खेल की खबरें: रणजी ट्रॉफी में जुड़वा भाइयों ने रचा इतिहास और RCB की कप्तानी छोड़ने को लेकर कोहली का बड़ा बयान

रणजी ट्रॉफी में जुड़वा भाई बाबा अपराजित और बाबा इन्द्रजीत ने इतिहास रच दिया है और भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी विराट कोहली ने आईपीएल में आरसीबी की कप्तानी छोड़ने को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

रणजी ट्रॉफी में जुड़वा भाइयों ने रचा इतिहास

भारतीय घरेलू क्रिकेट के सबसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी सीजन 2021-22 जारी है। पिछले ही दिनों शुरू हुए रणजी ट्रॉफी के इस सीजन के शुरुआती दौर में ही एक बहुत ही अनोखा रिकॉर्ड बन गया जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में कभी नहीं हो सका है। रणजी ट्रॉफी के ग्रुप एच के एलिट मैच में तमिलनाडु के बाबा अपराजित और बाबा इन्द्रजीत जुड़वा भाइयों की जोड़ी ने एक बहुत ही बड़ा कारनामा कर दिया। इन दोनों ने अपनी घरेलू टीम के लिए खेलते हुए छत्तीसगढ़ के खिलाफ खेले जा रहे मैच की एक ही पारी में शतक बनाया। इस तरह एक ही मैच में एक ही टीम के लिए शतक लगाने वाली पहली जुड़वां भाइयों की भारतीय जोड़ी बनी। इससे पहले इस तरह का कारनामा किसी ने नहीं किया था और यह उपलब्धि इन दोनों भाइयों के लिए बहुत ही खास बन गयी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

विराट कोहली ने RCB की कप्तानी छोड़ने को लेकर दी बड़ी प्रतिक्रिया

भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी विराट कोहली ने आईपीएल में आरसीबी की कप्तानी छोड़ने को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि आरसीबी की कप्तानी से उन्हें निकाला नहीं गया था, बल्कि उन्होंने खुद ही इस्तीफा दिया था। पिछले कुछ सालों से विराट कोहली का वर्कलोड काफी ज्यादा रहा है। वो लगातार इंडियन टीम की तरफ से भी खेलते हैं और आईपीएल में भी खेलते हैं। यही वजह है कि टी20 वर्ल्ड कप के बाद उन्होंने भारत की टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का भी फैसला किया। वहीं आईपीएल 2021 के बाद आरसीबी की भी कप्तानी छोड़ दी। विराट कोहली ने आरसीबी के पोडकास्ट पर कप्तानी छोड़ने को लेकर कहा "अगर उन्हें किसी प्रोसेस में उतना मजा नहीं आ रहा है तो उस चीज को वो छोड़ देंगे। लोग आपके फैसले को सही तरह से समझ नहीं पाते हैं। लोगों को अपनी एक उम्मीद आपसे रहती है। ये कैसे हुआ ? हम इससे हैरान हैं। इसमें हैरानी की कोई बात ही नहीं है। अपने वर्कलोड को मैनेज करने के लिए मुझे थोड़े स्पेस की जरूरत थी और कहानी यहीं पर खत्म हो जानी चाहिए।"

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

'टीम ऑफ द ईयर' का सम्मान मिलने पर क्या बोले विलियमसन?

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने शुक्रवार को कहा कि 59वें हैलबर्ग अवार्डस में 'टीम ऑफ द ईयर' का सम्मान मिलना देश के लिए गर्व का क्षण है। 1949 में स्थापित हैलबर्ग अवार्डस, न्यूजीलैंड में शीर्ष खेल उपलब्धियों को मान्यता देने के लिए दिए जाते हैं। न्यूजीलैंड टीम को 2021 में विशेष रूप से विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के पहले सीजन को जीतने के लिए, वनडे रैंकिंग के शीर्ष पर पहुंचने और टी20 विश्व कप में उपविजेता बनने के लिए सम्मानित किया गया। विलियमसन ने एसईएनजेड ब्रेकफास्ट शो में कहा, "टीमों की श्रेणी में किसी एक का चुनाव करना अविश्वसनीय रूप से कठिन है, लेकिन साथ ही न्यूजीलैंड क्रिकेट के लिए इस तरह का पुरस्कार प्राप्त करना गर्व का क्षण है और कुछ अच्छी मान्यता है। हाँ, यह एक अच्छा साल था, क्योंकि न्यूजीलैंड ने अविश्वसनीय रूप से शानदार प्रदशर्न किया है।" विलियमसन को हैमिश बॉन्ड, पॉल कोल और स्कॉट डिक्सन को हराकर दूसरी बार प्रतियोगिता में 'स्पोर्ट्समैन ऑफ द ईयर' चुना गया। जब उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड ने एक टीम के रूप में प्रदर्शन किया था, तो वे व्यक्तिगत पुरस्कार जीतने में असहज महसूस कर रहे थे।

