प्याज को लेकर निर्मला सीतारमण के बेतुके बयान पर राहुल गांधी का तंज, कहा- वित्त मंत्री को अपना काम तक नहीं पता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के प्याज की आसमान छूती कीमतों पर दिए गए बुतुके बयान पर राहुल गांधी ने करारा तंज कसते हुए कहा कि असलियत यह है कि उन्हें कुछ पता ही नहीं है कि क्या चल रहा है। बुनियादी बात ये है कि वह पूरी तरह से अयोग्य हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में आसमान छूती प्याज की कीमतों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के दिए गए बेहद बुतुके बयान पर काफी विवाद हो रहा है। सोशल मीडिया से लेकर मीडिया चैनलों पर भी सीतारमण के दंभ से भरे बयान पर चर्चा हो रही है। इस बीच वित्त मंत्री के इस गैर जिम्मेदाराना बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी करारा तंज कसा है। राहुल गांधी ने सीतारमण के प्याज नहीं खाने वाले बयान पर कहा कि किसी ने वित्त मंत्री से नहीं पूछा कि वह क्या खाती हैं। उन्होंने कहा, “वित्त मंत्री का काम भारत को यह बताना नहीं है कि वह क्या खाती हैं।”

दरअसल बुधवार को एक सांसद ने निर्मला सीतारमण से प्याज की आसमान छूती कीमतों को लेकर सवाल किया था, जिस पर उन्होंने बेहद दंभ भरे लहजे में संसद में कहा था कि वह ऐसे परिवार से आती हैं, जिसमें प्याज और लहसुन नहीं खाया जाता। वित्त मंत्री के इसी बयान पर तंज कसते हुए राहुल गांधी ने कहा, “आप देखें कि स्थिति कितनी हास्यास्पद है। देश की वित्त मंत्री से प्याज की कीमत के बारे में पूछा जाता है और वह जवाब देती हैं कि वो लहसुन या प्याज नहीं खातीं। वित्त मंत्री का काम भारत को यह बताना नहीं है कि वह क्या खाती हैं। असलियत ये है कि उन्हें कुछ भी पता नहीं है कि क्या चल रहा है। मूल रूप से वह अयोग्य हैं।”

केरल दौरे पर गए राहुल गांधी दरअसल मुक्कम में देश की वर्तमान आर्थित स्थिति पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आज भारत में अर्थव्यवस्था की स्थिति के बारे में हर कोई जानता है। यूपीए द्वारा 10-15 सालों में बनायी गई भारत की सबसे बड़ी ताकत को तबाह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यूपीए ने योग्य लोगों को अर्थव्यवस्था की जिम्मेदारी देने में विश्वास किया।

इस दौरान राहुल गांधी ने देश पर छायी आर्थिक मंदी के लिए पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि मोदी और शाह अपनी ही कल्पनाओं में खोए रहते हैं। उनका बाहरी दुनिया से कोई संपर्क नहीं है। वे अपनी ही दुनिया में रहते हैं और कल्पनाओं में जीते हैं, इसीलिए आज देश संकट में है।

राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने नोटबंदी के बारे में किसी दुकानदार से नहीं पूछा, किसानों या किसी और से नहीं पूछा। यही काम जीएसटी के साथ किया। उन्होंने भारत की सबसे बड़ी ताकत इसकी अर्थव्यवस्था को तबाह तबाह कर दिया है। उन्होंने कहा कि वे देश की जनता की सुनते तो आज ये संकट नहीं छाया होता। उन्होंने कहा कि मोदी के शासन करने का तरीका है लोगों का ध्यान सच्चाई से भटकाना। कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी पार्टी धर्म के नाम पर भेदभाव करने वाले हर शख्स के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि हम उस भारत में विश्वास रखते हैं जो सबका है, सभी समुदाय और धर्मों का है।

Published: 5 Dec 2019, 11:31 PM
लोकप्रिय
next