खेल की खबरें: भारतीय क्रिकेट में नई पारी शुरू करने के लिए तैयार गांगुली! और जयदेव उनादकट ने रचा इतिहास

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष सौरव गांगुली जल्द ही नई पारी शुरू कर सकते हैं और भारतीय टेस्ट टीम में लंबे समय बाद वापसी करने वाले जयदेव उनादकट ने एक और बड़ा कारनामा किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

IPL 2023: भारतीय क्रिकेट में नई पारी शुरू करने के लिए तैयार गांगुली

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष सौरव गांगुली जल्द ही नई पारी शुरू कर सकते हैं। गांगुली अप्रैल में शुरू होने वाले आईपीएल के आगामी संस्करण के दौरान क्रिकेट निदेशक के रूप में दिल्ली कैपिटल्स से जुड़ने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक गांगुली ILT20 टीम दुबई कैपिटल्स और SA T230 लीग साइड प्रिटोरिया कैपिटल्स के साथ फ्रेंचाइजी के सभी क्रिकेट वर्टिकल्स की देखरेख करेंगे। एक आईपीएल सूत्र ने नाम न छापने की शर्तों पर पीटीआई से कहा- हां, सौरव इस साल से दिल्ली कैपिटल्स के साथ वापस आ जाएंगे। चर्चा पूरी हो चुकी है। सूत्र ने आगे कहा- उन्होंने फ्रैंचाइजी के साथ काम किया है। मालिकों के साथ उनका बेहतरीन तालमेल है। अगर उन्होंने आईपीएल में काम किया होता, तो यह हमेशा ही डीसी के साथ होता।

बुमराह श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए भारतीय वनडे टीम में शामिल

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को श्रीलंका के विरुद्ध इस महीने खेले जाने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है। पीठ में स्ट्रेस फ्ऱैक्च र की समस्या से ठीक होने के बाद बुमराह की भारतीय टीम में वापसी हुई है। बुमराह ने सितंबर में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध घर पर खेली गई टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज में हिस्सा लिया था जहां उनकी यह चोट फिर से उभरी। इसके बाद उन्हें टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम से हटाया गया था। चयनकर्ता शुरू में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में उनकी वापसी को लेकर सतर्क थे, लेकिन तब से उनकी प्रगति को संतोषजनक माना गया है। माना जा रहा है कि बुमराह ने पिछले एक सप्ताह में अपनी ट्रेनिंग और गेंदबाजी में सुधार किया है जिसके बाद उनका चयन हुआ है।

भारत को श्रीलंका के विरुद्ध 10, 12 और 15 जनवरी को तीन वनडे मैच खेलने हैं। श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए भारतीय दल : रोहित शर्मा (कप्तान), शुभमन गिल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर, के एल राहुल (विकेटकीपर), इशान किशन (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या (उपकप्तान), वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, उमरान मलिक, अर्शदीप सिंह

दिल्ली के विरुद्ध जयदेव उनादकट ने रणजी ट्रॉफी मैच के पहले ही ओवर में हैट्रिक ली

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने 12 साल बाद टेस्ट क्रिकेट में एक यादगार वापसी के साथ साल 2022 का अंत किया था। अब उन्होंने नए साल की शुरूआत रणजी ट्रॉफी में वापसी पर अपने पहले ही ओवर में हैट्रिक लेकर की। राजकोट में दिल्ली के विरुद्ध चल रहे एलीट ग्रुप बी के मुकाबले में मंगलवार को पहले दिन उनादकट ने यह कारनामा करते हुए अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। सौराष्ट्र के कप्तान उनादकट ने अपने और मैच के पहले ओवर की तीसरी, चौथी और पांचवीं गेंद पर क्रमश: ध्रुव शौरी, आयुष बदोनी और वैभव रावल को चलता किया। यह सब दिल्ली के कप्तान यश ढुल द्वारा टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के फैसले के बाद हुआ। यह रणजी ट्रॉफी इतिहास में पहले ओवर में ली गई पहली हैट्रिक है। इससे पहले सबसे कम समय में हैट्रिक लेने का कारनामा कर्नाटक के आर विनय कुमार ने किया था। अपने दूसरे ओवर का अंत होने से पहले उनादकट ने दो और शिकार करते हुए अपने प्रथम श्रेणी करियर में 21वीं बार एक पारी में पांच विकेट लिए। जब उन्होंने ललित यादव को शून्य के स्कोर पर पगबाधा किया तब दिल्ली का स्कोर था - छह विकेट पर मात्र पांच रन और उनादकट के आंकड़े कुछ इस प्रकार थे - 2-0-5-5। अपनी पहली पारी में दिल्ली 133 पर सिमट गई। यह पहला मौका था जब उनादकट ने अपने 98 प्रथम श्रेणी मैचों के करियर में पारी में आठ विकेट निकाले। उनादकट ने 12 ओवर में 39 रन देकर आठ विकेट झटके।

