बॉक्सर निखत जरीन ने रचा इतिहास, महिला विश्व मुक्केबाजी में जीता दूसरा स्वर्ण

निकहत ने महिला विश्व बॉक्सिंग में दूसरा स्वर्ण पदक जीतने पर कहा कि मुझे खुशी है कि मैं दूसरी बार विश्व चैंपियन बनी। मैं उन सभी की आभारी हूं जिन्होंने मेरा समर्थन किया। यह मेडल मेरे देश के लिए है। यह कठिन प्रतियोगिता थी लेकिन अंत में मैंने स्वर्ण पदक जीता।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारत की निकहत जरीन ने वूमेन्स वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में दूसरा गोल्ड मेडल जीत कर इतिहास रच दिया है। दिल्ली में हुए फाइनल मुकाबले में निकहत ने 50 किलो भारवर्ग में  वियतनाम की गुयेन थी टैम को 5-0 से हराया। निकहत वर्ल्ड चैम्पियनशिप में दो बार गोल्ड जीतने वाली महज दूसरी भारतीय महिला बॉक्सर हैं।

निकहत जरीन ने अपना दूसरा महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप का स्वर्ण पदक जीतने पर कहा कि मुझे खुशी है कि मैं दूसरी बार विश्व चैंपियन बनी। मैं उन सभी का आभारी हूं जिन्होंने मेरा समर्थन किया। यह मेडल मेरे देश भारत के लिए है। यह एक कठिन प्रतियोगिता थी लेकिन अंत में मैंने स्वर्ण पदक जीता।


भारत की स्टार मुक्केबाज निखत जरीन ने आक्रामक अंदाज में मुकाबले की शुरूआत की और विएतनाम की एनगुएन थी ताम को संभलने का कोई मौका नहीं दिया और 5-0 से हराकर अपना दूसरा विश्व चैंपियनशिप स्वर्ण पदक जीत लिया। निखत ने पहला राउंड 5-0 से जीता। दूसरा राउंड भी भारतीय मुक्केबाज के पक्ष में गया। तीसरा राउंड मुश्किल था, लेकिन निखत ने शानदार जीत दर्ज की।

हालांकि तीसरे राउंड में थी ताम ने अपना पूरा जोर लगाया। लेकिन जब निखत ने थी ताम के चेहरे पर पंच लगाया तो वियतनामी मुक्केबाज को काउंटिंग से गुजरना पड़ा। थी ताम ने निखत के चेहरे पर एक पंच लगाया जिससे पूरा स्टेडियम स्तब्ध रह गया। रेफरी ने निखत के लिए काउंट गिना। लेकिन मैच जारी रहा और निखत विजेता बन कर उभरीं। निखत की इस जीत से देश भर में खुशी की लहर दौड़ गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;