दिल्ली रैली में पीएम मोदी ने जामिया-शाहीन बाग प्रदर्शन को बताया साजिश, क्या फिर किया देश को गुमराह!

पीएम मोदी ने शाहीन बाग समेत अन्य जगहों पर सीएए के खिलाफ जारी प्रदर्शनों पर निशाना साधते हुए कहा कि जामिया, शाहीन बाग का प्रदर्शन संयोग नहीं, प्रयोग है। तिरंगे और संविधान को आगे रखकर साजिशों से ध्यान हटाने की कोशिश हो रही है। इसके पीछे राजनीतिक डिजाइन है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी की एक रैली को संबोधित किया। राजधानी के कड़कड़डूमा इलाके में आयोजित रैली में पीएम मोदी ने जामिया और शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को एक राजनीतिक डिजाइन करार दिया। उन्होंने कहा कि कि चाहे सीलपुर हो या जामिया हो या शाहीन बाग या फिर अन्य जगहों पर चल रहे प्रदर्शन हों, ये कोई संयोग नहीं हैं, बल्कि एक प्रयोग हैं। उन्होंने कहा कि तिरंगे और संविधान को सामने रखकर साजिशों से ध्यान हटाने की कोशिश हो रही है। इसके पीछे एक राजनीतिक डिजाइन है, जो राष्ट्र के सौहार्द को खंडित करने वाला है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि “ये लोग सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान हमारी सेना पर शक कर रहे थे। क्या दिल्ली के नागरिक सत्ता में ऐसे लोगों को चाहते हैं? ये लोग उन लोगों को बचा रहे हैं जो भारत को टुकड़ों में तोड़ना चाहते हैं। जामिया और शाहीन बाग सहित इन सभी विरोधों के पीछे एक राजनीतिक डिजाइन है।” उन्होंने आगे कहा कि अगर यह प्रदर्शन एक कानून के खिलाफ होता, तो सरकार के आश्वासन के बाद यह खत्म हो जाता। लेकिन ‘आप’ और कांग्रेस लोगों को भड़का रहे हैं। संविधान और तिरंगे को सामने रखा जा रहा है और वास्तविक साजिश से ध्यान हटाया जा रहा है।

बीजेपी की रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 70 साल बाद उनकी सरकार में धारा 370 को खत्म कर दिया गया, 70 साल बाद राम जन्मभूमि का फैसला आया, 70 साल बाद करतारपुर साहब कॉरिडोर बनाया गया, 70 साल बाद भारत-बांग्लादेश बॉर्डर विवाद हल हुआ, 70 साल बाद सीएए आया और 50-60 साल बाद वॉर मेमोरियल और पुलिस स्मारक का निर्माण हुआ। पीएम मोदी ने कहा कि दिल्ली के लोगों के वोट देश का भाग्य तय करेंगे। उन्होंने दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार पर 'प्रधानमंत्री आवास योजना' को अवरुद्ध करने का आरोप लगाया।

खास बात ये है किअपनी रैली में पीएम मोदी ने नीतीश कुमार का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि “बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश बाबू कल कह रहे थे कि पटना से आने वाली बसों को दिल्ली में आने की अनुमति देने से मना कर दिया गया है। दिल्ली हो या देश का कोई दूसरा कोना, बिहार के लोग हर क्षेत्र में सर्वोत्तम करते मिलेंगे। लेकिन उनसे भी ऐसी नफरत हो रही है। बिहार के लोगों के लिए, पूर्वांचल के लोगों के लिए ये कैसा पूर्वाग्रह है, जो इस तरह के फैसले करवाता है? बिहार और पूर्वांचल के लोगों के लिए ऐसी दुर्भावना देखकर दिल में दर्द होता है।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia