खेल की खबरें: तीरंदाजी WC में भारतीय पुरूष कम्पाउंड टीम ने जीता स्वर्ण और इस वजह से मुशफिकुर WI दौरे से हुए बाहर

बांग्लादेश के दिग्गज विकेटकीपर-बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम हज यात्रा पर जाने के कारण वेस्टइंडीज के दौरे से चूक जाएंगे और भारतीय पुरुष कंपाउंड तीरंदाजी टीम ने तीरंदाजी विश्व कप स्टेज 2 के फाइनल में फ्रांस को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हज यात्रा के कारण वेस्टइंडीज दौरे पर नहीं जा सकेंगे मुशफिकुर रहीम

बांग्लादेश के दिग्गज विकेटकीपर-बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम हज यात्रा पर जाने के कारण वेस्टइंडीज के दौरे से चूक जाएंगे। इस बारे में शनिवार को एक रिपोर्ट में जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जुलाई में होने वाली हज यात्रा के लिए रहीम 22 जून को सऊदी अरब रवाना होंगे। बीसीबी के क्रिकेट संचालन अध्यक्ष जलाल यूनुस को ईएसपीएन क्रिकइन्फो की रिपोर्ट में कहा, "उन्होंने श्रीलंका श्रृंखला से पहले हमें सूचित किया कि वह इस साल हज करना चाहते हैं। जब उन्होंने पुष्टि की, तो हमें एक छुट्टी वाला पत्र मिला। फिर हमने उन्हें समय दे दिया।" पूरे वेस्टइंडीज दौरे के लिए रहीम के अनुपलब्ध रहने के कारण यह बांग्लादेश के लिए एक बड़ा झटका है। उसके कई खिलाड़ी पहले से चोट से जूझ रहे हैं। तस्कीन अहमद कंधे की चोट से उबर रहे हैं, जबकि मेहदी हसन मिराज, शरफुल इस्लाम और नईम हसन हाथ की चोटों से जूझ रहे हैं।

हाल ही में, 18 मई को बांग्लादेश के सबसे अधिक टेस्ट मैच खेलने वाले क्रिकेटर बने रहीम खेल के सबसे लंबे प्रारूप में 5000 से अधिक रन बनाने वाले अपने देश के पहले खिलाड़ी बन गए, जिन्होंने चटगांव में श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन 105 रन बनाए। श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट समाप्त होने के बाद रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि बांग्लादेश के 5 जून को वेस्टइंडीज की यात्रा करने की संभावना है, हालांकि इसके लिए टीम की घोषणा अभी तक नहीं की गई है। कैरेबियाई दौरे में एंटीगुआ और सेंट लूसिया में दो टेस्ट शामिल होंगे, जो 16 जून से शुरू होगा। डोमिनिका और सेंट लूसिया में दो जुलाई से छह जुलाई तक टी20 मैच खेले जाएंगे, जबकि डोमिनिका में वनडे 10 से 16 जुलाई तक चलेगा। केवल टेस्ट श्रृंखला विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का हिस्सा है। वहीं, वनडे सुपर लीग का हिस्सा नहीं हैं।

खेल की खबरें: तीरंदाजी WC में भारतीय पुरूष कम्पाउंड टीम ने जीता स्वर्ण और इस वजह से मुशफिकुर WI दौरे से हुए बाहर

क्रिकेट दिग्गजों ने इन दो खिलाड़ी को भारतीय टीम में शामिल करने की मांग की

चल रहे आईपीएल 2022 में युवा अनकैप्ड भारतीय तेज गेंदबाजों ने अपना लोहा मनवाया है। उनकी गेंदबाजी ने ना सिर्फ प्रशंसकों को बल्कि क्रिकेट दिग्गजों को भी अपनी गति, विविधता और विकेट लेने की क्षमता से प्रभावित किया है। भारत 9 से 19 जून तक पांच टी20 में दक्षिण अफ्रीका से खेलने के लिए तैयार है। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप की तैयारी भी शुरू हो जाएगी। ब्रायन लारा, सुनील गावस्कर, हरभजन सिंह और रवि शास्त्री ने दाएं हाथ के तेज गेंदबाज उमरान मलिक और बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह को टीम में शामिल करने की मांग की है। हैदराबाद के बल्लेबाजी कोच के रूप में काम कर रहे लारा का दावा है कि तेज गेंदबाज उमरान मलिक उन्हें वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज फिदेल एडवर्डस की याद दिलाते हैं। वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज ने कहा, "उमरान मलिक मुझे फिदेल एडवर्डस की याद दिलाते हैं, जब उन्होंने पहली बार शुरुआत की थी, बहुत तेज गति से गेंदबाजी करते थे। मुझे उम्मीद है कि वह बेतरीन गेंदबाजी कर रहे हैं और अपनी राष्ट्रीय टीम की ओर से खेलेंगे।"

भारतीय बल्लेबाजी के दिग्गज गावस्कर पूरे टूर्नामेंट में उमरान मलिक की प्रशंसा की और दक्षिण अफ्रीका के साथ-साथ इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में जम्मू के तेज गेंदबाज को शामिल करने की मांग की है। उन्होंने कहा, "उमरान मलिक अपनी गति के लिए बहुत प्रभावशाली रहे हैं, लेकिन उसकी गति से अधिक, यह उनकी सटीकता है जिसने मुझे सबसे अधिक प्रभावित किया है।" हालांकि, अर्शदीप (10 विकेट) विकेट लेने की सूची में मलिक (21 विकेट) से पीछे हैं, बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने 7.31 की इकॉनमी रेट के साथ डेथ ओवरों में शानदार प्रदर्शन किया है, जो टूर्नामेंट के सभी गेंदबाजों में सर्वश्रेष्ठ है। अर्शदीप की गेंद फेंकने की सटीकता ने हरभजन को भी हैरान किया है। उन्होंने कहा, "अर्शदीप सिंह के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि वह एक निडर गेंदबाज है, जबकि कई खिलाड़ी दबाव की स्थितियों में फंस जाते हैं, लेकिन वह तनावपूर्ण क्षणों की तुलना में अधिक बार अच्छी गेंदबाजी करते हैं। इस गेंदबाज में इतना आत्मविश्वास है कि वह तनावपूर्ण क्षणों में अच्छा कर सकते हैं।"

खेल की खबरें: तीरंदाजी WC में भारतीय पुरूष कम्पाउंड टीम ने जीता स्वर्ण और इस वजह से मुशफिकुर WI दौरे से हुए बाहर

प्रो लीग गेम्स में भारतीय महिला हॉकी टीम का नेतृत्व करेंगी सविता

आगामी एफआईएच हॉकी प्रो लीग गेम्स के लिए भारतीय महिला टीम की घोषणा की गई है। बेल्जियम, अर्जेंटीना और यूएसए के खिलाफ मैचों में टीम का नेतृत्व गोलकीपिंग की दिग्गज सविता करेंगी, जबकि दीप ग्रेस एक्का उपकप्तान होंगी। हॉकी इंडिया ने एफआईएच हॉकी महिला विश्व कप से पहले जून में बेल्जियम और नीदरलैंड में खेले जाने वाले मैचों के लिए शनिवार को 24 सदस्यीय टीम का ऐलान किया है। भारत को 11 और 12 जून को मेजबान बेल्जियम से खेलना है। इसके बाद 18 और 19 जून को अर्जेंटीना के खिलाफ और 21 और 22 जून को संयुक्त राज्य अमेरिका के खिलाफ मैच खेलना है। टीम की सूची में जूनियर विश्व कप के सितारे बिचु देवी खरीबाम, इशिका चौधरी, अक्षता अबसो ढेकाले, बलजीत कौर, संगीता कुमारी और दीपिका शामिल हैं। लीग में अनुभवी स्ट्राइकर रानी की वापसी की संभावना है, जब उन्होंने टोक्यो में अपनी आखिरी उपस्थिति दर्ज की थी, तब वह चोट के कारण बाहर थीं।

टीम के बारे में बात करते हुए मुख्य कोच जेनेक शोपमैन ने कहा, "यह यूरोप में प्रो लीग मैचों का एक बहुत ही महत्वपूर्ण चरण होने जा रहा है, क्योंकि यह हमें जुलाई में विश्व कप से पहले हमारी प्रगति के बारे में जानने को मिलेगा। विश्व कप के लिए हमारी टीम को अंतिम रूप देने में भी महत्वपूर्ण है। शॉपमैन ने कहा, "यह कुछ बहुत अनुभवी खिलाड़ियों और युवाओं के मिश्रण के साथ एक अच्छी और संतुलित टीम है, जिन्होंने अपने जूनियर विश्व कप से बाहर होने के बाद अच्छा प्रदर्शन किया है। मुझे यह पता लगाने में बहुत दिलचस्पी है कि वे गुणवत्ता वाली टीमों बेल्जियम, अर्जेंटीना और यूएस के खिलाफ यूरोपीय परिस्थितियों में कैसे खेलेंगे।" इस समय, भारतीय महिला टीम प्रो लीग अंक तालिका में नंबर 1 पर है।

