पांच साल में पहली बार मीडिया के समाने आए पीएम मोदी, लेकिन राहुल गांधी के इन सवालों का नहीं दिया जवाब

राहुल गांधी ने कहा, ‘मैं भी पीएम मोदी से सवाल पूछाना चाहता हुं कि आपने राफेल पर जवाब क्यों नहीं दिया। मैं पूछना चाहता हूं कि अनिल अंबानी को आम आदमी का पैसा क्यों दिया। आपने मेरे साथ डिबेट क्यों नहीं की?’

फोटो: @INC
फोटो: @INC

नवजीवन डेस्क

आम चुनाव के प्रचार की समाप्ति पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस अध्यक्ष को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब पत्रकारों ने बताया कि बीजेपी भी मीडिया से बात कर रही है तो उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'वेरी गुड, प्रधानमंत्री का पहला प्रेस कॉन्फ्रेंस चुनाव परिणाम से चार पांच दिन पहले होता है। यह अजीब है कि प्रधानमंत्री अमित शाह के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। सुना है दरवाजा बंद कर दिया गया है और कुछ पत्रकारों को घुसने नहीं दिया जा रहा है। बंद कमरे में प्रेस कॉन्फ्रेंस हो रही है।'

राहुल गांधी ने कहा, 'मैं भी पीएम मोदी से सवाल पूछाना चाहता हुं कि आपने राफेल पर जवाब क्यों नहीं दिया। मैं पूछना चाहता हूं कि अनिल अंबानी को आम आदमी का पैसा क्यों दिया। आपने मेरे साथ डिबेट क्यों नहीं की?'

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'मोदी जी की जो फिलॉसफी है वह हिंसा की है गांधी जी की नहीं है। बाकी जनता 23 मई को जो डिसाइड करेगी उसके आधार पर काम करेंगे। उससे पहले मैं इस बारे में कुछ नहीं बोलूंगा।'

राहुल गांधी ने चुनावी आयोग पर सवाल उठाते हुए कहा कि आयोग ने बायस्ड तरीके से काम किया है। नरेंद्र मोदी जो कुछ चाहते हैं बोल देते हैं और उसी बात के लिए किसी और को टोका जाता है, पक्षपात तो जरूर दिख रहा है।

उन्होंने कहा, 'मुझे लगाता है कि यह पूरा चुनाव का शेड्यूल नरेंद्र मोदी जी की कैंपेनिंग के लिए बनाया गया है। हमारा काम है कि जनता के मुद्दों को उठाऊं। उनके पास अनलिमिटेड पैसा, टीवी चैनल सब हैं और हमारे पास केवल सच्चाई है।'

उन्होंने कहा, 'यह चुनाव राफेल के भ्रष्टाचार, रोजगार, किसानों की हालत, इकॉनमी, जीएसटी और नोटबंदी पर हुआ और इस पर जवाब ही नहीं दिया। नरेंद्र मोदी बताते हैं आम कैसे खाते हैं, कुर्ता काट देते हैं। आप हमसे हर सवाल पूछते हैं कि न्याय योजना का पैसा कहां से आएगा। मोदी जी से पूछा गया कि बालाकोट के बारे में बताए और मोदी जी ने कहा कि मौसम खराब है, रेडार नहीं पकड़ पाएगा।'

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'नरेंद्र मोदी जी के माता-पिता का आदर करता हूं और प्रधानमंत्री पद का आदर करता हूं और मैं उनको नफरत के बदले में प्यार लौटाऊंगा। अगर उनके माता पिता ने कुछ गलत भी किया फिर भी मैं उनके माता पिता के बारे में नहीं बोलूंगा लेकिन वह हमारे बारे में गंदा बोलना चाहते हैं तो उनपर है। 2014 में लोकसभा में हमारे नंबर कम थे लेकिन कॉन्ग्रेस ने विपक्ष का भूमिका ए ग्रेड से निभाई। हमने नरेंद्र मोदी को घेर लिया और 2014 में वह जो थे, उनके विचार को खत्म कर दिया। उन्होंने कहा था कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ूंगा लेकिन आज कहीं भी बोल दीजिए चौकीदार तो जवाब मिलता है चोर है।'

एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि 23 मई को पता चल जाएगा कि आखिर जनता क्या चाहती है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विपक्षी महागठबंधन पर कहा कि मैंने पहले ही स्पष्ट तौर पर कहा है कि जनता 23 मई को फैसला करेगी और उसी के आधार पर हम काम करेंगे।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में आगे राहुल गांधी ने कहा कि मैं इस बात का सम्मान करता हूं कि बीेसपी-एसपी ने साथ में मिलकर यूपी में चुनाव लड़ने का फैसला किया। कांग्रेस पार्टी के दृष्टिकोण से मुझे यूपी में कांग्रेस की विचारधारा को पुश करना है। मैंने ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रियंका गांधी को पहले स्पष्ट कर दिया था कि हमारी पहली प्राथमिकता बीजेपी की हार सुनिश्चित करना है।

राहुल गांधी ने कहा कि हमारी दूसरी प्राथमिकता राज्य में कांग्रेस की विचारधारा को पुश करना है और तीसरी प्राथमिकता विधानसभा चुनाव में जीतना है। वैचारिक रूप से हम सभी एक ही हैं। मुझे नहीं लगता कि मायावती जी, मुलायम सिंह जी, ममता जी, चंद्रबाबू नायडू जी नरेंद्र मोदी सरकार को समर्थन दे रहे हैं।

Published: 17 May 2019, 6:18 PM
लोकप्रिय