डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी को कांग्रेस ने बताया मुद्दों से भटकाने की चाल, कल विरोध में कर्नाटक में प्रदर्शन

प्रवर्तन निदेशालय द्वारा पार्टी नेता डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी को कांग्रेस ने देश की बदहाल अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी संकट से ध्यान भटकाने की बीजेपी की चाल बताया है। वहीं डीके शिवकुमार ने भी अपनी गिरफ्तारी को बदले की राजनीति करार दिया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को एक धनशोधन के मामले में कर्नाटक के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता डी के शिवकुमार को दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया। ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि शिवकुमार को धनशोधन मामले में गिरफ्तार किया गया है। अधिकारी ने कहा कि शिवकुमार पूछताछ में सवालों से बच रहे थे और सहयोग नहीं कर रहे थे।

ईडी द्वारा हर हाल में गिरफ्तार किए जाने की संभावना को देखते हुए शिवकुमार ने कर्नाटक हाईकोर्ट में अंतरिम जमानत की अर्जी दायर की थी, जिसे पिछले सप्ताह कोर्ट ने खारिज कर दिया था। उसके बाद शिवकुमार शुक्रवार को दिल्ली में ईडी के समक्ष पहली बार पेश हुए। उसके बाद से एजेंसी लगातार उनसे पूछताछ कर रही थी। मंगलवार को चौथी बार पूछताछ के बाद शिवकुमार को गिरफ्तार कर लिया गया।

अपनी गिरफ्तारी के फौरन बाद डीके शिवकुमार ने भी बीजेपी पर बदले की राजनीति के तहत कार्रवाई करने का आरोप लगाया। उन्होंने ट्वीट कर खुद की गिरफ्तारी के मिशन में सफल होने के लिए बीजेपी को बधाई देते हुए कहा कि उनके खिलाफ आईटी और ईडी के मामले राजनीति से प्रेरित हैं और वह बीजेपी की प्रतिशोध और बदले की राजनीति का शिकार हुए हैं। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं, समर्थकों और शुभचिंतकों से निराश नहीं होने की अपील करते हुए कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और उन्हें भगवान और देश की न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है कि वह प्रतिशोध की राजनीति के खिलाफ कानूनी और राजनीतिक रूप से जीत हासिल करेंगे।

कांग्रेस ने डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी की निंदा की है। पार्टी ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस नेताओं के खिलाफ उच्च स्तरीय साजिश और प्रतिशोध की राजनीति की निंदा करते हैं। कांग्रेस ने कहा कि डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी मोदी सरकार द्वारा अपनी विफल नीतियों और अर्थव्यवस्था की बदहाल स्थिति से जनता को गुमराह करने की एक कोशिश

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी को बेहाल अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी से ध्यान भटकाने की बीजेपी की चाल बताया है। उन्होंने कहा कि देश में उर्वरक, ऑटोमोबाइल, टेक्सटाइल और रिफाइनरी सभी बेरोजगारी की मार से जूझ रहे हैं। इन सबसे देश का ध्यान भटकाने के लिए आए दिन कांग्रेस नेताओं पर झूठे और बदले की भावना से प्रेरित मुकदमे बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी भी बदले की आग से धधकती बीजेपी की ऐसी ही कार्यवाही है।

इधर डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने काफी नाराजगी है। कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईडी दफ्तर के बाहर हंगामा भी किया। बाद में डीके शिवकुमार ने कार्यकर्ताओं से संयम बरतने की अपील कर उनसे शांत रहने का आग्रह किया। इस बीच कर्नाटक कांग्रेस ने शिवकुमार की गिरफ्तारी के खिलाफ बुधवार को पूरे प्रदेश में विरोध-प्रदर्शन का ऐलान किया है। कांग्रेस नेता रामलिंगा रेड्डी ने मोदी सरकार पर लोकतंत्री की हत्या का आरोप लगाया है।

बता दें कि कर्नाटक के पूर्व मंत्री शिवकुमार साल 2016 से आयकर विभाग और ईडी के रडार पर थे। साल 2017 में गुजरात में राज्यसभा की सीट के लिए हुए चुनाव के समय उन्होंने कांग्रेस विधायकों को एकजुट रखने में अहम भूमिका निभाई थी, जिससे अमित शाह की लाख कोशिशो के बाद भी कांग्रेस नेता अहमद पटेल चुनाव जीतने में कामयाब रहे थे। इसके फौरन बाद दो अगस्त को उनके नई दिल्ली स्थित आवास पर आयकर छापा पड़ा था, जिसमें 8.59 करोड़ रुपये नकद जब्त किए गए थे। इसके बाद आयकर विभाग ने शिवकुमार और उनके चार अन्य सहयोगियों के खिलाफ मामला दर्ज किया। आयकर विभाग के आरोपपत्र के आधार पर ईडी ने शिवकुमार के खिलाफ धनशोधन का मामला दर्ज कर लिया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 03 Sep 2019, 11:56 PM
लोकप्रिय