उन्होंने आगे कहा, "मुझे लगता है कि इन चीजों को चुनना इतना मुश्किल है। जब आप व्यक्तिगत पुरस्कार प्राप्त कर रहे होते हैं और आप एक टीम में खेल रहे होते हैं, तो निश्चित रूप से एक व्यक्ति के रूप में पुरस्कार प्राप्त करना मुश्किल हो जाता है।" लंबे समय से कोहनी की चोट के कारण दिसंबर से एक्शन से बाहर विलियमसन, क्राइस्टचर्च में पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड की साउथ अफ्रीका पर पारी और 276 रनों से जीत से खुश थे। उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि आप वह सब कर सकते हैं जो आप करते हैं और उन्हें अपनी क्षमता के अनुसार करते हैं, लेकिन आपके पास अभी भी एक विरोधी है, जो अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलना चाहता है।" दूसरे टेस्ट का पहले दिन का खेल खत्म होने तक साउथ अफ्रीका 238/3 रन बनाए लिए हैं, विलियमसन को यकीन है कि न्यूजीलैंड मेहमानों को हल्के में नहीं लेगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

IPL मीडिया अधिकार : प्रसारण और डिजिटल अधिकारों की बोली लगाएगा सोनी नेटवर्क्‍स

दो नई टीमों को शामिल करने और एक आकर्षक मेगा नीलामी के बाद, ई-नीलामी और सोनी पिक्च र्स नेटवर्क्‍स इंडिया के माध्यम से 2023/27 के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के टेलीविजन और डिजिटल प्रसारण के मीडिया अधिकारों को बेचने के लिए मंच तैयार है। सोनी लीग की दोनों अधिकारों के लिए बोली लगाएगा। आईपीएल मीडिया अधिकारों के लिए निविदा का आमंत्रण (आईटीटी) जल्द ही जारी होने की संभावना है, जिसके बाद ई-नीलामी होगी। ई-नीलामी या बंद लिफाफा बोली के लिए पहले एक आंतरिक बहस हुई थी, जैसा कि हाल ही में टीम नीलामी के लिए किया गया था, लेकिन अंत में बीसीसीआई ने ई-नीलामी के लिए जाने का फैसला किया, क्योंकि यह बहुत अधिक पारदर्शी है। विशेष रूप से, डिजनी के स्वामित्व वाले स्टार के पास वर्तमान में आकर्षक लीग के मीडिया अधिकार हैं। स्टार इंडिया ने मौजूदा चक्र 2018/22 के लिए 16,347.5 करोड़ रुपये में आईपीएल के मीडिया अधिकार खरीदे थे। हालांकि, सोनी पिक्च र्स नेटवर्क्‍स इंडिया (एसपीएनआई), जिसने 8,200 करोड़ रुपये का भुगतान करने के बाद 10 वर्षों (सीजन 1 से 10 तक) के मीडिया अधिकारों का आयोजन किया, वह उस अधिकार को वापस पाने के लिए उत्सुक है, जिसे उन्होंने एक दशक तक पोषित किया था।

कंपनी ने आईएएनएस से कहा, "एसपीएनआई आगामी आईपीएल के प्रसारण और डिजिटल अधिकारों दोनों के लिए बोली का मूल्यांकन करेगा।" जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड के साथ विलय के बाद सोनी ने अपना विस्तार किया है और उनसे अधिकारों के लिए एक साथ बोली लगाने की उम्मीद है और आईपीएल अधिकार हासिल करने से उन्हें बाजार में भारी बढ़ावा मिल सकता है। हालांकि, उनके लिए सफलता की राह आसान नहीं होगी, क्योंकि कई अन्य नाम भी मैदान में हैं। डिज्नी के स्वामित्व वाली स्टार, रिलायंस-वायाकॉम18 और अमेजॅन बाजार में अन्य बड़े खिलाड़ी हैं और मीडिया के अधिकारों को हथियाने से बोली-प्रक्रिया में एक कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है। वॉल्ट डिजनी कंपनी इंडिया और स्टार इंडिया ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि कंपनी भारी निवेश करने से नहीं कतराएगी और आईपीएल अधिकारों के नवीनीकरण पर उच्च बोली लगा सकती है। दूसरी ओर, ऐसी खबरें थीं कि मीडिया बैरन रूपर्ट मडरेक के बेटे जेम्स मडरेक और स्टार और डिजनी इंडिया के पूर्व अध्यक्ष उदय शंकर, वायाकॉम 18 में लगभग 40 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने की योजना बना रहे हैं और बाद में आईपीएल मीडिया अधिकारों के लिए बोली लगा सकते हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

