बीजेपी का काम सिर्फ झूठ बोलना, हिंदू धर्म को खतरे में बताकर भावनाएं भड़काती हैः कमलनाथ

राज्य की झाबुआ विधानसभा सीट के लिए 21 अक्टूबर को मतदान है। कांग्रेस ने यहां पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया को उम्मीदवार बनाया है। बीजेपी ने भानु भूरिया को टिकट दिया है। यहां के विधायक जीएस डामोर के सांसद निर्वाचित होने की वजह से यह सीट खाली हुई है।

फोटोः @INCMP
फोटोः @INCMP
user

आईएएनएस

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि वोट पाने के लिए बीजेपी भावनाओं को भड़काती है और कहा जाता है कि 'हिंदू धर्म खतरे में है'। उन्होंने कहा कि “बीजेपी का काम सिर्फ झूठ बोलना है। इनका तो मुंह बहुत चलता है। सिर्फ बोलते जाएंगे, गुमराह करते जाएंगे। भावनाएं भड़काएंगे और कहेंगे कि हिदू धर्म खतरे में है और आगे कुछ नहीं बताएंगे। यह उनकी ध्यान भटकाने की राजनीति है। वे सच्चाई से आपका ध्यान मोड़ना चाहते हैं।"

मध्य प्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट के उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार कांतिलाल भूरिया के समर्थन में आयोजित रोड शो में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हिस्सा लिया और उसके बाद एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान कमलनाथ ने कहा, "बीजेपी ने जो काम 15 सालों में नहीं किए, वह काम कांग्रेस की सरकार 15 माह में कर दिखाएगी। बीते आठ माह इस बात की गवाही देते हैं। चुनाव से पहले जो वादे किए गए, चाहे किसान कर्जमाफी का हो, सामाजिक सुरक्षा पेंशन का हो, सभी को पूरा किया गया है।"

राजधानी भोपाल से लगभग 400 किलोमीटर दूर आदिवासी बाहुल्य जिले झाबुआ की स्थिति का जिक्र करते हुए कमलनाथ ने कहा कि वह इस क्षेत्र का छिंदवाड़ा जैसा विकास करना चाहते हैं, और इसके लिए उन्हें अवसर चाहिए। अपने भाषण में कमलनाथ ने कांग्रेस की नीतियों का जिक्र करते हुए कहा, "कांग्रेस वह पार्टी है, जो गरीब और कमजोर वर्ग के बारे में सोचती है। जबकि बीजेपी ऐसी पार्टी है, जो बड़े व्यापारियों के लिए सोचती है। यही कारण है कि बीजेपी का बड़ा झंडा बड़े कारोबारी, व्यापारी या बड़े आदमी के घर नजर आएगा। दोनों ही दलों की सोच में अंतर है।"

बीजेपी के 15 साल के राज्य में शासन पर कमलनाथ ने कहा, "जब केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार थी तब राज्य सरकार से विभिन्न योजनाओं और विकास के लिए केंद्र से धनराशि ले जाने को कहा जाता था। मगर तत्कालीन राज्य सरकार धनराशि नहीं लाती थी। जब बीजेपी के नेता प्रचार करने आए तो उनसे 15 सालों के विकास का हिसाब जरूर मांगना।"

गौरतलब है कि झाबुआ में 21 अक्टूबर को उपचुनाव के लिए मतदान होना है। कांग्रेस ने यहां से पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया को उम्मीदवार बनाया है। वहीं बीजेपी ने भानु भूरिया को मैदान में उतारा है। यहां के विधायक रहे जी एस डामोर के सांसद निर्वाचित होने की वजह से यहां उपचुनाव हो रहा है।

लोकप्रिय