बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष का ‘निजी सहायक’ 1 करोड़ रुपये के साथ गिरफ्तार

पुलिस ने कहा कि चट्टोपाध्याय ने खुद को बीजेपी की राज्य इकाई के प्रमुख दिलीप घोष का ‘निजी सहायक’ बताया है। बाद में चट्टोपाध्याय और शॉ को निचली अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें चार दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

आईएएनएस

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की पश्चिम बंगाल इकाई के प्रमुख दिलीप घोष का 'निजी सहायक' बताने वाले एक व्यक्ति और उसके साथी को आसनसोल स्टेशन पर सोमवार को एक करोड़ रुपए के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। रेलवे पुलिस के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

रेलवे पुलिस ने दोनों को बैग के साथ उस वक्त गिरफ्तार किया, जब वे स्टेशन से कोलकाता के लिए ट्रेन पकड़ने वाले थे। गौतम चट्टोपाध्याय और लक्ष्मीकांत शॉ आसनसोल स्टेशन पर एक विशाल बैग के साथ संदिग्ध रूप से चल रहे थे, जिसके बाद रेलवे पुलिस ने दोनों को पूछताछ के लिए रोक लिया।

जब बैग की तलाशी ली गई तो उसमें से एक करोड़ रुपए बरामद किए गए। रुपयों के बारे में सही जानकारी नहीं देने के बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पत्रकारों के सवालों के जवाब में चट्टोपाध्याय ने कहा कि सारे रुपए बीजेपी के हैं, जिन्हें कोलकाता ले जाया जा रहा था।

पुलिस ने कहा कि चट्टोपाध्याय ने खुद को बीजेपी की राज्य इकाई के प्रमुख दिलीप घोष का 'निजी सहायक' बताया है। बाद में चट्टोपाध्याय और शॉ को निचली अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें चार दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

लोकप्रिय