भारत-अफगानिस्तान के बीच शुरू हुए ऐतिहासिक टेस्ट के पहले दिन धवन और विजय की सेंचुरी

ऐतिहासिक टेस्ट के पहले दिन धवन और विजय की सेंचुरी

भारत और अफगानिस्तान के बीच बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में शुरू हुए ऐतिहासिक टेस्ट मैच का पहला दिन खत्म हो गया है। ओपनर शिखर धवन और मुरली विजय की शतकीय पारी की बदौलत भारतीय टीम ने 6 विकेट पर 347 रन बना लिए हैं।

अफगानिस्तान का अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण हो गया है। बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में भारत से उसका पहला मुकाबला शुरू हुआ। भारतीय बल्लेबाजों ने इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच के पहले दिन खेल खत्म होने अफगानिस्तान के स्पिनरों को जमकर थकाया और रन भी बटोरे। हालांकि अफगानी गेंदबाजों ने दिन के आखिरी सत्र में वापसी करते हुए भारत के 5 विकेट चटका दिए। भारतीय टीम ने 78 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 347 रन बनाए।

दिन का खेल खत्म होने तक हार्दिक पांड्या 10 और रविचंद्रन अश्विन सात रन बनाकर विकेट पर खड़े हुए हैं।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने अफगानिस्तान की स्पिन तिगड़ी राशिद खान, मुजीब उर रहमान और मोबम्मद नबी की जमकर धुनाई की और उनके टेस्ट क्रिकेट में अनुभवहीन होने का फायदा उठाया।

शिखर धवन और मुरली विजय ने पारी की शुरुआत की और पहले सत्र में बिना कोई विकेट खोए 158 रन बना लिए थे। धवन भोजनकाल तक 104 रन बनाकर नाबाद थे। वे किसी भी टेस्ट मैच के पहले दिन पहले सत्र में शतक जड़ने वाले भारत के पहले और दुनिया के छठे बल्लेबाज बने। धवन और राशिद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में एक ही टीम सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हैं। ऐसे में राशिद के साथ खेलने का धवन ने खूब फायादा उठाया और राशिद को लाइन और लेंथ पकड़ने नहीं दी।

धवन ने यही हाल स्पिनर मुजीब उर रहमान का भी किया। धवन ने इन दोनों पर आगे बढ़ कर भी शॉट लगाए और क्रिज के बेहतरीन इस्तेमाल भी किया। स्पिनरों को सफल होता न देख दिन के दूसरे सत्र में कप्तान असगर स्टानिकजाई ने अपने तेज गेंदबाज यमिन अहमदजाई को वापस बुलाया और उन्होंने स्लिप में धवन को नबी के हाथों कैच कर अफगानिस्तान को पहला टेस्ट विकेट दिलाया। विजय और धवन ने पहले विकेट के लिए 168 रनों की साझेदारी की। धवन ने 96 गेंदों में 19 चौके और तीन छक्कों की मदद से 107 रन बनाए।

दूसरा सत्र खत्म होने के कुछ देर पहले ही बारिश आ गई। विजय उस समय अपने 12वें शतक से चार रन दूरे थे। कुछ देर बाद बारिश रूकी और खेल शुरू हुआ लेकिन कुछ ओवरों बाद बारिश ने फिर दस्तक दी और मैच रोका गया।

हालांकि, तीसरा सत्र भारत के लिए चौंकाने वाला रहा। इस सत्र में भारत के कुल 5 विकेट गिरे। मैच खत्म होने से कुछ देर पहले बारिश रूकी और विजय ने आते ही अपना शतक पूरा किया। शतक पूरा करने के बाद वफादार की गेंद पर 280 के कुल स्कोर पर बोल्ड हो गए। विजय ने 153 गेंदों में 15 चौके और एक छक्के की मदद से शतकीय पारी खेली। राहुल भी अर्धशतक पूरा करने के बाद 284 के कुल स्कोर पर अहमदजाई का दूसरा शिकार बने।

इसके बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे (10), चेतेश्वर पुजारा (35) और दिनेश कार्तिक (4) को अफगान टीम आसानी से आउट करने में सफल रही।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें