बिहार: JDU विधायक के बयान पर NDA में बवाल जारी, भड़की BJP कार्रवाई की मांग पर अड़ी

पिछले दिनों सीएम नीतीश के बेहद करीबी माने जाने वाले जेडीयू विधायक गोपाल मंडल ने बीजेपी नेता और डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद पर आरोप लगाया था कि वे भागलपुर जाकर पैसों की वसूली करते हैं। मंडल ने यहां तक कह दिया कि वे घटक दलों के नेताओं से भी नहीं मिलते हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार भले ही चल रही हो, लेकिन गठबंधन के दो घटक दल जेडीयू और बीजेपी में तकरार चरम पर पहुंच गया है। जेडीयू विधायक गोपाल मंडल के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के खिलाफ दिए गए बयान के बाद बीजेपी भड़क गई है। बीजेपी अब जेडीयू विधायक पर कार्रवाई करने की मांग पर अड़ गई है।

पिछले दिनों सीएम नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले जेडीयू के विधायक गोपाल मंडल ने बीजेपी के नेता और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद पर आरोप लगाया था कि वे भागलपुर जाकर पैसों की वसूली करते हैं। गोपाल मंडल ने यहां तक कह दिया कि वे यहां विरोधियों से जरूर मिलते हैं, लेकिन अपने घटक दलों के नेताओं से नहीं मिलते हैं।

जेडीयू के विधायक के इस बयान के बाद बीजेपी के नेताओं ने मंडल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। गोपाल मंडल पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल और मंत्री सम्राट चौधरी ने कार्रवाई की मांग उठाई तो मंडल ने एकबार फिर पलटवार करते हुए कहा कि ये लोग कौन होते हैं, हम पर कार्रवाई करने वाले। उन्होंने सम्राट चौधरी को दलबदलू तक कह दिया।

इसके बाद मंडल के इन बयानों से असहज बीजेपी की तरफ से पार्टी नेता और पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन सामने आए और उन्होंने मंडल पर कार्रवाई की मांग की। पथ निर्माण मंत्री ने कहा कि नीतीश कुमार अनुशासन के लिए जाने जाते हैं, पहले भी उन्होंने अनुशासन तोड़ने वालों पर कार्रवाई की है, आगे भी उम्मीद करेंगे कि जिस तरह से लगातार गोपाल मंडल शब्दों की मर्यादा को तोड़ रहे हैं, वे कार्रवाई करेंगे।


इधर, गठबंधन की बड़ी सहयोगी बीजेपी की तरफ से लगातार कार्रवाई की मांग को लेकर बढ़ते दबाव के बाद अब जेडीयू भी अपने विधायक पर कार्रवाई का मन बना रही है। जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा है कि विधायक के बयान को पार्टी ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि जेडीयू और बीजेपी के संबंध बेहद मजबूत हैं। एनडीए में कहीं कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि विधायक से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा, उसके बाद पार्टी आगे की कार्रवाई करेगी।

भले ही बीजेपी के दबाव में जेडीयू की ओर से विधायक पर कार्रवाई की बात कही जा रही है, लेकिन राजनीतिक जानकार मानते हैं कि यह सब सिर्फ समय को टालने के लिए किया जा रहा है। भले अभी जेडीयू बीजेपी के दबाव में हो, लेकिन ये भी सच है कि गोपाल मंडल पर कार्रवाई करना जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष के लिए आसान नहीं है, क्योंकि मडंल सीएम नीतीश के बेहद करीबी माने जाते हैं। मंडल पहले भी कई विवादों में आ चुके हैं, लेकिन कभी उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। हालांकि, इस बार गठबंधन के सबसे बड़े दल का दबाव है, तो संभवतः दिखावे के लिए कोई कार्रवाई हो सकती है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia