिक दस्तावेज

आज महान लेखक मुंशी प्रेमचंद की 138वीं जयंती है। इस मौके पर प्रस्तुत है प्रेमचंद के जीवन से जुड़े कुछ जरूरी दस्तावेज।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

आज महान लेखक मुंशी प्रेमचंद की 138वीं जयंती है। मुंशी प्रेमचंद का जन्म साल 1880 में 31 जुलाई को वाराणसी के एक छोटे से गांव लमही में हुआ था। प्रेमचंद का मूल नाम धनपत राय था। मुंशी प्रेमचंद ने साल 1936 में अपना अंतिम उपन्यास ‘गोदान’ लिखा, जो काफी चर्चित रहा। आइए देखें उनसे जुड़े कुछ जरूरी दस्तावेज।

जयंती विशेष: प्रेमचंद की डायरी से ‘गोदान’ के होरी के कर्ज़ का हिसाब-किताब और देखें कुछ अन्य ऐतिहासिक दस्तावेज
मुंशी प्रेमचंद के उपन्यास ‘गोदान’ के नायक होरी पर बकाया कर्ज का हिसाब (प्रेमचंद की डायरी से)
जयंती विशेष: प्रेमचंद की डायरी से ‘गोदान’ के होरी के कर्ज़ का हिसाब-किताब और देखें कुछ अन्य ऐतिहासिक दस्तावेज
मुंशी प्रेमचंद के हस्तलेख (प्रेमचंद की डायरी से)
जयंती विशेष: प्रेमचंद की डायरी से ‘गोदान’ के होरी के कर्ज़ का हिसाब-किताब और देखें कुछ अन्य ऐतिहासिक दस्तावेज
मुंशी प्रेमचंद के सर्विस बुक की एक प्रति (प्रेमचंद सरकारी मुलाजिम थे)
जयंती विशेष: प्रेमचंद की डायरी से ‘गोदान’ के होरी के कर्ज़ का हिसाब-किताब और देखें कुछ अन्य ऐतिहासिक दस्तावेज
मुंशी प्रेमचंद की डिग्री की प्रति (प्रेमचंद ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से बीए किया था)
Published: 31 Jul 2018, 2:59 PM
लोकप्रिय