कर्नाटक: 'येदियुरप्पा ने बेटे को अध्यक्ष बनाने के लिए आलाकमान को किया था ब्लैकमेल', BJP विधायक का आरोप

"येदियुरप्पा ने केंद्रीय नेताओं को यह कहकर ब्लैकमेल किया था कि वह 2025 के लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार नहीं करेंगे। उन्होंने आलाकमान से कहा कि वह राज्य भर में नहीं घूमेंगे और खुद को शिवमोग्गा जिले तक ही सीमित रखेंगे।"

"येदियुरप्पा ने केंद्रीय नेताओं को ब्लैकमेल किया था"
"येदियुरप्पा ने केंद्रीय नेताओं को ब्लैकमेल किया था"
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक में बीजेपी के अंदर कलह खत्म होने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। राज्य में बीजेपी के नेता एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं। बीजेपी के वरिष्ठ विधायक बसनगौड़ा पाटिल यतनाल के पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा पर अपने बेटे बी.वाई. विजयेंद्र को अध्यक्ष पद पर बिठाने के लिए आलाकमान को ब्लैकमेल करने का आरोप लगाने के बाद, पार्टी में अंदरूनी कलह और बढ़ गई है।

सोमवार रात आरोप लगाने के बाद विधायक ने कहा, "पता नहीं हाईकमान क्यों डर गया। वे अनुशासन की बात करते हैं। क्या हम गुलाम हैं? क्या हमारे पास ताकत नहीं है? हमें भी जनता का समर्थन हासिल है।"

"येदियुरप्पा ने केंद्रीय नेताओं को यह कहकर ब्लैकमेल किया था कि वह 2025 के लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार नहीं करेंगे। उन्होंने आलाकमान से कहा कि वह राज्य भर में नहीं घूमेंगे और खुद को शिवमोग्गा जिले तक ही सीमित रखेंगे।"


विधायक ने यह भी दावा किया कि इस साल के विधानसभा चुनाव में पूर्व मंत्री वी. सोमन्ना को बलि का बकरा बनाया गया था।

"आश्चर्य की बात है कि विजयेंद्र ने पूर्व मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को हराने के लिए पैसे भेजे थे। अब, विजयेंद्र को बीजेपी का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया है। बोम्मई ने खुद अपनी हार के लिए विजयेंद्र द्वारा फंडिंग की बात साझा की थी। सच्चाई सामने आनी चाहिए कि पिता-पुत्र ने क्या साजिश रची।"

यतनाल ने यहां तक कहा कि शिकारीपुरा में कांग्रेस ने विजयेंद्र के खिलाफ कमजोर उम्मीदवार खड़ा किया था। उन्होंने कहा, "उन्होंने (येदियुरप्पा और विजयेंद्र) पार्टी नेता सोमन्ना के खिलाफ मुख्यमंत्री सिद्दारमैया का समर्थन किया।" उन्होंने उप मुख्यमंत्री डी.के. शिवकुमार और येदियुरप्पा के बीच गुप्त समझौते का भी आरोप लगाया।

पार्टी आलाकमान ने आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है, जबकि विजयेंद्र ने कहा कि वह कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;