CWC बैठक में लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा हुई, राहुल गांधी से भारत जोड़ो यात्रा फिर शुरू करने का आग्रह

खड़गे ने कहा कि पिछले कई महीनों से कई नेता और कार्यकर्ता एक स्वर में एक मांग मुझसे कर रहे हैं कि राहुल गांधी जी से पूर्व से पश्चिम भारत जोड़ो यात्रा करने का आग्रह करें। मैं कार्यसमिति में राहुल जी के समक्ष यह बात रखता हूं और निर्णय आप सभी पर छोड़ता हूं।

दिल्ली में का्ंग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई, लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर हुई चर्चा
दिल्ली में का्ंग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई, लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर हुई चर्चा
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस पार्टी में निर्णय लेने वाली सर्वोच्च संस्था कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की आज राजधानी दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में बैठक हुई, जिसकी अध्यक्षता पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे ने की। बैठक में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, के.सी. वेणुगोपाल, अजय माकन, अधीर रंजन चौधरी, सलमान खुर्शीद समेत कार्यसमिति के सभी सदस्य शामिल हुए। बैठक में देश के वर्तमान हालात और पार्टी की लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर भी चर्चा हुई। बैठक में राहुल गांधी से पूरब से पश्चिम एक और भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने की भी मांग उठी है।

बैठक से पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने शुरुआती वक्तव्य दिया। अपने वक्तव्य की शुरुआत करते हुए खड़गे ने कहा कि मैं आप सभी का कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में हार्दिक स्वागत करता हूं।  हमारी पिछली कार्यसमिति की बैठक में हमने राज्यों के विधानसभा चुनावों को लेकर चर्चा की थी। अच्छा वातावरण था, पर उम्मीद के मुताबिक़ छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और मिज़ोरम में हमें नतीजे नहीं मिले।  राज्यों की समीक्षा के साथ कई कदम उठाये जा रहे हैं।  हमें भरोसा है कि आगे हमारी मेहनत रंग लाएगी।  इस मौके पर मैं तेलंगाना के अपने सभी साथियों को बधाई देना चाहूंगा जिन्होंने बहुत मेहनत की। तेलंगाना के लोगों के जनादेश पर खरा उतरना हमारी जिम्मेदारी है जिसे हम पूरा करेंगे।

खड़गे ने आगे कहा, साथियों, 18वीं लोकसभा के चुनाव हमारे सामने खड़े हैं। इसी संबंध में 19 दिसंबर, 2023 को INDIA गठबंधन की चौथी बैठक दिल्ली में हुई। हम कई दिशाओं में आगे बढ़े हैं। हमें समान विचारों वाले साथियों के साथ समन्वय बनाते हुए ज़्यादा से ज़्यादा सीटों पर जीत हासिल करनी है। हमने पाँच सदस्य वाली एक राष्ट्रीय गठबंधन समिति गठित की है, जो अन्य दलों के साथ गठबंधन की रूप-रेखा तय करेगी। लोकसभा की तैयारियों के मद्देनज़र लगभग 24 राज्यों के साथ समीक्षा बैठक हो चुकी है। हम लोकसभा सीटों पर जल्द ही संयोजक भी नियुक्त करेंगे। 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, कांग्रेस के 138वें स्थापना दिवस पर 28 दिसंबर को नागपुर में हम विशाल रैली करने जा रहे हैं। वहां से एक नया संदेश जाएगा, रैली ऐतिहासिक होगी, मैं ऐसी कामना करता हूं। इसी के साथ पार्टी ने अपनी लड़ाई को और मज़बूत करने के लिए एक बार फिर से जनता से उनका योगदान लेने के लिए उनके दरवाजे पर दस्तक दी है और “Donate for Desh” Crowd funding के अभियान की शुरुआत की है। आप सबसे अनुरोध है कि आप इस मुहिम के बारे में संगठन और लोगों को अवगत कराए।


खड़गे ने कहा, दुनिया में सबसे बड़े लोकतंत्र की हमारी मिसाल संकट में है। पूरा देश देख रहा है कि बीजेपी बिना चर्चा-बहस के अहम विधेयकों को मनमाने ढंग से पास कराने के लिए लोकतंत्र का गला घोंट रही है। संसद को सत्ता पक्ष के प्लेटफार्म के रूप में बदलने का षड्यंत्र चल रहा है। मौजूदा संसद सत्र में अब तक दोनों सदन में हमारे इंडिया गठबंधन के 143 सांसदों का जिस तरह निलंबन किया गया है, वो दुर्भाग्यपूर्ण है। मोदी सरकार विपक्ष की गैर मौजूदगी में तमाम अहम विधेयकों को पारित करा कर संसद की मर्यादा के खिलाफ काम कर रही है।

