देश खतरनाक दौर से गुजर रहा, धर्म और हिंदुत्व के नाम पर ध्रुवीकरण करना गलत: अशोक गहलोत

आज कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक से पहले अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी की सोच है आयकर, ईडी के छापे डलवाओ, चुनाव आयोग पर दबाव डालो। ये तमाम हालात देश के लिए उचित नहीं। देश के संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। लोकतंत्र पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देश के पांच राज्यों के चुनाव में कांग्रेस की हार पर कहा कि देश अभी बड़े खतरनाक दौर से गुजर रहा है, महंगाई लगातार बढ़ रही है, बेरोजगारी को लेकर युवाओं में हाहाकार मचा हुआ है। उन्होंने कहा कि देश अभी बड़े खतरनाक दौर से गुजर रहा है, जहां धर्म और हिंदुत्व के नाम पर देश का ध्रुवीकरण करना बेहद खतरनाक है। अभी लोगों को हार-जीत पर अच्छा लग रहा है, लेकिन कांग्रेस की नीति और सिद्धांत गांधीजी के जमाने से है, उसी कारण आज देश बचा हुआ है।

रविवार को दिल्ली में कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक हुई, जिसमें कांग्रेस से जड़े तमाम मुद्दों और संगठन को लेकर मंथन हआ। बैठक शुरू होने से पहले अशोक गहलोत ने कहा की बीजेपी की सोच है इनकम टैक्स, ईडी के छापे डलवाओ, इलेक्शन कमिशन पर दबाव डालो, यह तमाम हालात देश के लिए उचित नहीं है। देश के संविधान को भी खतरा है। उसकी धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। साथ ही, लोकतंत्र पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। ये पता नहीं, देश को किस दिशा की ओर ले जा रहे हैं।


अशोक गहलोत ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस को यह कहकर बदनाम किया कि यह मुसलमानों की पार्टी है। आप जानते हैं कि हिंदू-मुसलमान के नाम पर विवाद भड़का कर, यह षड्यंत्र रचकर कांग्रेस को बदनाम किया गया। इसी कारण जनता बहकावे में आ गई और जब धर्म की बात आती है तो जनता बंट जाती है। कांग्रेस के बच्चे-बच्चे को मालूम है कि बलिदान गांधी परिवार ने दिया था।

कांग्रेस के सभी नेता यह मान चुके हैं कि पांच राज्यों के जो भी परिणाम आये हैं, वह उम्मीदों से उलट रहे हैं। वो यह भी समझ चुके हैं कि कांग्रेस को धरातल पर काम करने की जरूरत है। इस चुनाव में आंकड़ो की बात करें तो कांग्रेस को यूपी में 2, गोवा में 11, मणिपुर में 5, पंजाब में 18 और उत्तराखंड में 19 सीटें हासिल हुई हैं। सीडब्ल्यूसी की बैठक सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई। बैठक में आए कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने यूक्रेन से छात्रों की वापसी, महंगाई, बेरोजगारी, किसानों के लिए एमएसपी जैसे मुद्दों पर चर्चा की।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;