तेलंगाना कांग्रेस विधायकों की बैठक, नए नेता के चयन की संभावना

बैठक के लिए राज्य भर से सभी 64 विधायक गाचीबाउली के एला होटल पहुंच गए हैं। कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार, जो एआईसीसी पर्यवेक्षक हैं, अन्य पर्यवेक्षक दीपा दास मुंशी, डॉ अजॉय कुमार, केजे जॉर्ज, के मुरलीधरन भी बैठक में भाग ले रहे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

तेलंगाना में कांग्रेस ने चुनाव में प्रचंड जीत हासिल की है। अब बारी सरकार बनाने की है। इसके लिए कांग्रेस पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक एक होटल में शुरू हुई जहां विधायक दल का नेता चुना जाना है।

बैठक के लिए राज्य भर से सभी 64 विधायक गाचीबाउली के एला होटल पहुंच गए हैं। कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार, जो एआईसीसी पर्यवेक्षक हैं, अन्य पर्यवेक्षक दीपा दास मुंशी, डॉ अजॉय कुमार, केजे जॉर्ज, के मुरलीधरन और एआईसीसी के तेलंगाना प्रभारी महासचिव माणिकराव ठाकरे के साथ कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में भाग ले रहे हैं।


एआईसीसी पर्यवेक्षक विधायकों की राय लेंगे और अंतिम निर्णय के लिए इसे केंद्रीय नेतृत्व को बताएंगे। पार्टी सूत्रों का कहना है कि बैठक में एक प्रस्ताव पारित होने की भी संभावना है, जिसमें पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व से नेता का नाम बताने का अनुरोध किया जाएगा।

तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के अध्यक्ष ए. रेवंत रेड्डी इस पद के लिए सबसे आगे हैं और कई नवनिर्वाचित विधायकों ने खुले तौर पर उनका समर्थन किया है। मल्लू भट्टी विक्रमार्क, जो भंग विधानसभा में सीएलपी नेता थे और टीपीसीसी के पूर्व अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी दौड़ में अन्य नेता हैं।


119 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस पार्टी को 64 सीटें मिलीं हैं। पार्टी ने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। कांग्रेस नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने रविवार रात राजभवन में राज्यपाल तमिलिसाई साउंडराजन से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया।

ठाकरे और रेवंत रेड्डी के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को नवनिर्वाचित पार्टी विधायकों की एक सूची सौंपी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;