कर्नाटकः कांग्रेस विधायक को बंधक बनाए जाने की आशंका के बाद कल तक टला फ्लोर टेस्ट, बिफरे येदियुरप्पा धरने पर बैठे

कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही शुक्रवार तक स्थगित होने की वजह से एचडी कुमारस्वामी सरकार का फ्लोर टेस्ट कल तक के लिए टल गया है। इससे बिफरी बीजेपी ने रात भर विभानसभा के बाहर धरने पर बैठने का ऐलान किया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक में 13 दिनों से जारी सियासी ड्रामे का पटाक्षेप गुरुवार को भी नहीं हो सका, क्योंकि फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया अटकने के बाद विधानसभा की कार्यवाही शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। विधानसभा स्थगित किए जाने से हतप्रभ बीजेपी विधायकों ने इसका विरोध किया। खबर लिखे जाने तक येदियुरप्पा समेत बीजेपी के सभी विधायक सदन में ही डटे हुए हैं और रात भर धरना देने की बात कह रहे हैं।

इससे पहले सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने पार्टी के एक विधायक की फोटो दिखाते हुए उनको बंधक बनाए जाने की आशंका जताते हुए स्पीकर से सुरक्षा की गुहार लगाई। शिवकुमार ने कहा, “8 विधायक साथ सफर कर रहे थे, उनमें से एक श्रीमंत पाटिल की तस्वीर ये है, जो कि स्ट्रेचर पर हैं। कहां हैं बाकी लोग? मैं स्पीकर से अपील करता हूं कि हमारे विधायकों की रक्षा की जाए।” इसके बाद सदन में हंगामा शुरू हो गया।

इस पर कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश ने सूबे के गृह राज्य मंत्री एमबी पाटिल से श्रीमंत पाटिल के परिजन से फौरन संपर्क करने को कहा। उन्होंने मामले में शुक्रवार तक रिपोर्ट मांगते हुए कहा कि यह मामला सामान्य नहीं लग रहा है। स्पीकर ने कहा कि अगर गृह राज्य मंत्री सुरक्षा नहीं मुहैया करा पा रहे हैं, तो वह खुद डीजीपी से बात करेंगे। इसके बाद सदन की कार्यवाही शुक्रवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। बाद में कांग्रेस ने अपने विधायक को बंधक बनाए जाने की पुलिस में शिकायत भी दर्जा करा दी है।

इससे पहले दिन में विधानसभा में विश्वास मत पेश करते हुए मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि विपक्ष को सरकार गिराने की काफी जल्दी है। कुमारस्वामी ने अपने भाषण में आरोप लगाया कि स्पीकर की भूमिका खराब करने की कोशिश की जा रही है। सीएम कुमारस्वामी ने कहा कि आखिर विपक्ष को बहस खत्म कराने की इतनी जल्दी क्यों है? उन्होंने कहा कि सबको साथ मिलकर कर्नाटक के विकास के लिए काम करना चाहिए।

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने विश्वासमत प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा पर जमकर निशाना साधा। डीके शिवकुमार ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री, विपक्ष के नेता होने के नाते देश और अदालत को गुमराह कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस नेता औऱ पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि यहां ऐसे विधायक भी हैं, जो एक दिन में 3-3 पार्टियां बदल रहे हैं। देश का राजनीतिक माहौल दूषित हो गया है।

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वह 101 प्रतिशत आश्वस्त हैं कि सरकार विश्वास मत हारेगी। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी गठबंधन 100 से कम है और उनकी पार्टी के पास 105 विधाय हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनकी हार होगी।

Published: 18 Jul 2019, 9:09 PM
लोकप्रिय