T20 विश्व कप के कारण प्रभावित हो सकती है ऑस्ट्रेलियाई टीम की एशेज की तैयारी, 14 दिनों का क्वारंटीन होगा मुश्किल

ऑस्ट्रेलियाई टीम के फाइनल या सेमीफाइनल में पहुंचने की स्थिति में कई खिलाड़ी अफगानिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले टेस्ट मैच के लिए जरूरी क्वारंटीन को पूरा नहीं कर पाएंगे। ऐसे में वे अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट भी नहीं खेल पाएंगे।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

अगर ऑस्ट्रलियाई टीम टी 20 विश्व कप में बढ़िया प्रदर्शन करते हुए फाइनल या सेमीफाइनल तक पहुंचती है तो उसके पांच प्रमुख खिलाड़ी लाल गेंद से बिना किसी अभ्यास या तैयारी के सीधे ऐशेज में खेलने के लिए उतरेंगे। इन खिलाड़ियों में डेविड वार्नर, जॉश हेजलवुड, मिचेल स्टार्क और स्टीवन स्मिथ शामिल हैं। क्रिकइंफो की एक विशेष रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम के फाइनल या सेमीफाइनल में पहुंचने की स्थिति में ये सभी खिलाड़ी अफगानिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले टेस्ट मैच के लिए जरूरी क्वारंटीन को पूरा नहीं कर पाएंगे। ऐसे में वे अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट भी नहीं खेल पाएंगे।

यही नहीं, अगर ऑस्ट्रेलियाई टीम सेमीफाइनल तक पहुंच कर बाहर हो जाती है तब भी 14 दिनों का क्वारंटीन पूरा करना मुश्किल नजर आता है। ऐसे में अगर ये खिलाड़ी अफगानिस्तान के खिलाफ खेलना चाहते हैं तो उन्हें सरकार से मंजूरी लेनी पड़ेगी, जो कोरोना के हालात को देखते हुए थोड़ा मुश्किल लगता है।

अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट खेलना सिर्फ उसी हालात में संभव हो पाएगा, यदि ऑस्ट्रेलियाई टीम सुपर 12 से बाहर हो जाती है। अगर ऐसा होता है तो 6 नवंबर को टी-20 विश्व कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम का सफर खत्म हो जाएगा।


हालांकि इसके बाद भी इस बात की पुष्टि होना बाकी रहेगा कि जो भी टीम (इंग्लैंड और अफगानिस्तान) टी-20 विश्व कप के बाद ऑस्ट्रेलिया जाने वाले हैं, वो घरेलू टीम के साथ यात्रा करेंगे या फिर उन्हें अलग-अलग जाना है।

क्रिकइंफो के आस्ट्रेलिया संवाददाता एंड्रयू मैक्गलाशन के मुताबिक प्रमुख राष्ट्रीय चयनकर्ता जॉर्ज बेली ने कहा, अभी तो कुछ कहा नहीं जा सकता क्योंकि कई संभावनाएं एक साथ चल रही हैं। हम तैयारी कर रहे हैं और सभी पक्षों को ध्यान में रख रहे हैं। हम चाहते हैं कि हमारे पास चयन करने के लिए एक पूरी ताकत वाली टेस्ट टीम हो। अगर हम टी20 टूर्नामेंट में उस स्टेज तक पहुंच पाते हैं तो यह क्वारंटीन पूरा करने के लिए चुनौतीपूर्ण हो जाएगा। अगर ऐसा होता है तो हम उस समय के हिसाब से अपने फैसले लेंगे और अगर परिस्थितियां गंभीर रहीं तो अन्य खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है।

उन्होंने कहा, एक खिलाड़ी की तैयारी के दृष्टिकोण से मैंने इस बारे में अपने नियमित गेंदबाजों के समूह से विशेष रूप से बात की है। यह पहली बार नहीं है जब वे लाल गेंद से अभ्यास के बिना टेस्ट सीरीज में जाने की योजना बना रहे हैं। हालांकि यह एक ऐसे चुनौती है जिसके बारे में ये खिलाड़ी जानते हैं।

स्मिथ शायद दिल्ली कैपिटल्स के साथ आईपीएल में वापसी कर सकते हैं। उनको कोहनी की चोट से उबरने के दौरान एशेज की तैयारी में चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। बेली ने कहा कि वह अच्छी प्रगति कर रहे हैं। आने वाले महीनों में वह अपने अभ्यास में बढ़ोतरी कर सकते हैं।


स्मिथ के बारे में बेली ने कहा, उनकी ओर से नवीनतम अपडेट यह है कि वह एक सत्र में 100 गेंदों का सामना बहुत आराम से कर रहे हैं। उनके हिसाब से अभ्यास की गई गेंदों की संख्या अभी लगभग एक चौथाई है जो वह एक टेस्ट मैच के लिए सामना करना चाहते हैं। हमें स्टीव पर भरोसा करना होगा। उन्हें अपने शरीर के बारे में पता है। उन्होंने खुद के लिए जो मानक बनाया है वो काफी ऊपर है। ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलते हुए अगर वो बढ़िया प्रदर्शन करना चाहते हैं तो उन्हें उस स्तर पर अभ्यास करना होगा और अपने आप को उसी हिसाब से तैयार करना होगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia