कर्नाटकः पूर्व सीएम कुमारस्वामी लेंगे राजनीति से संन्यास, बोले- राजनीति में जाति का बोलबाला, अब नहीं करना

सरकार जाने के बाद कर्नाटक के पूर्व सीएम एचडी कुमारस्वामी ने राजनीति से दूर जाने की बात कहकर संन्यास लेने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि वे गलती से राजनीति में आ गए थे और गलती से सीएम भी बन गए। उन्होंने कहा कि अब उन्हें राजनीति में नहीं रहना है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने शनिवार को राजनीति से दूर जाने की बात कहकर संन्यास लेने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि वे गलती से राजनीति में आ गए थे और गलती से सीएम भी बन गए। उन्होंने कहा, “भगवान ने उन्हें दो बार मुख्यमंत्री बनने का मौका दिया। मैं किसी को संतुष्ट करने के लिए वहां नहीं था। 14 महीनों में मैंने राज्य के विकास की दिशा में अच्छा काम किया। मैं अपने काम से संतुष्ट हूं।”

राज्य में सरकार जाने के बाद शनिवार को मीडिया से बातचीत में कुमारस्वामी ने कहा, “मैं देख रहा हूं कि आज की राजनीति कहां जा रही है। यह अच्छे लोगों के लिए नहीं है, क्योंकि आज की राजनीति तरह से जाति आधारित हो गई है। अब इसे मेरे परिवार में न लाएं। मैंने पद छोड़ दिया है। अब मुझे शांति से रहने दें। आगे मुझे राजनीति में नहीं रहना है। मैंने सत्ता में रहते हुए अच्छा काम किया। मुझे लोगों के दिल में जगह चाहिए।”

हाल ही में कर्नाटक में कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस और जेडीएस की सरकार गिर गई। दोनों पार्टी के कुछ विधायक सदस्यता से इस्तीफा देकर राज्य के बाहर चले गए, जिससे सरकार अलपमत में आ गई थी। मुख्य विपक्षी दल बीजेपी की मांग पर सदन में बहुमत परीक्षण कराया गया, जिसमें कुमारस्वामी सरकार के पक्ष में 99 और विपक्ष में 105 वोट पड़े, जिसके उनकी सरकार गिर गई। कुमारस्वामी सरकार गिरने के बाद बीजेपी ने बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में वहां सरकार का गठन कर लिया है।

कई दिनों तक चले सियासी ड्रामे के दौरान विधायकों की लुका-छिपी का खेल जमकर चला। कांग्रेस और जेडीएस ने बीजेपी पर सरकार गिराने की साजिश करने और जमकर पैसों का इस्तेमाल करने के आऱोप लगाए। कांग्रेस ने येदियुरप्पा पर खरीद-फरोख्त के जरिये लोकतंत्र को पलटकर सत्ता में पहुंचने के आरोप लगाए हैं।

लोकप्रिय