उन्होंने कहा, चुनाव आयोग जैसी संस्थाओं को अपने कब्जे में करने की कोशिश के साथ सरकार ने संविधान, संसद और लोकतंत्र को भी खतरे में डाल दिया है। संसद सत्र में विपक्ष ने पूरा सहयोग दिया। पर 13 दिसंबर, 2023 को संसद में हुई घटना के बाद विपक्षी सांसद गृह मंत्री को बयान देने और इस मुद्दे पर दोनों सदनों में व्यापक चर्चा की मांग कर रहे थे, जिसे सरकार ने प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया।  सबसे बड़ी चुनौती यह है कि जिन पर विपक्षी सांसदों को संरक्षण देने का जिम्मा है, वैसे संवैधानिक पदों पर बैठे लोग खुद दलगत राजनीति का हिस्सा बन जाति, क्षेत्र और व्यवसाय को ढाल बनाकर राजनीति कर रहे हैं। वह संविधान के तहत मिले दायित्वों को पूरा करने में विफल रहे हैं। पूरा देश इसे देख रहा है। 

खड़गे ने कहा, 138 सालों से हमारा त्याग, बलिदान औऱ संयम का इतिहास रहा है। देशभक्ति हमारे खून और डीएनए में है। अंग्रेजों के राज में भी हमारे पुरखों ने डरना और झुकना नहीं सीखा। सरकारी पक्ष महान नायकों को बदनाम करने से लेकर इतिहास को तोड़ मरोड़ कर अपने स्वार्थों के लिए पिछले 10 सालों से जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहा है। हमें संयत और मर्यादित भाषा में सत्य के सहारे उनका जवाब देना होगा। वही काम हम सदन में भी कर रहे है। हमारी विचारधारा इस बात की इजाजत नहीं देती कि हम उनकी तरह झूठ बोलें, वही काम करें जो आज ये सरकार कर रही है। 

खड़गे ने आगे कहा, दोस्तों, अहंकार, पाप और झूठ की उम्र बहुत कम होती है लेकिन सत्य अजर-अमर होता है। हमारे नायकों ने जो रास्ता हमें सिखाया है, उसी सच्चाई की राह पर चलते हुए, बहुत धैर्य और संयम के साथ अलोकतांत्रिक शक्तियों को परास्त करना है।  मुझे पूरा विश्वास है कि जनता को न्याय दिलाने के सघंर्ष में हम विजय हासिल करेंगे। हमें उन बुनियादी मुद्दों पर हमेशा गौर करना है जिसको यह सरकार किनारे रखने का हर संभव प्रयास कर रही है।


उन्होंने कहा कि देश की संपदा चंद कारोबारियों के हाथों सौंपी जा रही है, बेरोजगारी, महंगाई, आम लोगों के सवालों को आगे रखना है। उन सवालों को हमें नहीं भूलना है, जिन पर आगे की राजनीति प्रभावित होगी। जातिगत जनगणना और महिला आरक्षण अहम मुद्दा रहेगा। हम चाहते है कि महिला आरक्षण तत्काल लागू हो और ओबीसी महिलाओं को आरक्षण के दायरे में लाया जाए। मोदी साहब के दावे और वादों की जमीनी हकीकत के बीच के अंतर को भी जनता को हमें ही बताना होगा। उनके घृणा अभियान और पोलराइजेशन की राजनीति को भी एक्सपोज करना होगा। ऐसे बहुत से सवालों पर आज हमें मंथन कर आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कुछ ठोस रणनीति बनानी होगी। 

अंत में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एक और महत्वपूर्ण बात कार्यसमिति के समक्ष रखना चाहता हूं। पिछले कई महीनों से पार्टी के सभी नेता और कार्यकर्ता एक स्वर में लगातार एक मांग मेरे सामने रखते है कि राहुल गांधी जी से पूर्व से पश्चिम भारत जोड़ो यात्रा करने का आग्रह करें। मैं कार्यसमिति में राहुल जी के समक्ष यह बात रखता हूं और निर्णय आप सभी पर छोड़ता हूं।

कांग्रेस अध्यक्ष के शुरुआती वक्तव्य के बाद कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शुरू हो गई। बैठक में लोकसभा चुनाव की रणनीति और तैयारियों पर चर्चा हुई। इस बीच, सूत्रों का कहना है कि बैठक में भारत जोड़ो यात्रा 2.0 को मंजूरी मिल सकती है। सूत्र ने कहा कि यात्रा जनवरी के दूसरे सप्ताह से पूर्वोत्तर से शुरू हो सकती है और पदयात्रा और बस यात्रा सहित हाइब्रिड मोड में अगले 50 दिनों में गुजरात तक जाएगी। भारत जोड़ो यात्रा 2.0 के अलावा बैठक में दूसरे कई फैसले भी लिए जा सकते हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;