खेल की खबरें: ODI सीरीज के लिए WI महिला टीम में इस खिलाड़ी की वापसी और कोरोना के कारण स्थगित हुआ ये फुटबॉल मैच

वेस्ट इंडीज बल्लेबाज एफी फ्लेचर जोहान्सबर्ग के वांडर्स स्टेडियम में शुरू हो रही सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेंगी और डियन सुपर लीग (आईएसएल) में बेंगलुरु एफसी के खिलाफ एटीके मोहन बागान का मैच कोविड-19 के कारण शनिवार को यहां शुरू होने से कुछ घंटे पहले स्थगित कर दिया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

वनडे सीरीज के लिए वेस्टइंडीज महिला टीम में एफी फ्लेचर की वापसी

लेग स्पिनर और दाएं हाथ की वेस्ट इंडीज बल्लेबाज एफी फ्लेचर 25 जनवरी से सात फरवरी तक जोहान्सबर्ग के वांडर्स स्टेडियम में शुरू हो रही सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेंगी। क्रिकेट वेस्टइंडीज (सीडब्ल्यूआई) द्वारा शनिवार (आईएसटी) को घोषित सीरीज के लिए 18 सदस्यीय टीम में तीन अनकैप्ड खिलाड़ी भी हैं, जिसमें बायें हाथ के रूढ़िवादी गेंदबाज केसिया शुल्त्स, दाएं हाथ की बल्लेबाज मैंडी मंगरू और दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज जेनिलिया ग्लासगो को शामिल किया गया है। तीनों वेस्टइंडीज महिला ए टीम की सदस्य थीं, जो पिछले साल पाकिस्तान महिला ए टीम के खिलाफ खेली थीं।

महिला क्रिकेट के लिए सीडब्ल्यूआई के मुख्य चयनकर्ता, एन ब्राउन-जॉन ने कहा, "दक्षिण अफ्रीका सीरीज सही समय पर होने जा रही है, जब टीम आगामी विश्व कप की तैयारी करने में लगी है। टीम विश्व कप के लिए पिछले एक साल से तैयारी कर रही है और खिलाड़ी अपनी फार्म को वापस लाने में जी तोड़ से मेहनत कर रहे हैं। अनुभवी एफी फ्लेचर की वापसी से टीम के गेंदबाजी क्रम को मजबूती मिलेगी। फ्लेचर, कियाना जोसेफ की अनुपस्थिति में टीम में आई हैं क्योंकि कियाना चोट के कारण सीरीज से बाहर हैं।" ब्राउन-जॉन ने कहा, "वेस्टइंडीज टीम 16 जनवरी को दक्षिण अफ्रीका पहुंचेगी, जहां वे अभ्यास और चार मैचों की एकदिवसीय सीरीज खेलेंगी।" टीम : स्टेफनी टेलर (कप्तान), अनीसा मोहम्मद (वीसी), आलिया एलेने, शेमेन कैंपबेल, शमिलिया कॉनेल, डिएंड्रा डॉटिन, एफी फ्लेचर, चेरी एन फ्रेचर, जेनिलिया ग्लासगो, चिनेल हेनरी, किसिया नाइट, मैंडी मैंगरू, हेले मैथ्यूज, चेडियन नेशन, करिश्मा रामहरैक, केसिया शुल्त्स, शकीरा सेलमैन, रशदा विलियम्स।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

ISL 2021-22 : बेंगलुरु FC के खिलाफ एटीके मोहन बागान का मैच स्थगित

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में बेंगलुरु एफसी के खिलाफ एटीके मोहन बागान का मैच कोविड-19 के कारण शनिवार को यहां शुरू होने से कुछ घंटे पहले स्थगित कर दिया गया। स्थगित होने वाला यह एटीकेएमबी का लगातार दूसरा मैच था। इससे पहले, ओडिशा एफसी के खिलाफ उनका मैच स्थगित कर दिया गया था क्योंकि टीम का एक खिलाड़ी कोविड से संक्रमित पाया गया था। आईएसएल ने एक बयान में कहा, "हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) ने एटीके मोहन बागान और बेंगलुरू एफसी के बीच शनिवार को पीजेएन स्टेडियम, फतोर्डा में खेले जाने वाले मैच को स्थगित करने की घोषणा की।" उन्होंने कहा, "प्रत्येक मैच का मूल्यांकन कई कारकों पर किया जाता है, जिसमें एक टीम को मैदान में उतारने के लिए क्लबों की क्षमता, क्लबों में कोविड ब्रेकआउट की गंभीरता और क्लब कर्मियों की सुरक्षित रूप से मैच की तैयारी करने और खेलने की क्षमता शामिल है। सभी कर्मियों का स्वास्थ्य और सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है और हम उसी अनुसार आगे भी काम करेंगे।"यहां बायो बबल में चार एटीकेएमबी खिलाड़ियों को कोविड संक्रमित होने की सूचना है क्योंकि जुआन फेरांडो-कोच वाली टीम ने एक सप्ताह से प्रशिक्षण नहीं किया था और वे बायो बबल में हैं। रिपोर्ट के अनुसार, एटीकेएमबी शिविर के कम से कम चार खिलाड़ियों का टेस्ट पॉजिटिव आया है। खिलाड़ी पिछले छह दिनों से आइसोलेशन में हैं और अपने प्रशिक्षण सत्र से चूक गए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