खेल की खबरें: तीरंदाजी WC में भारतीय पुरूष कम्पाउंड टीम ने जीता स्वर्ण और इस वजह से मुशफिकुर WI दौरे से हुए बाहर

तीरंदाजी विश्व कप : भारतीय पुरूष कम्पाउंड टीम ने जीता स्वर्ण

भारतीय पुरूष कम्पाउंड तीरंदाजी टीम ने फाइनल में पिछडऩे के बाद वापसी करते हुए फ्रांस को 2 अंक से पछाड़कर विश्व कप चरण में लगातार स्वर्ण पदक जीता। यह विश्व कप के पहले चरण के फाइनल का दोहराव रहा। अभिषेक वर्मा, अमन सैनी और रजत चौहान की तिकड़ी पहले दो दौर में छठी वरीयता प्राप्त प्रतिद्वंद्वी से पिछड़ रही थी। लेकिन तीसरे दौर में भारतीय तिकड़ी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फ्रांस के एड्रियन गोंटियर, जीन फिलिप बलूच और केंटिन बराएर को 232-230 से शिकस्त देकर विश्व कप के दूसरे चरण में स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाला।


अप्रैल में अंताल्या में हुए पिछले विश्व कप फाइनल में इसी भारतीय तिकड़ी ने फ्रांस को एक अंक से पराजित किया था। भारतीय स्टार कम्पाउंड तीरंदाज वर्मा ने फिर दूसरा पदक अपने नाम किया। उन्होंने अवनीत कौर के साथ मिलकर मिश्रित टीम स्पर्धा में अपने से ऊंची वरीय तुर्की की अमीरकान हाने और आयसे बेरा सुजेर की जोड़ी को 156-155 से हराकर कांस्य पदक जीता। वहीं अवनीत कौर के लिए यह उनका दूसरा कांस्य पदक था जिन्होंने इससे पहले महिला स्पर्धा में टीम कांस्य पदक जीता था।

केविन पीटरसन ने काउंटी क्रिकेट पर कसा तंज

हाल ही में इंग्लैंड के टेस्ट में विफलताओं को लेकर पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने काउंटी क्रिकेट पर तंज कसा है और कहा कि इससे बाहर आने वाले खिलाड़ियों का स्तर खराब है और यही हाल के वर्षों में देश की टेस्ट टीम के खराब प्रदर्शन का मुख्य कारण है। इंग्लैंड ने पिछले 17 टेस्ट में से सिर्फ एक मैच जीता है और वर्तमान में नौ टीमों की विश्व टेस्ट चैंपियनशिप तालिका में सबसे नीचे है। वे दो जून से लॉर्डस में शुरू होने वाली न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में अपनी किस्मत बदलने की उम्मीद कर रहे होंगे। उम्मीद है कि नए कप्तान ऑलराउंडर बेन स्टोक्स और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रेंडन मैकुलम की अध्यक्षता में नए कोचिंग स्टाफ के तहत इंग्लैंड अपनी किस्मत बदल सकेगा। चार बार के एशेज विजेता पीटरसन ने उम्मीद जताई कि मैकुलम और स्टोक्स टेस्ट टीम को बेहतर रूप से पटरी पर लाने की कोशिश कर सकते हैं।

पीटरसन ने बेटवे इनसाइडर पर कहा, "इंग्लैंड के कोच पद के लिए ब्रेंडन मैकुलम की नियुक्ति से खुश हूं। इंग्लैंड के टेस्ट मैच कोच के रूप में मैकुलम एक बहुत ही दिलचस्प विकल्प है। मुझे लगता है कि उनका क्रिकेट का ब्रांड वही होगा जो रॉब की (इंग्लैंड के पुरुष क्रिकेट प्रबंध निदेशक) और बेन स्टोक्स ने सोचा है।" उन्होंने कहा, "उनको कुछ बदलने की जरूरत है और यह सकारात्मक बदलाव है। इंग्लैंड में अब बहुत अनुशासन होगा, लेकिन स्वाभाविक रूप से खेलने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। खिलाड़ी भी बिना डरे अपने स्वभाविक गेम खेल सकेंगे। मैकुलम भी इंग्लैंड की हालिया विफलताओं से डरे नहीं। वह केवल सकारात्मकता चीजों के बारे में सोचे और आगे बढ़े।" पूर्व क्रिकेटर ने उम्मीद जताई कि मैकुलम अपने इंग्लैंड के कोचिंग कार्यकाल के दौरान अपने खिलाड़ी से अधिक लाभ लेना चाहेंगे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia