प्राण प्रतिष्ठा को RSS-BJP ने चुनावी फायदे के लिए बनाया राजनीतिक कार्यक्रम, कांग्रेस नहीं होगी शामिलः राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि शीर्ष हिंदू धर्म गुरू भी समारोह पर सवाल उठा रहे हैं। यह मोदी का कार्यक्रम है। बीजेपी-आरएसएस धार्मिक कार्यक्रमों को हमेशा चुनावी बना देते हैं। हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं और हमारे लिए सभी धर्म एक समान हैं।

राहुल गांधी बोले- प्राण प्रतिष्ठा को RSS-BJP ने  बनाया राजनीतिक कार्यक्रम
राहुल गांधी बोले- प्राण प्रतिष्ठा को RSS-BJP ने बनाया राजनीतिक कार्यक्रम
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के मंगलवार को नागालैंड पहुंचने पर राहुल गांधी ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाला प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को आरएसएस-बीजेपी ने एक चुनावी और राजनीतिक समारोह बना दिया है, इसीलिए कांग्रेस ने इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का फैसला किया है।

राहुल गांधी ने प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि कांग्रेस लिए 22 जनवरी के समारोह में शामिल होना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि शीर्ष हिंदू धार्मिक नेता भी समारोह पर सवाल उठा रहे हैं। इसे राजनीति और आगामी लोकसभा चुनाव के साथ जोड़ दिया गया है। यह मोदी का कार्यक्रम है। बीजेपी-आरएसएस धार्मिक कार्यक्रमों को हमेशा चुनावी बना देते हैं। हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं और हमारे लिए सभी धर्म एक समान हैं।

इंडिया ब्लॉक की विचारधारा के बारे में पूछे जाने पर राहुल गांधी ने कहा, “हम विभाजित भारत नहीं चाहते। हम बिना नफरत वाला अखंड भारत चाहते हैं। दलित एवं अन्य पिछड़ा वर्ग की भी उपेक्षा नहीं की जाएगी। शासन में उनकी भूमिका को उचित महत्व मिलेगा।” साथ ही उन्होंने कहा कि इंडिया ब्लॉक के साझेदारों के बीच सीट बंटवारे पर बातचीत अच्छी तरीके से चल रही है।

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में, कांग्रेस नेता ने गठबंधन तैयार हो रहा है और यह 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी से मुकाबला करने के लिए अच्छी तरह से काम करेगा। उन्होंने कहा, “इंडिया ब्लॉक की स्थिति बहुत अच्छी है। मेरा मानना है कि सब कुछ आसानी से सुलझ जाएगा। कुछ मुद्दे हैं लेकिन ज्यादातर जगहों पर समस्या नहीं है। मीडिया कुछ मुद्दों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रहा है। इंडिया गुट के साझेदारों के बीच परस्पर सम्मान है।''


लंबे समय से लंबित नागा राजनीतिक मुद्दे के बारे में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नौ साल पहले कुछ प्रतिबद्धताएं दी थीं लेकिन वे अभी तक पूरी नहीं हुई हैं। राहुल गांधी ने कहा कि अगर आगामी चुनावों में इंडिया ब्लॉक सत्ता में आता है, तो वह ठोस बातचीत और आपसी समझ के जरिए नागा राजनीतिक मुद्दे को सुलझाने की कोशिश करेगा। उन्होंने कहा, "हम नागा राजनीतिक मुद्दे का उपयुक्त समाधान खोजने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

बता दें कि 14 जनवरी, रविवार को हिंसाग्रस्त मणिपुर से राहुल गांधी के नेतृत्व में शुरू हुई कांग्रेस की 66 दिवसीय भारत जोड़ो न्याय यात्रा 20 या 21 मार्च को मुंबई में समाप्त होगी। आज भारत जोड़ो न्याय यात्रा के नागालैंड की राजधानी कोहिमा में पहुंचने पर राहुल गांधी का स्थानीय लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। राहुल गांधी ने कहा कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा विचारधारा की यात्रा है। न्याय यात्रा सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक न्याय के लिए है और इसमें जाति जनगणना जैसे कई मुद्दे भी हैं।

इसे भी पढ़ेंः 'देश में नफरत और मुहब्बत के बीच लड़ाई, धर्म को बनाया जा रहा राजनीतिक हथियार', नागालैंड में बोले राहुल गांंधी

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;