लंबी खुशहाल जिदंगी के लिए हृदय को स्वस्थ रखना महत्वपूर्ण, ये चीजें आपके दिल को रखेंगी हेल्दी

ऐसे कई कारक हैं जो आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं, जिनमें सही तेल को शामिल करना, नमक का सेवन सही मात्रा में करना और नियमित एक्सरसाइज करना आदि स्वस्थ हृदय को बनाए रखने में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

हेल्दी लाइफस्टाइल और लंबी खुशहाल जिदंगी के लिए अपने हृदय को स्वस्थ रखना महत्वपूर्ण है। ऐसे कई कारक हैं जो आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं, जिनमें सही तेल को शामिल करना, नमक का सेवन सही मात्रा में करना और नियमित एक्सरसाइज करना आदि स्वस्थ हृदय को बनाए रखने में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है।

स्वस्थ हृदय को लेकर लोग अक्सर अफवाहों और गलत जानकारी के जाल में घिर जाते हैं, जैसे कि उन्हें क्या चुनना चाहिए तेल, घी, मक्खन या फिर किस प्रकार के व्यायाम वास्तव में उनके हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं?

एसएल रहेजा हॉस्पिटल के कंसल्टेंट-इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. हरेश जी मेहता ने आईएएनएस को बताया, "जब तेलों की बात आती है, तो कई लोगों ने रिफाइंड तेलों पर स्विच करने के लाभों के बारे में बताया है। हालांकि, रिसर्च से पता चलता है कि घी या मक्खन का उपयोग करने की सदियों पुरानी परंपरा उतनी हानिकारक नहीं हो सकती है जितना पहले माना जाता था। ये प्राकृतिक वसा, कम मात्रा में सेवन करने पर, महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रदान कर सकते हैं जो हृदय स्वास्थ्य का समर्थन करते हैं।"


जबकि, रिफाइंड तेल सबसे अच्छा है, विशेषज्ञों का सुझाव है कि लोगों को ऐसे तेल चुनना चाहिए जो एमयूएफए और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर हों जैसे राइस ब्रान ऑयल, कैनोला ऑयल और ऑलिव ऑयल।

इसके अलावा, दिल को स्वस्थ रखने के लिए लोगों को दिल के अनुकूल भोजन खाने की सलाह दी जाती है, जिसमें कॉम्प्लेक्स कार्ब्स, हेल्दी प्रोटीन और फैट्स जैसे बाजरा, ओट्स, ब्राउन राइस, दाल, अंडे, चिकन, मछली जैसे कम वसा वाले चिकन शामिल होते हैं, क्योंकि उनमें ओमेगा 3 फैटी एसिड की मात्रा अधिक होती है।

हालांकि, स्वस्थ हृदय के लिए फ्राइड फूड्स, सिंपल शुगर और हाई कैलोरी वाले मीठे पेय पदार्थों का सेवन कम करने की सलाह दी जाती है। किस प्रकार के नमक का उपयोग किया जाए, इस पर भी ध्यान देना जरूरी है। 

मेहता ने कहा, "कई लोग कम सोडियम वाले विकल्पों की ओर जाते हैं, हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि आयोडीन युक्त या समुद्री नमक का मध्यम सेवन आवश्यक ट्रेस मिनरल्स प्रदान कर सकता है जो हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं।"

डॉक्टरों के अनुसार, नमक के छिपे हुए स्रोत जो प्रमुख चिंता का कारण हैं, वे हैं बेकिंग सोडा, अचार, पापड़ और पैकेज फूड्स, क्योंकि इनमें सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है।


जहां तक एक्सरसाइज की बात है, सर्वोत्तम दृष्टिकोण में कार्डियोवस्कुलर वर्कआउट और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग का संयोजन शामिल है। मैक्स हेल्थकेयर की चीफ डाइटिशियन रितिका समद्दर ने आईएएनएस को बताया, "हृदय रोग के रोकथाम में व्यायाम महत्वपूर्ण है, व्यक्ति को सक्रिय जीवनशैली अपनानी चाहिए। व्यायाम के दोनों रूपों को शामिल करें जो एरोबिक और एनारोबिक रूप हैं, जैसे चलना, योग, तैराकी, साइकिल चलाना आदि।"

तेज चलना, तैराकी या साइकिल चलाना जैसी गतिविधियों में शामिल होने से हृदय की कार्यक्षमता में सुधार होता है और फिटनेस को बढ़ावा मिलता है। इसके अलावा, समद्दर ने सलाह दी कि लोगों को बहुत भारी और जोरदार व्यायाम से बचना चाहिए, खासकर अगर किसी को हृदय संबंधी समस्याओं का इतिहास रहा हो।


एक्सपर्ट्स द्वारा रोजाना लगभग 30-45 मिनट व्यायाम, साथ ही मेडिटेशन या योग करने की भी सलाह दी जाती है क्योंकि यह तनाव को कम करने में मदद करता है, जो हृदय रोग का एक प्रमुख कारक है। डॉक्टरों के अनुसार, स्वस्थ हृदय के लिए लोगों द्वारा चुने जाने वाले विकल्पों की बारीक समझ की आवश्यकता है। रिफाइंड ऑयल, घी, मक्खन, नमक और व्यायाम सभी एक आवश्यक भूमिका निभाते हैं। प्रोफेशनल गाइडेंस हृदय संबंधी स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;