झारखंड में जेएमएम-कांग्रेस को पूर्ण बहुमत, जीत पर हेमंत सोरेन ने कहा- लोगों की उम्मीदें टूटने नहीं देंगे

राज्य में जेएमएम-कांग्रेस गठबंधन को 47 सीटों के साथ स्‍पष्‍ट बहुमत मिला है। जबकि बहुमत के लिए 41 सीटों की ही जरूरत है। वहीं, बीजेपी 25 सीटों पर ही सिमट गई है। जबकि आजसू ने 2, जेवीएम ने 3 और अन्‍य ने 4 सीटों पर जीत हासिल किया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

झारखंड विधानसभा चुनाव के नतीजे लगभग साफ हुए चुके हैं। अब तक के आए परिणाम में राज्य में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के नेतृत्व में महागठबंधन की सरकार बनने जा रही है। जेएमएम-कांग्रेस-आरजेडी गठबंधन को 81 सदस्यीय विधानसभा में 47 सीटें मिली हैं, जो बहुमत से भी ज्यादा है। जेएमएम को 30, कांग्रेस को 16 और आरजेडी को एक सीट पर जीत मिली है।

चुनाव परिणाम आने के बाद जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने मीडिया से बात करते हुए इस जीत को जनता का स्पष्ट जनादेश बताया और कहा कि आज के चुनाव परिणाम से उन्हें जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए संकल्प लेना होगा। सोरेन ने कहा कि आज का चुनाव परिणाम राज्य के इतिहास में नया अध्याय है और यह मील का पत्थर साबित होगा। सोरेन ने कहा कि वह लोगों की उम्मीदें टूटने नहीं देंगे।

जबकि दूसरी ओर चुनावों में बीजेपी को करारा झटका लगा है। शुरुआती रुझानों में ही पिछड़ने के बाद धीरे-धीरे बीजेपी पूरी तरह सत्त से बाहर हो गई। बीजेपी की करारी हार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि झारखंड में पार्टी का नेतृत्व कर रहे मुख्यमंत्री रघुवर दास खुद जमशेदपुर पूर्व की सीट से दस हजार से अधिक मतों से चुनाव हार गए। उन्हें किसी औऱ ने नहीं बल्कि बीजेपी से बगावत करने वाले उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी रहे सरयू राय ने हराया है।

नतीजों में करारी हार के बाद रघुवर दास ने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया। उन्‍होंने राज्‍यपाल द्रौपदी मुर्मू से मिलकर अपना इस्‍तीफा उनको सौंप दिया। इससे पहले रघुबर दास ने आज की हार की जिम्मेदारी खुद पर लेते हुए कहा कि यह हार उनकी व्यक्तिगत हार है, यह बीजेपी की हार नहीं है। सीएम रघुवर दास के साथ ही बीजेपी नेता और विधानसभा स्पीकर दिनेश उरांव भी चुनाव में हार गए हैं।

लोकप्रिय