भारत की 5 तेज गेंदबाजों की रणनीति को लेकर पूर्व क्रिकेटर ने उठाए सवाल

भारतीय टीम ने पिछले कुछ समय से सभी तरह की परिस्थितियों में पांच मुख्य गेंदबाजों के साथ खेलने की रणनीति जारी रखी है। कई बार टीम को इसका फायदा मिला है लेकिन कुछ मौकों पर नुकसान भी हुआ है। कुछ ऐसा ही केपटाउन टेस्ट में भी देखने को मिला, जिसे हारकर भारत ने सीरीज गंवा दी। सीरीज के हार के बाद सवाल उठ रहे हैं और इसी क्रम में पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा का नाम भी शामिल हो गया है। चोपड़ा ने खराब बल्लेबाजी के बावजूद लगातार पांच गेंदबाज खिलाने की रणनीति पर कायम रहने को लेकर सवाल उठाया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया की हार के कारणों पर विचार करते हुए, चोपड़ा ने पांच गेंदबाजों को खिलाने की भारत की ज़िद की आलोचना की। अपने यूट्यूब चैनल पर साझा किए गए वीडियो में उन्होंने कहा भारतीय टीम ने पिछले कुछ समय से सभी तरह की परिस्थितियों में पांच मुख्य गेंदबाजों के साथ खेलने की रणनीति जारी रखी है। कई बार टीम को इसका फायदा मिला है लेकिन कुछ मौकों पर नुकसान भी हुआ है। कुछ ऐसा ही केपटाउन टेस्ट में भी देखने को मिला, जिसे हारकर भारत ने सीरीज गंवा दी। सीरीज के हार के बाद सवाल उठ रहे हैं और इसी क्रम में पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा का नाम भी शामिल हो गया है। चोपड़ा ने खराब बल्लेबाजी के बावजूद लगातार पांच गेंदबाज खिलाने की रणनीति पर कायम रहने को लेकर सवाल उठाया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया की हार के कारणों पर विचार करते हुए, चोपड़ा ने पांच गेंदबाजों को खिलाने की भारत की ज़िद की आलोचना की।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

'कैमरून ग्रीन शतक बनाने के लिए अपनी मानसिकता को और मजबूत करें'

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग का मानना है कि ऑलराउंडर कैमरून ग्रीन शुक्रवार शाम यहां बेलेरिव ओवल में पांचवें एशेज टेस्ट में शतक बनाने से चूक गए। उन्होंने 109 गेंदों में 74 रनों की पारी खेली और आउट हो गए। ग्रीन ने आखिरकार सिडनी में ड्रा हुए चौथे टेस्ट की दूसरी पारी में भी 74 रन की पारी खेली थी और यहां चल रहे टेस्ट की पहली पारी में 74 रन बनाकर आउट हुए। ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे दिन यहां इंग्लैंड के खिलाफ 75.4 ओवर में 303 रनों पर पारी को समाप्त किया। पोंटिंग ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू के हवाले से कहा, "ग्रीन की सेंचुरी का सभी खिलाड़ी इंतजार कर रहे थे, लेकिन वे एक बार फिर अपना शतक बनाने से चूक गए।"

उन्होंने कहा, "यह ग्रीन के लिए एक बड़ी चुनौती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि पिछले हफ्ते या दो टेस्ट मैच में पहले क्या हुआ था, यह आपके पास अगले मैच में शतक लगाने की मानसिकता को और मजबूत करने के बारे में है।" जबकि ग्रीन पहले चार एशेज टेस्ट में ज्यादा रन बनाने में सफल नहीं हुए, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट और हरफनमौला बेन स्टोक्स दो-दो बार ग्रीन की गेंदबाजी का शिकार हुए थे। शेफील्ड शील्ड में 50 से अधिक औसत के साथ ग्रीन ने पहले तीन टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ ऑफ में खेल, सीरीज की अपनी पहली आठ गेंदों में वे 0 और 2 रन में दो बार आउट हुए। वह अपनी पहली पांच पारियों में 14.25 की औसत से सिर्फ 57 रन ही बना सके।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

ISL 2021-22: ओडिशा एफसी ने किनो गार्सिया को मुख्य कोच नियुक्त किया

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) फ्रेंचाइजी ओडिशा एफसी ने शनिवार को कीनो गार्सिया को अंतरिम मुख्य कोच नियुक्त किया। गार्सिया ने किको रामिरेज की जगह ली, जिन्हें मैंचों में अच्छे परिणाम देने में विफल रहने के बाद क्लब द्वारा बर्खास्त कर दिया गया था। ओडिशा फिलहाल 10 मैचों में 13 अंकों के साथ अंक तालिका में नौवें स्थान पर है। क्लब ने एक मीडिया विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा, "ओडिशा एफसी अंतरिम मुख्य कोच के रूप में कीनो गार्सिया की नियुक्ति को लेकर पुष्टि की है।"

किनो के पास यूईएफए प्रो लाइसेंस है। उन्हें खिलाड़ियों को तैयार और खेलों में आगे बढ़ाने का काफी अनुभव है और वे वेलेंसिया सीएफ की युवा टीमों के पूर्व कोच भी रहे हैं। उन्होंने कई महत्वपूर्ण खिलाड़ियों को प्रशिक्षित किया है जो वर्तमान में स्पेन में प्रथम श्रेणी में खेल रहे हैं और सियोल में वालेंसिया सीएफ अकादमी का भी निर्देशन किया है। उन्होंने कई सीजन के लिए स्पेन में महिला फुटबॉल के पहले डिवीजन में लेवेंटे यूडी को भी कोचिंग दी। वह स्पेनिश फेडरेशन के लिए काम करने वाले वालेंसिया में कोच के निदेशक भी हैं।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia