व्हाट्सऐप में बड़ा बदलाव, अगर आप किसी 'ग्रुप्स' के एडमिन हैं तो ये खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए!

व्हाट्सऐप ने एक ऐसा टूल बनाया है जो एडमिन्स को यह तय करने की क्षमता देता है कि कौन ग्रुप में शामिल हो सकता है, जिससे एडिमिन्स को उनके ग्रुप प्राइवेसी पर अधिक नियंत्रण मिलता है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने व्हाट्सऐप पर 'ग्रुप्स' के लिए दो नए अपडेट की घोषणा की है, जिसमें एडमिन्स के लिए नए कंट्रोल और आसानी से ग्रुप्स को सामान्य रूप से देखना शामिल है। नए फीचर्स जो आने वाले हफ्तों में वैश्विक स्तर पर शुरू होंगे, व्हाट्सऐप द्वारा कम्युनिटी लॉन्च करने के कुछ ही महीनों बाद आए हैं, एक ऐसे फीचर जो बड़े, अधिक संरचित डिस्कशन ग्रुप्स की पेशकश करते हैं।

कंपनी ने कहा, "पिछले साल, हमने लोगों को व्हाट्सऐप पर अपने ग्रुप्स से अधिक लाभ उठाने में मदद करने के लिए कम्युनिटीस की शुरुआत की थी। लॉन्च करने के बाद से हम एडमिन्स और यूजर्स के लिए समान रूप से और भी अधिक टूल बनाना चाहते हैं। आज हम कुछ नए बदलाव लाने के लिए उत्साहित हैं जो हमने एडमिन के लिए ग्रुप्स को अधिक नेविगेट करने में आसान बनाने के लिए किए हैं।"


इसने एक ऐसा टूल बनाया है जो एडमिन्स को यह तय करने की क्षमता देता है कि कौन ग्रुप में शामिल हो सकता है, जिससे एडिमिन्स को उनके ग्रुप प्राइवेसी पर अधिक नियंत्रण मिलता है।
कंपनी ने कहा, "जब कोई एडमिन अपने ग्रुप के इनवाइट लिंक को शेयर करने या अपने ग्रुप को कम्युनिटी में ज्वाइन करने के लिए चुनता है, तो उनका अब इस पर ज्यादा कंट्रोल होता है कि कौन इसमें शामिल हो सकता है।"

कम्युनिटीज और उनके बड़े ग्रुप्स के विकास के साथ, तकनीकी दिग्गज ने कहा कि यह जानना आसान बनाना चाहता है कि आपके और किसी के साथ कौन से ग्रुप समान हैं। "चाहे आप किसी ऐसे ग्रुप का नाम याद रखने का प्रयास कर रहे हों जिसे आप जानते हैं कि आप किसी के साथ साझा करते हैं या आप उन ग्रुप्स को देखना चाहते हैं जिनमें आप दोनों शामिल हैं, अब आप अपने ग्रुप्स को सामान्य रूप से देखने के लिए किसी संपर्क का नाम आसानी से खोज सकते हैं।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;