खेल: टेस्ट रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया ने हासिल किया नंबर-1 का ताज और धोनी को दोस्त ने लगाया 15 करोड़ का चूना

टेस्ट रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को पछाड़कर नंबर-1 का ताज हासिल किया और महेंद्र सिंह धोनी ने अरका स्पोर्ट्स मैनेजमेंट नामक कंपनी पर 15 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

टेस्ट रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को पछाड़कर हासिल किया नंबर-1 का ताज

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को टेस्ट रैकिंग में पछाड़कर नंबर वन टीम का खिताब फिर से हासिल कर लिया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत की कड़ी टक्कर के बाद 1-1 से सीरीज ड्रा होने के पश्चात आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2023 के विजेताओं ने नंबर 1 स्थान हासिल किया। पाकिस्तान के खिलाफ घरेलू सरजमीं पर ऑस्ट्रेलिया का शानदार प्रदर्शन उनके शीर्ष पर पहुंचने में महत्वपूर्ण साबित हुआ। डब्ल्यूटीसी फाइनल की जीत के बाद वे कुछ समय के लिए इस स्थान पर बने रहे। इस अपडेट से पहले में भारत और ऑस्ट्रेलिया 118 रेटिंग अंकों के साथ बराबरी पर थे। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में चल रहे तीसरे टेस्ट के साथ ऑस्ट्रेलिया पाकिस्तान के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला में 2-0 से आगे है।

पैट कमिंस के नेतृत्व में पिछले वर्ष में ऑस्ट्रेलिया का सफर शानदार रहा है। अपनी आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल जीत के साथ उन्होंने सभी प्रारूपों में अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हुए विश्व कप 2023 भी जीता। ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच चल रहा तीसरा टेस्ट भारत और इंग्लैंड के बीच आगामी पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के साथ, जो 25 जनवरी से हैदराबाद में शुरू होने वाली है, टेस्ट टीम रैंकिंग में और अधिक उत्साह और संभावित बदलाव का वादा करती है।

टेस्ट में सलामी बल्लेबाजी बनने के लिए तैयार हैं स्मिथ

ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने पुष्टि की है कि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में पाकिस्तान के खिलाफ चल रहे टेस्ट के अंत में डेविड वार्नर के प्रारूप से संन्यास लेने के बाद वह टेस्ट में सलामी बल्लेबाजी करने में रुचि लेंगे। स्टीव स्मिथ टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के लिए सलामी बल्लेबाज़ी की चर्चा में शामिल होने वाला नवीनतम नाम है, जिसमें कैमरून ग्रीन, मार्कस हैरिस, कैमरून बैनक्रॉफ्ट और मैट रेनशॉ जैसे बल्लेबाज वार्नर की भूमिका निभाने के संभावित उम्मीदवार हैं।

स्टीव स्मिथ ने कहा, "मैं वास्तव में शीर्ष पर जाकर खुश हूं। अगर वे ऐसा करना चाहते हैं तो मैं काफी उत्सुक हूं। मुझे यकीन है कि चयनकर्ता, मुख्य कोच एंड्रयू मैकडोनाल्ड्स और कप्तान पैट कमिंस के बीच इस मुद्दे को लेकर बातचीत होगी।" ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज साइमन कैटिच का मानना है कि वार्नर के बाद की दुनिया में स्मिथ द्वारा ऑस्ट्रेलिया के अगले टेस्ट ओपनर बनने की होड़ में खुद को चुनौती देने में कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। जब आप स्टीव स्मिथ के टेस्ट करियर और उनके नंबरों को देखते हैं, तो वह तीसरे और चौथे नंबर पर अच्छा खेलते हैं। दोनों स्थानों पर उनका औसत 60 से अधिक है।"

कैटिच ने एसईएन रेडियो पर कहा, "अगर स्टीव स्मिथ इसे एक चुनौती के रूप में देखते हैं जिसे वह लेना चाहते हैं, तो मुझे इससे कोई समस्या नहीं है। वह शायद सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं है लेकिन वो जल्द अपनी लय हासिल कर लेंगे।'' उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया के चयनकर्ता 17 जनवरी से एडिलेड में वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू होने वाली दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए टीम का चयन करने से पहले इस बात पर निर्णय लेंगे कि वार्नर की जगह कौन लेगा।


यूनाइटेड कप: जर्मनी के लिए अलेक्जेंडर ज्वेरेव ने बराबरी की

केन रोजवेल एरेना में जर्मनी और ग्रीस के बीच रोमांचक यूनाइटेड कप क्वार्टर फाइनल मुकाबले में, अलेक्जेंडर ज्वेरेव ने मारिया सकारी की 6-0, 6-3 की शानदार जीत के बाद स्टेफानोस सितसिपास पर महत्वपूर्ण जीत हासिल की और जर्मनी के लिए मुकाबला बराबर कर दिया। भारी भीड़ का सामना करते हुए, ज्वेरेव की 6-4, 6-4 से जीत ने उनके लचीलेपन और रणनीतिक खेल का प्रदर्शन किया।

मैच पर विचार करते हुए, ज्वेरेव ने सितसिपास के खिलाफ आक्रामकता की आवश्यकता पर जोर देते हुए यूनाइटेड कप से कहा, "मुझे आक्रामक होना पड़ा क्योंकि मैं जानता था कि स्टेफानोस खेल में सर्वश्रेष्ठ आक्रामक खिलाड़ियों में से एक है, अगर सर्वश्रेष्ठ आक्रामक खिलाड़ी नहीं है। " अब बराबरी के साथ, क्वार्टरफाइनल का भाग्य मिश्रित युगल मैच पर निर्भर था, जहां ज्वेरेव और लौरा सीगमुंड मिलकर स्टेफानोस सितसिपास और टीम के कप्तान पेट्रोस सितसिपास की मजबूत जोड़ी का सामना करेंगे। विजयी जोड़ी सेमीफाइनल में मेजबान देश ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगी।

इससे पहले शुक्रवार को, मारिया सकारी की पूर्व विश्व नंबर 1 एंजेलिक केर्बर पर 6-0, 6-3 की शानदार जीत ने ग्रीस को शुरुआती 1-0 की बढ़त दिला दी। सकारी के क्लिनिकल प्रदर्शन ने उनके प्रभुत्व को प्रदर्शित किया, और उन्होंने अपनी टीम के लिए पहला अंक हासिल करने पर संतुष्टि व्यक्त करते हुए कहा, "मुझे पता था कि एंजी को वापस आने का रास्ता मिल जाएगा और वह हार नहीं मानने वाली थी।" सर्विस और रिटर्न दोनों पर सकारी के अथक खेल के कारण केर्बर को गति हासिल करने के लिए संघर्ष करना पड़ा। केर्बर के संक्षिप्त पुनरुत्थान के बावजूद, सकारी ने यूनाइटेड कप में अपराजित रहते हुए, किसी भी संभावित वापसी का दरवाजा बंद कर दिया।

धोनी ने पूर्व बिजनेस पार्टनर कंपनी पर दर्ज कराया मुकदमा, 15 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

महेंद्र सिंह धोनी ने अरका स्पोर्ट्स मैनेजमेंट नामक कंपनी पर 15 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए रांची की अदालत में मुकदमा दर्ज कराया है। इस कंपनी के साथ महेंद्र सिंह धोनी ने ग्लोबल लेवल पर क्रिकेट एकेडमी की स्थापना को लेकर 2017 में करार किया था करार की शर्तों का पालन न करने पर उन्होंने कंपनी को कई नोटिस दिए थे। जवाब न मिलने धोनी ने कंपनी को अपनी ओर से दिया गया अधिकार खत्म कर दिया था। अब इसी मामले में उन्होंने 15 करोड़ के नुकसान का दावा करते हुए कंपनी के दो प्रमुख कर्ता-धर्ता मिहिर दिवाकर और सौम्या विश्वास के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया है। इस मुकदमे को लेकर शुक्रवार को रांची में ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट राजकुमार पांडे की अदालत में सुनवाई हुई।

दरअसल, क्रिकेट एकेडमी चलाने के लिए 2017 में दोनों पक्षों के बीच जो एग्रीमेंट हुआ, उसके मुताबिक अरका स्पोर्ट्स की ओर से धोनी को फ्रेंचाइजी शुल्क मिलना था और इसके अलावा प्रॉफिट का हिस्सा भी शेयर किया जाना था। धोनी की ओर से किए गए मुकदमे में पक्ष रखने वाले विधि एसोसिएट्स के दयानंद सिंह के मुताबिक, अरका स्पोर्ट्स ने इन शर्तों का पालन नहीं किया। इससे धोनी को काफी नुकसान हुआ है। शर्तों का पालन नहीं करने पर धोनी ने अरका स्पोर्ट्स को 15 अगस्त 2021 को नोटिस भेजा था, इसके साथ ही उसे दिया गया अधिकार रद्द कर दिया गया था।

धोनी ने बिजनेस पार्टनर के खिलाफ कई नोटिस भेजे थे, लेकिन, फिर भी वे इसे नजरअंदाज करते रहे। धोनी के दोस्त सीमांत लोहानी उर्फ चित्तू ने भी अरका स्पोर्ट्स के प्रमुख मिहिर दिवाकर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। सीमांत के मुताबिक कानूनी कार्रवाई करने के बाद मिहिर दिवाकर ने उन्हें धमकी दी और उनके साथ बदसलूकी की।


खराब पिचें भारतीय टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन सामने लाती हैं: आकाश

पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा का मानना है कि भारतीय टीम को कभी भी कठिन पिचों पर खेलने के बारे में शिकायत करने में कोई दिलचस्पी नहीं है। उनका कहना है कि खराब पिचों ने हमेशा रोहित शर्मा एंड कंपनी से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराया है।

सेंचुरियन में तीन दिन के भीतर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक पारी और 32 रन से हार झेलने के बाद भारत ने केपटाउन में दूसरे टेस्ट में एक मुश्किल पिच पर सात विकेट की जीत के साथ वापसी की जिसमें हमेशा अधिक उछाल और सीम मूवमेंट होती थी।

यह जीत सात मैचों में केपटाउन में भारत की पहली जीत भी है। इस कमबैक के दम पर भारत दो मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर करने में कामयाब रहा।

चोपड़ा ने कहा, "जब एक टेस्ट मैच डेढ़ दिन तक चलता है, तो कुछ अलग नतीजे आते हैं। पिच को लेकर कुछ बातें हो रही हैं। कुछ प्रश्न पूछे गए हैं, भारत ने प्रस्तावित पिचों की गुणवत्ता के बारे में कभी शिकायत नहीं की है।"

पिछली बार वांडरर्स की पिच वाकई ख़राब थी। ईमानदारी से कहूं तो इस पर किसी खिलाड़ी को चोट लग सकती थी। केपटाउन की यह पिच भी खराब थी।

चोपड़ा ने जियो सिनेमा पर 'आकाशवाणी' शो में कहा, "भारत ने अभी भी खेल पर ध्यान केंद्रित किया और कोई शिकायत नहीं की। मुझे पर्थ ऑस्ट्रेलिया की वह पिच भी याद है और यह सचमुच बहुत बुरा था।"

"उन्होंने सिर्फ प्रतिस्पर्धा की और लड़ाई का जज्बा दिखाया। जब पिच खराब होती है तो वह किसी न किसी तरह भारतीय टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराती है। मुझे लगता है कि भारत के लिए न तो ऐसी पिचें और न ही धूल भरी पिचें अच्छी हैं। यह क्रिकेट के खेल के लिए सही नहीं है।''

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;