प्रज्ञा और हेगड़े के बयानों से किरकिरी पर बीजेपी चिंतित, कल संसदीय दल की बैठक में जारी होंगे सख्त निर्देश

बीजेपी ने मंगलवार को संसद में पार्टी की संसदीय दल की बैठक बुलाई है। बैठक में पीएम मोदी, अध्यक्ष अमित शाह सहित सभी मंत्री और सांसद भाग लेंगे। सूत्रों का कहना है कि बैठक में नेताओं को नसीहत दी जाएगी कि वे ऐसा कुछ भी न बोलें, जिससे पार्टी को सफाई देनी पड़े।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

हाल के दिनों में प्रज्ञा ठाकुर और अनंत हेगड़े जैसे अपने कुछ सांसदों के बयानों से भद्द पिटने की वजह से बैकपुट पर आई बीजेपी ने मंगलवार को पार्टी की संसदीय दल की अहम बैठक बुलाई है। यह बैठक संसद के पुस्तकालय भवन में होगी। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित सरकार के सभी मंत्री और पार्टी सांसद भाग लेंगे। सूत्रों का कहना है कि संसदीय दल की बैठक में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की ओर से मंत्रियों और सांसदों को नपा-तुला और पार्टी लाइन के हिसाब से बोलने के लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी होंगे।

हालांकि, खबर है कि बीते दिनों संसद में भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे को देशभक्त बताने वाले और हाल ही में कर्नाटक के सांसद अनंत हेगड़े द्वारा महाराष्ट्र में जल्दबाजी में देवेंद्र फडणवीस को सीएम बनाने को लेकर दिए बयानों की वजह से पार्टी की हुई चौतरफा किरकिरी की वजह से संसदीय दल की बैठक बुलाई गई है। सूत्रों का कहना है कि बैठक में प्रज्ञा ठाकुर और अनंत हेगड़े के विवादित बयानों पर नाराजगी जताने के साथ ही अन्य नेताओं को नसीहत दी जाएगी कि वे ऐसा कुछ भी न बोलें, जिससे पार्टी को सफाई देनी पड़े।

बता दें कि भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा में गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त करार दिया था, जिस पर संसद से लेकर संसद के बाहर हुए हंगामे के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा को सफाई देने के लिए मजबूर होना पड़ा था। वहीं, रविवार को कर्नाटक से पार्टी सांसद अनंत हेगड़े की ओर से महाराष्ट्र को लेकर किए गए एक दावे का भी बीजेपी को खंडन करना पड़ा। हेगड़े ने दावा किया कि महाराष्ट्र में केंद्र से भेजे गए 40 हजार करोड़ रुपये के फंड को वापस केंद्र को लौटाने के लिए देवेंद्र फडणवीस को अचानक तीन दिन के लिए मुख्यमंत्री बनाने का नाटक किया गया था। फडणवीस ने सीएम बनते ही केंद्र को पूरा पैसा वापस कर दिया। इस बयान पर भी बीजेपी को चौतरफा आलोचनाओं का सामना करना पड़ा।

बीजेपी के सूत्रों का कहना है कि इस अहम बैठक में पार्टी के मंत्रियों और सांसदों को पीएम मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित वरिष्ठ नेताओं द्वारा आगे से सोच-समझकर बोलने की सख्त नसीहत दी जाएगी। साथ ही इस बैठक में लोकसभा और राज्यसभा में विपक्ष की ओर से उठाए गए मुद्दों और पार्टी के अब तक के प्रदर्शन की समीक्षा भी होगी और आने वाले दिनों में विपक्ष के तेवर से निपटने पर भी चर्चा होगी।

लोकप्रिय