पश्चिम उत्तर प्रदेश में बीजेपी के लिए खतरे की घंटी! गुर्जरों को रिझाने की जगह नाराज कर गए योगी

नोएडा की दादरी विधानसभा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आज (बुधवार) का दौरा उल्टा पड़ता नज़र आ रहा है। योगी के आने से पहले ही यहां के गुर्जर समाज और राजपूत समाज मे तनातानी के माहौल पैदा हो गया था।

योगी आदित्यनाथ/ फोटोः getty images
योगी आदित्यनाथ/ फोटोः getty images
user

जावेद छौलसी

नोएडा की दादरी विधानसभा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आज (बुधवार) का दौरा उल्टा पड़ता नज़र आ रहा है। योगी के आने से पहले ही यहां के गुर्जर समाज और राजपूत समाज मे तनातानी के माहौल पैदा हो गया था। एक तरफ जहां गुर्जर समाज राजा मिहिर भोज को गुर्जरों का राजा मानने की बात कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ राजपूत समाज उनको राजपूत होने का दावा कर रहे हैं। देखते ही देखते यह विवाद इतना अधिक बढ़ गया कि प्रशासन को इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा। इलाके में कई जगह योगी के पोस्टर और बैनरों को आग के हवाले कर दिया गया। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार दादरी पुलिस ने इस मामले में अभी तक दो एफआईआर दर्ज की है और दो लोगों को गिरफ्तार करने का दावा भी किया है।

अभी तक मिली जानकारी के अनुसार दोनों ही एफआईआर गुर्जर समाज के लोगों के खिलाफ की गई है। एक एफआईआर में जहा गुर्जर बहुल गाँव चिठहरा के श्याम सिंह भाटी के खिलाफ की गई है वहीं दूसरी एफआईआर में विपिन नागर, मोहित नागर, करतार सिंह और लोकेश भाटी को नामजाद किया गया है। चिठहरा के एक ग्रामीण ने बताया कि श्याम सिंह भाटी को गिरफ्तार करने बड़ी संख्या में पुलिस आई थी। उनका कहना था कि पुलिस की संख्या सौ से भी अधिक होगी। जिस समय पुलिस की गाड़ियां आईं उस वक्त गाँव में दहशत का माहौल पैदा हो गया था। शुरू में तो लोग समझ ही नहीं पाए कि आखिर माजरा क्या है ?


दूसरी तरफ विपिन नागर और मोहित नागर की भी गिरफ्तारी की बात सामने आई है। पुलिस जहां यह दावा कर रही है कि इन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, वहीं लोगों का कहना है कि इन लोगों ने आत्मसमपर्ण किया है। बरहाल इन लोगों की गिरफ्तारी से गुर्जर समाज में काफी गुस्सा देखा जा रहा है । योगी के आने से पहले ही गुर्जर इलाको में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। कोई अनहोनी ना हो इसके लिए चप्पे चप्पे पर सख्ती कर दी गई।

गुर्जर सामाज में गुस्से की एक बड़ी वजह यह रही कि योगी के आने से कुछ समय पहले ही सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ । जिसमें राजा मिहिर भोज की उस प्रतिमा को दिखाया गया जिसका अनावरण योगी करने वाले हैं। प्रतिमा पर जो पटल लगाया गया था पहले उस पर मिहिर भोज के आगे गुर्जर लिखा हुआ था। लेकिन फिर गुर्जर शब्द को टेप से ढकते हुए एक व्यक्ति का वीडियो वायरल हुआ । हालांकि वायरल वीडियो की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश मे गुर्जर समाज का समर्थन हासिल करने के लिए योगी पिछले कई दिनों से दौरे पर हैं। सुबह पहले वे गाज़ियाबाद से ग्रेटर नोएडा हेलीकॉप्टर से आए। सीएम योगी ने दादरी और हापुड़ में भी सभा को संबोधित किया। दरअसल, नोएडा, हापुड, गाज़ियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, कैराना, बिजनौर, संभल समेत कई ज़िलो की तकरीबन 25 विधानसभा सीटों पर गुर्जर समुदाय निर्णायक साबित होता है। 2017 के विधानसभा चुनाव मे इसी इलाके से बीजेपी के पांच गुर्जर समुदाय के लोगों ने जीत हासिल की थी। इनमें दादरी के विधायक तेजपाल नागर के साथ साथ नंदकिशोर गुर्जर, प्रदीप चौधरी, अवतार सिंह भाडाना, सोमेंद्र तोमर शामिल थे।

योगी जिस मकसद से दादरी का दौरा करना चाह रहे थे उसमे उन्हें कामयाबी मिलती नज़र नहीं आ रही। यहां का गुर्जर समाज उनके दौरे से काफी खफा नज़र आ रहा है। हालांकि बीजेपी विधायक तेजपाल नागर ने कई बार लोगों को मनाने के लिए मिहिर भोज को गुर्जर सम्राट बताया है, लेकिन उनकी बातों का गुर्जर समाज पर कोई प्रभाव नही पड़ रहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia