शरद यादव बिखरे हुए जनता परिवार को फिर से करेंगे एकजुट, 20 मार्च को अपनी पार्टी का RJD में करेंगे विलय

यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि विलय के बाद आरजेडी उन्हें राज्यसभा भेज सकती है। दरअसल शरद यादव को हाइकोर्ट ने दिल्ली में आवंटित सरकारी बंगला खाली करने का आदेश दे दिया है। इसके बाद ही ये कयास लगाए जा रहे हैं कि शरद यादव आरजेडी से राज्यसभा जा सकते हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव अपनी पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल का विलय 20 मार्च को औपचारिक रूप से राष्ट्रीय जनता दल के साथ करेंगे। वर्तमान राजनीतिक स्थिति को देखते हुए ये फैसला लिया गया है ताकि बिखरे हुए जनता परिवार को फिर एकजुट किया जा सके। जेडीयू से अलग होकर उन्होंने 2018 में अपनी इस पार्टी का गठन किया था।

हालांकि अभी यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि विलय के बाद आरजेडी उन्हें राज्यसभा भेज सकती है। दरअसल शरद यादव को हाइकोर्ट ने दिल्ली में उन्हें आवंटित सरकारी बंगला खाली करने का आदेश दे दिया है। इसके बाद ही ये कयास लगाए जा रहे हैं कि शरद यादव आरजेडी से राज्यसभा जा सकते हैं।


दरअसल बिहार में जुलाई महीने में राज्यसभा की पांच सीटें खाली होंगी, जिनमें से दो सीट बीजेपी, एक सीट जेडीयू के पास जाएगी। दो सीटें आरजेडी के पास आएगी और शरद यादव के राज्यसभा का कार्यकाल जुलाई 2022 में ही समाप्त हो रहा है।

पिछले साल अगस्त माह में लालू यादव ने नई दिल्ली में शरद यादव से मुलाकात की थी, जिसके बाद कई तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं। हालांकि मीडिया से बात करने के दौरान उन्होंने कहा था कि शरद यादव का स्वास्थ्य ठीक नहीं रहने और उनके सांसद न रहने से अब संसद सूनी हो गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia