यूपी: 'BJP सरकार में मारे गए कई निर्दोष, हिरासत में हुई सबसे ज्यादा मौतें', पूर्व सीएम अखिलेश का आरोप

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठाये हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार में कई निर्दोष लोग मारे गए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठाये हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार में कई निर्दोष लोग मारे गए हैं।अखिलेश यादव ने मुजफ्फरनगर में गुरुवार को कश्यप सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने भाजपा और योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री कहते रहते हैं कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति अच्छी है लेकिन, मैं कई उदाहरण दे सकता हूं कि कैसे बीजेपी सरकार के तहत निर्दोष लोग मारे गए। अखिलेश यादव ने उदाहरण देते हुए कहा कि एक युवक को पुलिस ने उठा लिया और पीट-पीट कर मार डाला। यूपी में भाजपा सरकार में हिरासत में सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। उन्होंने यूपी पुलिस पर भी सवाल उठाए हैं।


अखिलेश यादव ने कहा कि, "अभी समाजवादी पार्टी का गठबंधन होने जा रहा है। सपा सभी वर्गों सभी दलों को जोड़ने का काम कर रही है। दूसरे दलों की सरकार ने सपने दिखाकर आपका वोट लिया। सरकार में आने के बाद आपके हक को छीना है। आपके नेताओं को मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया गया, लेकिन झूठ के अलावा आपको कुछ नहीं मिला। अगर अब यह सरकार में आए तो आपसे सब कुछ छीन लेंगे। भाजपा के लोगों ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी कर देंगे। किसान भाइयों बताओ आय दोगुनी हुई। आय तो बढ़ी नहीं महंगाई जरूर बढ़ गई। वादा किया था कि हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज में चलेंगे। लेकिन, पेट्रोल डीजल के इतने दाम बढ़ाए कि मोटरसाइकिल पर चलना भारी हो गया।"

उन्होंने कहा कि, "यह तीन कानून आपके खेतों पर पूंजीपतियों से कब्जा करा देंगे। हम किसानों के साथ हैं। तीनों कृषि कानूनों का विरोध करते रहेंगे। किसानों के साथ नौजवानों के सामने भी संकट खड़ा है। न रोजगार है और न ही खाने-कमाने के साधन। हमें लगा कि बाबा मुख्यमंत्री इसलिए लैपटॉप नहीं बांट रहे क्योंकि वह चलाना नहीं जानते। नौजवानों को 70 लाख नौकरी देने का वादा घोषणा पत्र में किया था। किसी को नौकरी नहीं मिली। जब बाबा मुख्यमंत्री से पूछा गया कि कहां है नौकरी, तो मुख्यमंत्री कहते हैं कि हमारे पास नौकरी तो बहुत हैं लेकिन हमारे युवाओं में टैलेंट नहीं है।"



उन्होंने कहा कि, "कोरोना में गरीबों की जान गई। बीजेपी सरकार समय पर गरीबों को ऑक्सीजन दे देती तो सड़कों पर गरीब की मौत न होती। सरकार ने गरीबों को अनाथ छोड़ दिया था। अगर उस वक्त कुछ काम आया तो समाजवादी सरकार में शुरू की गई एम्बुलेंस। सरकार कानून व्यवस्था का राग अलापती है। अब पुलिस की निर्दोष लोगों की हत्या कर रही है। कानपुर के व्यापारी को गोरखपुर में पुलिस जांच के नाम पर मार डालती है। इसके लिए कौन दोषी है। भाजपा सरकार दोषी है। नेशनल ह्यूमन राइट्स कमीशन का डाटा मुख्यमंत्री देख लें। सबसे ज्यादा प्रताड़ना उत्तर प्रदेश में है। मानवाधिकार हनन सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में है। पुलिस को मजबूत किया समाजवादी ने। सबसे ज्यादा प्रमोशन सपा सरकार में हुए है। 100 नम्बर की सुविधा समाजवादी पार्टी ने दी। आप गाड़ियों के टायर नहीं बदलवा पाए। संख्या नहीं बढ़ पाए। बस 100 नम्बर को 112 कर दिया।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia