महंगे प्याज से डरी केंद्र सरकार! सवाल से बचने के लिए मोदी के मंत्री ने बंद कर लिया हेलिकॉप्टर का गेट

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी चुनाव प्रचार के लिए झारखंड गई हुई थीं। इसी दौरान जब उनसे सवाल पूछा गया कि प्याज की बढ़ती कीमत पर झारखंड चुनाव में बीजेपी को कितना फायदा या नुकसान होगा? सवाल सुनते ही स्मृति ईरानी वहां से भाग खड़ी हुईं और सीधा अपने हेलिकॉप्टर में जा बैठीं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

प्याज नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है है। प्याज की बढ़ती कीमत से हर कोई बेहाल है। इसने आम आदमी के किचन का स्वाद बिगाड़ने के साथ ही उसकी जेब ढीली कर दी है। कई जगह तो प्याज 250 रुपए किलो तक मिल रहा है। वहीं देशभर में औसतन 120 रुपये प्रति किलो की दर से प्याज मिल रहा है। वहीं मोदी के मंत्री प्याज के सवाल से बचते भाग रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से जब सवाल किया गया वो वहां से जल्दी से निकल गईं।

दरअसल केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी चुनाव प्रचार के लिए झारखंड गई हुई थीं। इसी दौरान जब उनसे सवाल पूछा गया कि प्याज की बढ़ती कीमत पर झारखंड चुनाव में बीजेपी को कितना फायदा या नुकसान होगा? सवाल सुनते ही स्मृति ईरानी वहां से भाग खड़ी हुईं और सीधा अपने हेलिकॉप्टर में जा बैठीं। लेकिन पत्रकार वहां भी पहुंच गए और उनसे सवाल करने लगे, मंत्री साहिबा को जब को जवाब नहीं सूझा तो उन्होंने हेलिकॉप्टर का दरवाजा बंद कर दिया।


प्याज ही नहीं उन्नाव की घटना पर भी बीजेपी की स्टार प्रचारक स्मृति ईरानी कुछ नहीं बोलीं। बता दें कि ईरानी झारखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार करने के लिए बोकारो जिले के गोमिया विधानसभा क्षेत्र पहुंची थीं। यहां उन्होंने विरोधियों पर जमकर हमला बोला, लेकिन जब उनसे प्याज और उन्नाव के बारे में सवाल पूछा गया तो चुप्पी साध ली।

हालांकि अपने विरोधियों पर स्मृति जुबिन ईरानी की जुबान खूब चल रही थी। चुनावी सभा को संबोधित करते हुए ईरानी ने इशारों-इशारों में झारखंड मुक्ति मोर्चा के पूर्व विधायक और उनकी पत्नी और गोमिया की विधायक को चोर कहा। वहीं अपने पुराने सहयोगी आजसू को लैंड माफिया बताया।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;