‘फेकूगिरी’ : राजदीप का ऐलान-ए-जंग और दुबकना अर्णब का

पिक्चर अभी बाकी है। नीली चिड़िया चैन से बैठने को तैयार नहीं...कभी इधर चहक रही है तो कभी उधर...इसी फुदकन में नीली चिड़िया अपनी चोंच में एक तस्वीर लेकर आयी और बताया कि देखो...इसमें तो फेकू भी है...

फोटो : नवजीवन
फोटो : नवजीवन
user

नवजीवन डेस्क

जिन पाठकों ने इस किस्से को ठीक से नहीं समझा है, तो समझ लीजिए कम शब्दों में...कि वरिष्ठ पत्रकार और टीवी शख्सियत राजदीप सरदेसाई ने एक वीडियो दिखाकर लोगों को बताया कि दूसरे वरिष्ठ पत्रकार (अब इस पर बहस शुरु हो गयी है) और टीवी एंकर अर्णब गोस्वामी ने उनके साथ घटित घटना को अपना बनाकर सुना डाला, वह भी पूरी नाटकीयता के साथ। इस पर प्रतिक्रियाओं का दौर चला और मंगलवार रात होते-होते बात आई – गई होगी।

वैसे मंगलवार को क्या क्या हुआ था इस खबर में पढ़ सकते हैं।

किस्सा एक वीडियो का : बयानों के ही ‘फेकू’ नहीं, तजुर्बे के चोरों की ‘ फेकूगीरी ’

तो इस तरह मंगलवार की रात गुजर गई और बुधवार सुबह ट्विटर की ब्लू बर्ड ने एक तस्वीर उछाली। ये चिड़िया रिपब्लिक टीवी (अर्णब गोस्वामी इस चैनल के एडिटर-इन-चीफ और सह मालिक हैं) की स्पेशल प्रोजेक्ट की एडिटर प्रेमा श्रीदेवी का संदेश लेकर आयी। प्रेमा श्रीदेवी के बारे में जान लीजिए कि इन पर बीसीसीएल (ये कंपनी टाइम्स ऑफ इंडिया और दूसरे अखबार और टाइम्स नाउ और दूसरे चैनल संचालित करती है।) ने आपराधिक मुकदमा ठोका था। बीसीसीएल ने प्रेमा श्रीदेवी और अर्णब गोस्वामी पर आरोप लगाया था कि इन दोनों ने टाइम्स नाउ में रहते हुए कुछ खबरें और वीडियो चोरी किए और उन्हें अपने चैनल, रिपब्लिक टीवी के लांच के वक्त दिखाया। बहरहाल प्रेमा श्रीदेवी ने एक फोटो जारी की जिसमें अर्णब गोस्वामी भी नजर आ रहे हैं।

सोशल मीडिया जगत हिलकोरें लेने लगा। वाह, वाह, मजा आ गया...अब बताओ राजदीप सरदेसाई....लेकिन कुछ ही देर बाद अर्णब और राजदीप दोनों के साथ एनडीटीवी में काम कर चुकी माया मीरचंदानी ने इस फोटो की असलियत बयान कर दी।

माया मीरचंदानी के इस ट्वीट पर उधर से फिर सन्नाटा हो गया। हां, कुछ कारसेवक (सोशल मीडिया वाले) सक्रिय रहे। कुछ कुछ बोले, लेकिन दम नजर नहीं आया। हां, राजदीप सरदेसाई ने भी इस पर टिप्पणी करते हुए कुछ और नई जानकारी जोड़ी।

अब तक अल्बर्ट पिंटो को गुस्सा भी आ चुका था कि, हैं...मैंने तो मामला रात में ही खत्म कर दिया था, यह अब भी नहीं मान रहे। तुरत ऐलान-ए-जंग हो गया...माफी मांगो वर्ना छोड़ेंगे नहीं:

जैसा कि होता है, इस ट्वीट पर खूब हो-हल्ला मचा। दोनों तरफ के कारसेवक फुल फार्म में आ चुके थे। पिंटो का गुस्सा और तेज हो गया। इस बार यलगार का नारा लगा दिया गया। कहा कि अगर अर्णब की कहानी झूठी है तो क्या अर्णब इस्तीफे देंगे?

लेकिन जब किसी ने यही सवाल राजदीप से कर लिया तो उनका जवाब थोड़ा अटपटा सा लगा।

इस बीच जाने माने वकील प्रशांत भूषण भी मैदान में कूद पड़े। कहा कि अच्छा, अर्णब पहले मोदी की आलोचना कर चुके हैं! और दंगों के लिए मोदी को जिम्मेदार भी बता चुके हैं

इस पर राजदीप ने सिर्फ ये कहा कि मेरे लब खामोश हैं:

इस बीच बात प्राइम टाइम पर पहुंच गयी है। जिस टीवी चैनल में राजदीप सरदेसाई सलाहकार संपादक हैं, उसने ऐलान किया है कि वह इसी मुद्दे पर बहस करेगा। चुनौती साफ नजर आ रही है, कि सोशल मीडिया के कवच से निकलकर सामने आओ और आँख में आँख डालकर बात करो। प्रोमो लाइन यही है, क्या अर्णब माफी मांगेगे:

आज के दौर के टीवी की परंपरा है दोनों तरफ के पक्षों को बुलाया जाए जब भी किसी मुद्दे पर बात हो। लेकिन अर्णब पक्ष से संभवत: कोई आने को तैयार ही नहीं है। यह हम नहीं कह रहे, यह तो इंडिया टुडे टीवी वाले कह रहे हैं:

इस सारे झगड़े पर एक हैशटैग ट्रेंड करने लगा... #ArnabDidIt इस हैशटैग में तो जाने क्या क्या लिखा-कहा जाने लगा...एक बानगी यहां देख लीजिए...

तो आप भी देखें, और हम भी देखेंगे कि रात 10 बजे किसके पक्ष में कौन सामने आता है, किसके पास क्या तर्क है। लेकिन पत्रकारीय शुचिता का यह कौन सा रूप है माधव? अर्जुन के पास ट्विटर होता तो कृष्ण से यह प्रश्न वह अवश्य करते।

Published: 20 Sep 2017, 6:38 PM
लोकप्रिय
next