उत्तर प्रदेश: आजमगढ़ उपचुनाव के लिए जुबानी जंग तेज, CM योगी ने सपा पर साधा निशाना, आजम का पलटवार

आजमगढ़ में चुनाव प्रचार खत्म होने में महज दो दिन बाकी हैं, ऐसे में हर घंटे चुनाव लड़ने वाली पार्टियों के बीच जुबानी जंग तेज होती जा रही है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को समाजवादी पार्टी पर आजमगढ़ के लोगों को 'धोखा' देने का आरोप लगाया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

आजमगढ़ में चुनाव प्रचार खत्म होने में महज दो दिन बाकी हैं, ऐसे में हर घंटे चुनाव लड़ने वाली पार्टियों के बीच जुबानी जंग तेज होती जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को समाजवादी पार्टी पर आजमगढ़ के लोगों को 'धोखा' देने का आरोप लगाया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, "आपने दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को लोकसभा भेजा है, लेकिन उन्होंने आपको बिना कुछ कहे छोड़ दिया। क्या वे आपके पास कोविड महामारी के दौरान आए थे, हमने आजमगढ़ को एक नई पहचान दी है। आप लंबे समय तक एक ऐसी पहचान के साथ रहे हैं, जिसने आपको कुछ भी नहीं दिया। अगर आप भाजपा को वोट देने का वादा करते हैं तो मैं विकास का वादा करता हूं।"


आजमगढ़ में राजभरों की एक बड़ी आबादी है, जिन्हें ज्यादातर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के प्रति वफादार माना जाता है, जिसके प्रमुख ओम प्रकाश राजभर यहां सपा के लिए काम कर रहे हैं।

यूपी भाजपा प्रमुख और जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, "आजमगढ़ वह स्थान हुआ करता था जहां ऋषि दुर्वासा ने प्रार्थना की थी। आजमगढ़ ने मुख्यमंत्री दिए होंगे, इसने लोकसभा सांसदों को भेजा होगा, लेकिन जिले की पहचान को गहरा आघात लगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में आजमगढ़ आर्यमगढ़ बनने की राह पर है।"

सपा नेता मोहम्मद आजम खां ने अपने प्रचार अभियान में भाजपा पर जमकर निशाना साधा।
आजम ने कहा, "मैं देख रहा हूं कि पिछले तीन-चार दिनों में देश में क्या हो रहा है। अग्निपथ योजना के विरोध में ट्रेनों और बसों में आग लगा दी गई है और पुलिस वैन, सरकारी संपत्ति को राज्यों में तोड़ा जा रहा है। मैं यह देखने के लिए इंतजार कर रहा हूं कि सरकार क्या कार्रवाई करेगी। अपराधियों के कितने पोस्टर लगाए जाएंगे और क्या उनसे नुकसान की वसूली की जाएगी, सरकार कमजोरों को निशाना बना रही है।"


आजम खां ने कहा कि उन्होंने अत्याचार और अन्याय को धैर्य के साथ सहा है।
उन्होंने कहा, "मैं 27 महीने से जेल में था। अगर मैं बदला लेने की सोचता हूं, तो इससे हमारे समुदाय को और नुकसान होगा, इसलिए मैंने सब कुछ सहन करने का फैसला किया है।" उन्होंने लोगों से सपा उम्मीदवार धर्मेद्र यादव को वोट देने की अपील की।

बसपा प्रत्याशी शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने भी सपा पर निशाना साधा और कहा, "समाजवादी पार्टी चाहती है कि अल्पसंख्यक समुदाय उन्हें वोट करे लेकिन हमारे साथ सत्ता साझा नहीं करती। सपा नहीं चाहती कि कोई मुस्लिम नेता उभरे, वे चाहते हैं कि हम उनके सेवक बनें।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia