उपचुनावों में कांग्रेस का जबर्दस्त प्रदर्शन, कुल 6 में से तीन सीट पर भारी जीत, बंगाल में सागरदिघी से वापसी

छह विधासभा सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। सत्ता में होने और तमाम संसाधनों के बावजूद बीजेपी केवल अरुणाचल प्रदेश की लुमला सीट जीत सकी है। वहीं झारखंड की रामगढ़ सीट आजसू ने जीती है। महाराष्ट्र की पिंपरी सीट पर अभी लड़ाई जारी है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पूर्वोत्तर भारत के त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना के साथ आज 5 राज्यों की 6 विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के मतों की भी गिनती हुई। इन नतीजों में कांग्रेस ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया है, जबकि बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। विधानसभा उपचुनावों में महाराष्ट्र की कस्बा पेठ और चिंचवाड़, पश्चिम बंगाल की सागरदिघी, झारखंड की रामगढ़, तमिलनाडु की इस्ट इरोड, अरुणाचल प्रदेश की लुमला सीट पर उपचुनाव हुआ था। इन पांच राज्यों की छह सीटों में से कांग्रेस ने 3 सीट पर बड़ी जीत दर्ज की है। जबकि बीजेपी केवल एक सीट जीत सकी है और एक पर आगे है, जिसमें भी अरुणाचल प्रदेश की लुमला सीट पर किसी और के नहीं खड़ा होने से उसे निर्विरोध जीत मिली है।

महाराष्ट्र में बीजेपी के गढ़ पुणे में कांग्रेस का तूफान

महाराष्ट्र के पुणे की कस्बापेठ विधानसभा सीट पर 27 साल से काबिज बीजेपी को कांग्रेस ने हराकर बाहर कर दिया है। यहां से कांग्रेस-महाविकास अघाड़ी (एमवीए) के उम्मीदवार रवींद्र धांगेकर ने बड़ी जीत हासिल की है। उन्होंने अपने बीजेपी के प्रतिद्वंद्वी हेमंत रसाने को हराया, जिन्होंने चुनाव में हार मान ली है। धांगेकर की जीत को बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। यह सीट लगभग तीन दशकों से बीजेपी की सुरक्षित सीट रही है। कस्बापेठ सीट पर उपचुनाव बीजेपी के मौजूदा विधायक मुक्ता जे. तिलक के निधन के कारण कराया गया है।

तमिलनाडु में बड़े अंतर से कांग्रेस की जीत

तमिलनाडु की पूर्वी इरोड विधानसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार ई.वी.के.एस. एलंगोवन ने एआईएडीएमके के केएस थेन्नारास्रु को बड़े अंतर से हराकर जीत दर्ज की है। इस सीट पर एलंगोवन के बेटे और कांग्रेस विधायक ई थिरुमहान एवरा के असमय निधन के कारण उपचुनाव कराना पड़ा। एलंगोवन ने कहा कि चुनाव में भारी बढ़त के लिए श्रेय डीएमके सरकार के सुशासन को जाता है। उन्होंने कहा कि चुनाव में डीएमके मंत्रियों का योगदान सराहनीय था। साथ ही उन्होंने कहा कि वह अपने बेटे ई. थिरुमहान एवरा के अधूरे काम को पूरा करेंगे।


पश्चिम बंगाल में कांग्रेस का खुला खाता

पश्चिम बंगाल की सागरदिघी विधानसभा सीट पर जीत दर्ज कर कांग्रेस ने बंगाल में अपना खाता खोल लिया है। यहां कांग्रेस के बायरन बिस्वास ने टीएमसी के देबाशीष बनर्जी और बीजेपी के दिलीप साहा को कड़े मुकाबले में हराया। सागरदिघी में कांउपचुनाव टीएमसी विधायक सुब्रत साहा के निधन के चलते कराया गया है। कांग्रेस के बायरन बिस्वास ने टीएमसी के देबाशीष बनर्जी को करारी मात दी है। इस जीत के साथ कांग्रेस बंगाल में दो साल बाद अपना खाता खोलने में कामयाब रही है। 2021 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को राज्य में एक भी सीट नहीं मिली थी।

बीजेपी की एक सीट पर जीत

6 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को एक सीट पर जीत मिली है। बीजेपी ने अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा पर स्थित तवांग जिले की लुमला सीट पर निर्विरोध जीत हासिल की है। यहां उपचुनाव बीजेपी के विधायक जंबे ताशी के निधन के कारण हुआ। बीजेपी ने जंबे ताशी की पत्नी शेरिंग हामु को चुनाव में उतारा था, जिनके खिलाफ किसी ने अपना प्रत्याशी नहीं उतारा था, जिसके चलते वह एकमात्र प्रत्याशी थीं। ऐसे में उन्होंने निर्विरोध विजयी घोषित किया गया। वहीं बीजेपी महाराष्ट्र की पिंपरी में आगे है। यहां बीजेपी उम्मीदवार अश्विनी एल. जगताप एनसीपी के विट्ठल 'नाना' केट और शिवसेना (यूबीटी) के बागी राहुल कलाटे से आगे हैं। वहीं, झारखंड की रामगढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव में आजसू की सुनीता चौधरी ने जीत दर्ज की है। हालांकि चुनाव परिणाम की आधिकारिक घोषणा अभी बाकी है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 02 Mar 2023, 4:29 PM
;