उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही, तस्वीरों में देखें- तबाही का मंजर

उत्तराखंड पर एकबार फिर से कुदरत का कहर बरपा है। चमोली में ग्लेशियर टूटने से भारी नुकसान की आशंका है। राज्य के डीजीपी के मुताबिक ग्लेशियर फटने की घटना में 150 से ज्यादा लोग लापता हैं। अभी तक 3 शव बरामद हो चुके हैं।

user

नवजीवन डेस्क

रेस्क्यू टीम लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के अलावा आईटीबीपी और सेना की भी मदद ली जा रही है और निचले इलाकों को तेजी से खाली कराया जा रहा है। लोगों को नदी किनारे से दूर जाने की चेतावनी जारी किया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

यह ग्लेशियर उत्तराखंड के चमोली में फटा है और इससे ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट पूरी तरह बर्बाद हो गया है। कई घरों के बहने की आशंका जताई जा रही है। जोशीमठ के एडीएम अनिल चान्याल के मुताबिक पानी की रफ्तार बहुत तेज है जिससे कई पुल भी बह गए हैं और कई गांवों से संपर्क भी टूट गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

ग्लेशियर फटने के बाद जोशीमठ की एसडीएम कुमकुम जोशी ने कहा की नदी पूरी तरह मलबे में तब्दील हो चुकी है जो बह रही है।आसपास के गांवों को जल्द से जल्द खाली करा लिया गया है और कई लोगों के घायल होने की भी खबर है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

चमोली जिले के रैणी गांव के ऊपर वाले हिस्से में ये ग्लेशियर टूटा है। जिस कारण यहां पावर प्रोजेक्ट ऋषि गंगा को भारी नुकसान पहुंचा है। ग्लेशियर की तबाही के साथ तपोवन में बैराज को भी क्षति पहुंचने की जानकारी मिली है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

निचले इलाकों में आईटीबीपी के 200 से ज्यादा जवानों को बचाव कार्य में लगाया गया है। SDRG की 10 टीमें भी मौके पर पहुंचीं हैं। हरिद्वार, ऋषिकेष और श्रीनगर में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 Feb 2021, 4:11 PM
लोकप्रिय