ASBC एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैंपियनशिप के लिए टीमों की हुई घोषणा

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) ने 27 फरवरी से 16 मार्च तक जॉर्डन में होने वाली 2022 एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर पुरुष और महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप के लिए 50 सदस्यीय दल का चयन किया है। कॉन्टिनेंटल इवेंट में युवा और जूनियर दोनों वर्ग दूसरी बार एक साथ खेलने जाएंगे, क्योंकि 2021 संस्करण के कुछ पदक विजेताओं सहित भारतीय मुक्केबाज खिताब के लिए मशक्कत करेंगे। आगामी संस्करण के मैच 2 मार्च से शुरू होंगे, जबकि फाइनल 13 और 14 मार्च को खेले जाएंगे। युवा और जूनियर दोनों टीमों में प्रत्येक में 25 मुक्केबाज शामिल हैं। पिछले संस्करण के रजत पदक विजेता विश्वनाथ सुरेश, वंशज, निवेदिता कार्की और तमन्ना युवा टीम की अगुवाई करेंगे, जिसमें 13 पुरुष और 12 महिलाएं शामिल हैं। गत चैंपियन निकिता चंद जूनियर टीम की अगुवाई करेंगी, जिसमें 13 लड़के और 12 लड़कियां हैं।

चैंपियनशिप से पहले, भारतीय युवा और जूनियर मुक्केबाजों ने 21 दिवसीय राष्ट्रीय शिविरों में भाग लिया, जो रोहतक में साई नेशनल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस और भोपाल में टूर्नामेंट की तैयारी के तहत आयोजित किए गए थे। दुबई में 2021 में आयोजित एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैंपियनशिप के पिछले संस्करण के दौरान, भारत ने 14 स्वर्ण सहित 39 पदकों के साथ अपने अभियान का समापन किया। जूनियर लड़के : कृष पाल 46 किग्रा, रवि सैनी 48 किग्रा, लवप्रीत सिंह 50 किग्रा, जॉन लापुंग 52 किग्रा, जयंत डागर 54 किग्रा, चेतन कुलनार 57 किग्रा, यशवर्धन सिंह 60 किग्रा, हरीश सैनी 63 किग्रा, जैक्सन सिंह लैशराम 70 किग्रा, देव प्रताप सिंह 75 किग्रा, ऋषभ सिंह शिखरवार 80 किग्रा और गौरव गणपत म्हस्के 80 प्लस किग्रा। जूनियर लड़कियां: माही सिवाच 46 किग्रा, पलक जाम्ब्रे 48 किग्रा, विनी 50 किग्रा, याशिका 52 किग्रा, सुप्रिया थोकचम 54 किग्रा, विधि 57 किग्रा, निकिता चंद 60 किग्रा, श्रुष्टि साठे 63 किग्रा, तमन्ना 66 किग्रा, कृशा वर्मा 70 किग्रा, रुद्रिका 75 किग्रा, खुशी पूनिया 80 किग्रा और निर्जला बाना 80 प्सल किलोग्राम। युवा पुरुष : विश्वनाथ सुरेश 48 किग्रा, रमन 51 किग्रा, आनंद यादव 54 किग्रा, आयुष 57 किग्रा, रुद्र प्रताप सिंह 60 किग्रा, वंशज 63.5 किग्रा, अंजनी कुमार मुम्मना 67 किग्रा, आशीष हुड्डा 71 किग्रा, दीपक 75 किग्रा और रॉकी चौधरी 80 किग्रा। युवा महिला : निवेदिता कार्की 48 किग्रा, तमन्ना 50 किग्रा, रेणु 52 किग्रा, तनीषा लांबा 54 किग्रा, प्राची 57 किग्रा, शाहीन गिल 60 किग्रा, रवीना 63 किग्रा, प्रियंका 66 किग्रा, प्रांजल यादव 70 किग्रा और मुस्कान 75 किग्रा।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia