पश्चिम बंगाल : बेनतीजा रहा राज्यपाल की शांति बैठक, सभी दलों ने एक दूसरे पर मढ़े आरोप

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने राज्य में शांति कायम करने के मकसद से चार राजनीतिक दलों की आज बैठक बुलाई। यह बैठक बेनतीजा रहा।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी

आईएएनएस

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी द्वारा हिंसा से त्रस्त राज्य में सौहार्दपूर्ण हालात बनाने के लिए चार राजनीतिक दलों की बुलाई गई बैठक गुरुवार को बेनतीजा रही। राजभवन से बाहर निकलते हुए राज्य बीजेपी के उपाध्यक्ष जय प्रकाश मजूमदार ने कहा कि राज्यपाल पांच सुझावों के साथ आए थे लेकिन सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधि ने कहा कि वह मुख्यमंत्री और पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी से बात करने से पहले इसका समर्थन नहीं कर सकते।

मजूमदार ने त्रिपाठी के पहल की सराहना की और कहा कि उनकी पार्टी किसी भी कदम का समर्थन करेगी जो जारी हिंसा को रोके और शांति लाए। हालांकि, उन्होंने कहा कि राज्यपाल द्वारा बैठक बुलाए जाने से ही यह साबित होता है कि राज्य में शांति नहीं है।

तृणमूल के महासचिव पार्थ चटर्जी ने मीडिया से बातचीत नहीं की। पार्थ चटर्जी बैठक में शामिल हुए थे। सीपीएम के पोलित ब्यूरो सदस्य मोहम्मद सलीम ने आरोप लगाया कि तृणमूल और बीजेपी राज्य का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहीं हैं।

यह कदम त्रिपाठी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से सोमवार को मिलने और राज्य के हालात के बारे में उन्हें अवगत कराने के बाद आया है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने त्रिपाठी पर चुनाव बाद हिंसा में मारे गए लोगों की संख्या पर गलत बयानी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि हाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा में मारे गए दस लोगों में से आठ उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के सदस्य थे।

लोकप्रिय