क्या राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को मिली चुनौती, फडणवीस की पत्नी ने जन्मदिन पर मोदी को बताया ‘देश का पिता’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देने की होड़ में बीजेपी नेताओं से चार हाथ आगे बढ़ते हुए महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। उन्होंने पीएम मोदी को बधाई देते हुए उन्हें ‘राष्ट्रपिता’ की उपाधि दे डाली।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

आज पीएम नरेंद्र मोदी का 69वां जन्मदिन है। इस अवसर पर उन्हें देशभर से पक्ष-विपक्ष के नेताओं सहित आम लोगों की बधाइयां मिल रही हैं। ऐसे में पार्टी के सबसे बड़े चेहरे का जन्मदिन हो और बीजेपी नेता पीछे रहें, ऐसा कैसे हो सकता है! तो बीजेपी के तमाम नेताओं की तरफ से पीएम को बधाई देने की होड़ दिन भर जारी रही। इसमें खुद को औरों से अलग हटकर दिखाने की भी होड़ खूब रही और कई नेता नहले पर दहला मारने की कोशिश करते देखे गए।

इस कड़ीं में सबसे चार हाथ आगे बढ़ते हुए महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। उन्होंने प्रधानमंत्री को बधाई देते हुए अपने ट्वीट में उन्हें देश का पिता बता डाला। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “हमारे देश के पिता नरेंद्र मोदी जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं, जो हमें समाज की बेहतरी के लिए अथक परिश्रम करने के लिए प्रेरित करते हैं।”

अमृता फडणवीस के इस ट्वीट के कई मतलब निकाले जा रहे हैं और इसे एक सुनियोजित कदम के तौर पर देखा जा रहा है। दरअसल बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से ही देश से राष्ट्र निर्माताओं के नाम और उनके योगदान को मिटाने की सुनियोजित तरीके से कोशिश हो रही है। संघ और बीजेपी के लिए हमेशा आंख की किरकिरी रहे देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की छवि और योगदान को धुमिल करने में बीजेपी नेता तो एक तरफ खुद पीएम मोदी कई बार सारी हदें पार कर चुके हैं। देश के पहले गृह मंत्री सरदार पटेल को अपनी विचारधारा का साबित करने पर तुली बीजेपी अक्सर उनके और नेहरू के मतभेदों को गलत संदर्भ में पेश कर नेहरू की छवि पर हमला करती रही है।

इसी तरह नेताजी सुभाषचंद्र बोस को लेकर भी बीजेपी की ऐसी ही कोशिश रही है। पीएम मोदी समेत बीजेपी-आरएसएस नेता लगातार नेताजी को कांग्रेस विरोधी बताकर अपने खेमे का साबित करने की कोशिश करते रहे हैं। बीजेपी का यही रवैया बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को लेकर भी है। बाबा साहेब के संविधान का विरोध करने वाला जनसंघ और उसके विरोध में आए दिन उनकी मूर्तिया तोड़ने वाले कट्टरपंथी आज उन्हें नेहरू का विरोधी बताकर अपने खेमे का बताने की जीतोड़ कोशिश कर रहे हैं।

अब महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की पत्नी द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से करीब 15 दिन पहले पीएम मोदी को राष्ट्रपति बताना इसी सुनियोजित साजिश का हिस्सा लगता है। फडणवीस की पत्नी के बयान के पीछे बीजेपी-आरएसएस की वही राष्ट्र नेताओं की छवि धुमिल करने और उनकी निशानियों और नामों को मिटाने का अभियान नजर आता है।

Published: 17 Sep 2019, 6:59 PM
लोकप्रिय