युवराज सिंह ने नम आंखों से क्रिकेट को कहा अलविदा, सभी फॉर्मेट से लिया संन्यास, ऐलान से मां के छलके आंसू

टीम इंडिया के सबसे सफल बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। युवराज सिंह ने कहा कि 22 गज (क्रिकेट पिच) में 25 साल और इंटरनेशनल क्रिकेट में लगभग 17 साल बिताने केबाद मैंने आगे बढ़ने का फैसला किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारत के बेहतरीन हरफनमौला खिलाड़ियों में शुमार युवराज सिंह ने सोमवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। युवराज ने यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह काफी समय से रिटायरमेंट के बारे में सोच रहे थे और अब उनका प्लान आईसीसी द्वारा मान्यता प्राप्त टी-20 टूर्नामेंट्स में खेलने का है। संन्यास का ऐलान करते वक्त युवराज सिंह बीच-बीच में कई बार भावुक हुए। वहीं सामने बैठी युवराज सिंह की मां उनके संन्यास की घोषणा के वक्त फूट-फूट कर रोने लगी।

उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस करके कहा, “मैंने कभी हार नहीं मानी, 2011 का वर्ल्ड कप जीतना मेरे लिए सपने सरीखा था। मैंने अपने पिता का सपना पूरा किया।” उन्होंने संन्यास का ऐलान करते हुए कहा कि क्रिकेट में 25 और अंतरराष्ट्रीय क्रिेकेट में 17 साल के उतार-चढ़ाव के बाद मैंने आगे बढ़ने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इस खेल ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है कि कैसे लड़ना है, कैसे गिरना है, फिर से उठना है और आगे बढ़ना है।

युवराज ने आगे कि मैंने जिंदगी में कभी हार नहीं मानी। उन्होंने सालों के प्यार के लिए देशवासियों को शुक्रिया कहा और बोले कि देश की जर्सी को कभी भुला नहीं पाऊंगा।

बता दें कि युवराज ने अपना अंतिम टेस्ट साल 2012 में खेला था। सीमित ओवरों के क्रिकेट में वह अंतिम बार 2017 में दिखे थे। युवराज ने साल 2000 में पहला वनडे, 2003 में पहला टेस्ट और 2007 में पहला टी-20 मैच खेला था।

चंडीगढ़ में साल 1981 में जन्में युवराज ने भारत के लिए 40 टेस्ट, 304 वनडे और 58 टी-20 मैच खेले। टेस्ट में युवराज ने तीन शतकों और 11 अर्धशतकों की मदद से कुल 1900 रन बनाए जबकि वनडे में उन्होंने 14 शतकों और 52 अर्धशतकों की मदद से 8701 रन जुटाए। इसी तरह टी-20 मैचों में युवराज ने कुल 1177 रन बनाए। इसमें आठ अर्धशतक शामिल हैं। युवराज ने टेस्ट मैचों में 9, वनडे में 111 और टी-20 मैचो में 28 विकेट भी लिए हैं। युवराज ने 2008 के बाद कुल 231 टी-20 मैच खेले हैं और 4857 रन बनाए हैं। उन्होंने टी-20 मैचों में 80 विकेट भी लिए हैं।

2007 में जड़े थे एक ओवर में 6 छक्‍के

2007 में टी-20 वर्ल्‍ड कप में युवी ने धमाकेदार प्रदर्शन किया था। इंग्‍लैंड के खिलाफ तो उन्‍होंने स्‍टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में 6 छक्‍के लगातार नया इतिहास ही रच दिया था। युवराज सिंह की शानदार बल्‍लेबाजी की बदौलत भारत पहला टी20 वर्ल्‍ड कप जीतने में कामयाब रहा।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय