चूर-चूर हुआ ऑस्ट्रेलिया का घमंड, टीम इंडिया ने 2-1 से कब्जाई सीरीज, रोहित बने ‘मैन ऑफ द मैच’

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के तीसरे और आखिरी मैच में जीत हासिल कर टीम इंडिया ने सीरीज पर कब्जा कर लिया है। बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारत ने 7 विकेट से जीत हासिल की।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारतीय क्रिकेट टीम ने रविवार को एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम वनडे मुकाबले में आस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। भारत को मुम्बई में खेले गए पहले वनडे मैच में 10 विकेट से हार मिली थी। इसके बाद उसे शानदार वापसी करते हुए राजकोट में खेले गए दूसरे मुकाबले में 36 रनों की जीत के साथ सीरीज में वापसी की थी।

निर्णायक मुकाबले में टॉस हारने के बाद स्टीव स्मिथ (131) के शानदार शतक के बावजूद आस्ट्रेलिया को 50 ओवरों में नौ विकेट पर 286 रनों पर सीमित किया। भारत की ओर से मोहम्मद शमी ने चार विकेट लिए।

फील्डिंग के दौरान चोटिल हुए शिखर धवन बल्लेबाजी करने नहीं आए। भारतीय टीम के सामने एक इनफॉर्म बल्लेबाज की कमी पूरी करने की चुनौती थी। ऊपर से उनके स्थान पर सलामी बल्लेबाजी करने आए लोकेश राहुल (19) 69 के कुल स्कोर पर आउट हो गए।

यहां भारत पर संकट था क्योंकि कोहली और रोहित साझेदारी नहीं करते तो भारतीय मध्य क्रम के बूते जीत हासिल करना बेहद मुश्किल था। कप्तान और उप-कप्तान इस बात को अच्छे से जानते थे कि उन्हें साझेदारी करने की जरूरत है तभी टीम जीत हासिल कर सकती है।

इसके बाद भारत ने सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के शानादार 119 तथा कप्तान विराट कोहली के 89 रनों की बदौलत 47.3 ओवरों में तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। श्रेयस अय्यर 35 गेंदों पर छह चौकों और एक छक्के की मदद से 44 रन बनाकर नाबाद लौटे।

रोहित ने अपने करियर का 29वां और आस्ट्रेलिया के खिलाफ आठवां शतक लगाया। उनके अलावा कोहली 8 शतक लगा चुके हैं। रोहित शर्मा को इस मैच के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच’ चुना गया।

वनडे में सबसे तेज 5 हज़ार रन बनाने वाले कप्तान बने कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाने वाले कप्तान बन गए हैं। कोहली को इस उपलब्धि तक पहुंचने के लिए केवल चार रनों की दरकार थी और उन्होंने आज के मैच में यह उपलब्धि हासिल कर ली।

कोहली ने बतौर कप्तान 82 पारियों में ही वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया जबकि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 127 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

लोकप्रिय