गिनीज का नाम अब ‘नीतीश बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड्स’ हो जाएगा, पलटने की कला में उनका कोई सानी नहीः पवन खेड़ा

खेड़ा ने कहा कि जैसा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जो लोग पाला बदलते हैं, उनकी दो मजबूरियां होती हैं, या तो ईडी या सीडी। नीतीश ही जानें उनके जाने का क्या कारण है? उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन एकजुट है और नीतीश के कदम से कोई फर्क नहीं पड़ा है।

पवन खेड़ा बोले- पलटने की कला में नीतीश का कोई सानी नही
पवन खेड़ा बोले- पलटने की कला में नीतीश का कोई सानी नही
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में रविवार को नीतीश कुमार के महाठबंधन से नाता तोड़कर बीजेपी से हाथ मिलाकर एनडीए में शामिल होने के ऐलान पर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि ‘गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड्स’, का नाम अब ‘नीतीश बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड्स’ होगा। वह 9वीं बार शपथ ले रहे हैं, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है । उन्होंने कहा कि राज्य के लोग ‘धोखा देने के इस विशेषज्ञ’ और उन्हें अपने इशारों पर नचा रहे लोगों को कभी माफ नहीं करेंगे।

कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने नीतीश कुमार के बार-बार पाला बदलने और नए गठबंधन के साथ सरकार बनाने को लेकर कटाक्ष करते हुए कहा कि लोगों को नीतीश कुमार से पाला बदलने की कला सीखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जैसा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि जो लोग (गठबंधन छोड़कर) जाते हैं, उनकी दो मजबूरियां होती हैं, या तो ईडी या सीडी। नीतीश कुमार ही जाने उनके जाने का क्या कारण है? उन्होंने कहा कि हम इंडिया गठबंधन को एकजुट रखने की कोशिश कर रहे हैं और इस संबंध में प्रयास जारी रहेंगे।

पवन खेड़ा ने कहा कि एक बड़े राष्ट्री य राजनीतिक दल की कई जिम्मेदारियां होती हैं, उन जिम्मेदारियों के चलते हमारा प्रयास रहा, मालूम होते हुए भी, जैसा कि हमारे माननीय अध्यक्ष ने कहा, मालूम होते हुए भी हम चुप रहे, लेकिन पूरा देश देख रहा है, बिहार की जनता देख रही है कि कौन इस दौर में जनता के साथ है और कौन उनके साथ है, जिनकी वजह से अन्यााय हुआ, ये संदेश आज स्पीष्टइ हो गया है। जो चले गए उनकी मजबूरियां रही होंगी। जो चले जाते हैं उनकी दो ही मजबूरियां होती हैं- ईडी होती है या सीडी होती है। तो मैं नहीं जानता उनकी क्याज मजबूरी है।

पवन खेड़ा ने कहा कि पूरा देश सुन रहा है। एक हफ्ते पहले त्या गी जी क्या कहते थे वो भी पूरा देश सुनता था, एक हफ्ते बाद क्या कह रहे हैं वो भी सुन रहा है, एक महीने बाद क्या कहेंगे वो भी सुनेगा, लेकिन हम सबको उनसे ये सीखना चाहिए कि कैसे एकदम पलट जाना, ये एक कला है, जो नीतीश जी से भी कुछ लोगों को सीखनी चाहिए और त्यावगी जी से भी सीखनी चाहिए कि उसको कैसे जस्टिफाई करना है।


बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए पवन खेड़ा ने कहा कि जो हो रहा है, वो क्योंा हो रहा है ये जानना आवश्युक है। ये इसलिए हो रहा है कि 400 पार वाले जो नारे लगाते हैं, वो असलियत जानते हैं । वो भारत जोड़ो न्यायय यात्रा से घबराए भी हुए हैं, उसका असर भी जानते हैं। अगर बीजेपी को 400 लोकसभा सीट जीतने का भरोसा है तो ये सब क्यों करना पड़ा। इससे पता चलता है कि आप सच्चाई जानते हैं और इसीलिए आप ऐसी गतिविधियों में लिप्त हैं। खेड़ा ने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा जहां भी जा रही है, इसका असर वहां हो रहा है। असम में, मुख्यमंत्री यात्रा की सेवा के लिए आए और हमारे प्रचार मंत्री बन गए। जब यात्रा बिहार में प्रवेश कर रही है तो बिहार में यह सब हो रहा है।

खेड़ा ने कहा कि केंद्र में बीजेपी की सरकार है और उसकी घबराहट साफ नजर आ रही है। कहने का अर्थ है कि ये यात्रा 10 साल के अन्या,य को एक्सयपोज कर रही है, उसको सामने ला रही है और कांग्रेस के न्यायय के विजन को सामने ला रही है, जिससे बौखलाहट बड़ी स्पटष्ट है। आप कभी एक बड़ा इवेंट कर देते हैं उसको एक हफ्ते तक भुनाते हैं, फिर कुछ और करेंगे, एक हफ्ता और आप सबको व्यास्त रखेंगे, यात्रा फिर भी चल रही है। ये यात्रा तो मार्च तक चलेगी, अब कितनी सरकारें गिराओगे? कितनी ईडी सीबीआई भेजोगे? करते रहो। ये यात्रा न केवल चल रही है, यात्रा का संदेश पूरे देश में फैल रहा है, लोगों को समझ में आ रहा है कि उनकी जिंदगी में क्याच हुआ। 10 साल लोग टीवी देखते रह गए, बिजी रह गए, पता चला घर की हालत ये हो गई।


इंडिया गठबंधन को लेकर पूछे गए सवाल पर पवन खेड़ा ने कहा कि कोई ख़फ़ा नहीं है, ख़फ़ा होने की कोई बात नहीं होती। गठबंधन में इस तरह की बातें होती हैं, चर्चाएं भी होती हैं। कुछ चर्चाएं सार्वजनिक होती हैं, कुछ चर्चाएं सार्वजनिक नहीं, बंद कमरों में होती हैं, लेकिन अंततोगत्वा एक आम सहमति से निर्णय लिया जाता है और वो सामने आता है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;