फोटो कहानियां

उत्तर प्रदेश के वो 12 वीर जवान, जिन्होंने पुलवामा में दी देश के लिए जान 

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में उत्तर प्रदेश के 12 जवान भी शहीद हुए हैं। ये हैं यूपी के वो 12 लाल जिन्होंने देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी।

नवजीवन डेस्क

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
उन्नाव कोतवाली के लोकनगर मोहल्ला निवासी अजीत कुमार आजाद 115वीं बटालियन में सीआई के पद पर तैनात था।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
कन्नौज के तिर्वा के सुखचैनपुर निवासी जवान प्रदीप सिंह यादव भी 115वीं बटालियन में तैनात थे।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
आगरा के ताजगंज थानाइलाके कहरई गांव के जवान कौशल कुमार रावत पुलवामा हमले में शहीद हुए हैं। चार दिन पूर्वही नौकरी ज्वॉइन करने कश्मीर गए थे।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
प्रयागराज के तुड़ीहर बदल गांव निवासी महेश कुमार 118वीं बटालियन में तैनात थे। उनकी पोस्टिंग बिहार मेंथी। बीते मंगलवार को ही महेश जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना हुए थे।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
शामली के बनत निवासी प्रदीप कुमार 21वीं बटालियन में तैनात थे। शहीद प्रदीप कुमार के परिवार में तीन भाईऔर एक बहन है।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
वाराणसी के तोफापुर बराइन गांव निवासी रमेश यादव भी पुलवामा हमले में शहीद हुए हैं।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
कानपुर देहात के डेरापुर थाना के रैगवा के रहने वाले श्याम बाबू शहीद हो गए। उन्होंने 2007 में सीआरपीएफ ज्वॉइन किया था। श्याम लाल के दो बच्चे हैं। 
शामली के मोहल्ला रेपार निवासी अमित कुमार भी पुलवामा हमले में शहीद हुए हैं। अमित ने दो साल पहले सीआरपीएफ ज्वॉइन किया था।
शामली के मोहल्ला रेपार निवासी अमित कुमार भी पुलवामा हमले में शहीद हुए हैं। अमित ने दो साल पहले सीआरपीएफ ज्वॉइन किया था।
फोटो: सोशल मीडिया 
देवरिया के भटनी थाना इलाके के छपिया जयदेव निवासी विजय मौर्य सीआरपीएफ के 92वीं बटालियन में तैनात थे। 
देवरिया के भटनी थाना इलाके के छपिया जयदेव निवासी विजय मौर्य सीआरपीएफ के 92वीं बटालियन में तैनात थे। 
फोटो: सोशल मीडिया 
 चंदौली के मुगलसराय कोतवाली इलाके के बहादुरपुर गांव निवासी अवधेश यादव 2006 में सीआरपीएफ में नियुक्त हुए थे। वर्तमान में उनकी तैनाती 45वीं बटालियन में थी।
चंदौली के मुगलसराय कोतवाली इलाके के बहादुरपुर गांव निवासी अवधेश यादव 2006 में सीआरपीएफ में नियुक्त हुए थे। वर्तमान में उनकी तैनाती 45वीं बटालियन में थी।
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 
मैनपुरी के बरनाहल स्थित गांव विनायकपुर के सैनिक राम वकील 10 फरवरी को ही छुट्टी बिताकर वापस लौटे थे। राम वकील के तीन छोटे बच्चे हैं।
लोकप्रिय