ऋतिक शौकीन ने नाबाद 68 और शिवांक वशिष्ठ ने 38 रन बनाकर दिल्ली को 100 के पार पहुंचाया। वरना दिल्ली के सात विकेट तो मात्र 10 रन के स्कोर पर गिर चुके थे। शौकीन और वशिष्ठ ने नौंवें विकेट के लिए 80 रन की साझेदारी की। उनादकट के विकेटों में शौरी का विकेट सबसे महत्वपूर्ण था। वह इसलिए क्योंकि तीन राउंड के बाद शौरी इस प्रतियोगिता में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उन्होंने छह पारियों में 144.75 की औसत और दो शतकों और दो अर्धशतकों की मदद से 579 रन बनाए हैं। इस मैच से बदोनी ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया जबकि रावल ने पिछले ह़फ्ते तमिलनाडु के विरुद्ध नाबाद 95 रनों की मैच-बचाऊ पारी खेली थी। यह मैच नॉकआउट में पहुंचने की राह में खड़ी सौराष्ट्र के लिए महत्वपूर्ण है। तीन मैचों के बाद सौराष्ट्र एक जीत और दो ड्रॉ से मिले 12 अंकों के साथ ग्रुप बी में तीसरे स्थान पर है। मुंबई और महाराष्ट्र पहले दो स्थानों पर विराजमान हैं। बतौर गेंदबाज और कप्तान उनादकट एक बढ़िया दौर से गुजर रहे हैं। पिछले महीने वह सौराष्ट्र की विजय हजारे ट्रॉफी जीत में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। 10 मैचों में 3.33 की इकॉनमी से उनादकट ने 19 विकेट लिए थे। इसके बाद मीरपुर में टेस्ट टीम में वापसी पर उन्होंने अपना पहला टेस्ट विकेट झटका। भारत की जीत में उनादकट ने कुल मिलाकर तीन विकेट अपने नाम किए थे।


चेतन शर्मा बने रह सकते हैं मुख्य राष्ट्रीय चयनकर्ता : रिपोर्ट

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज चेतन शर्मा एक और कार्यकाल के लिए पुरुष राष्ट्रीय टीम के मुख्य राष्ट्रीय चयनकर्ता बने रह सकते हैं। एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से यह दावा किया गया है। एनडीटीवी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि शर्मा, जो दिसंबर 2020 से पिछले महीने तक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की चयन समिति के प्रमुख थे, उनके नेतृत्व वाले पैनल के पिछले साल भंग होने के बावजूद अपनी भूमिका जारी रखने की संभावना है। चेतन शर्मा ने एक बार फिर पद के लिए आवेदन किया है और सोमवार को साक्षात्कार के लिए उपस्थित हुए।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अशोक मल्होत्रा की अगुआई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति ने पुनर्गठित चयन समिति में जगह के लिए सोमवार को भारत के कम से कम सात पूर्व क्रिकेटरों का साक्षात्कार लिया। इसके अलावा, चेतन शर्मा, हरविंदर सिंह, अमय खुरासिया, अजय रात्रा, एसएस डीए, एस. शरथ और कॉनर विलियम्स सोमवार को साक्षात्कार के लिए उपस्थित हुए। हरविंदर सिंह के भी चयन पैनल में बने रहने की संभावना है।

पद के लिए बीसीसीआई द्वारा सूचीबद्ध मानदंड के अनुसार, उम्मीदवारों को कम से कम 7 टेस्ट मैच या 30 प्रथम श्रेणी मैच या 10 वनडे और 20 प्रथम श्रेणी मैच खेले होने का अनुभव रहना चाहिए। इसके अलावा कम से कम 5 साल पहले खेल से सेवानिवृत्त रहना चाहिए। सोमवार को जिन लोगों को शॉर्टलिस्ट किया गया और उनका साक्षात्कार लिया गया, उन्हें ध्यान में रखते हुए चेतन शर्मा के मुख्य चयनकर्ता के रूप में बने रहने की संभावना है।

डेरारा हुरिसा मुंबई मैराथन 2023 में करेंगे खिताब की रक्षा

इथियोपिया के डेरारा हुरिसा 15 जनवरी को एशिया के सबसे प्रतिष्ठित टाटा मुंबई मैराथन में प्रतिस्पर्धी एलीट पुरुषों की रेस में अपने ताज की रक्षा करेंगे, जिसमें एक दर्जन धावकों ने 2020 में उनके बनाये गए 2:08:09 कोर्स रिकॉर्ड के तहत व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। यूएसडी 405,000 की इनामी राशि वल्र्ड की एथलेटिक्स गोल्ड लेबल रोड रेस का 18वां संस्करण दो साल के महामारी ब्रेक के बाद होगा और इसकी बहुप्रतीक्षित वापसी पर छह श्रेणियों में 55,000 से अधिक एमेच्योर भी दिखाई देंगे।

एलीट पुरुष और महिला विजेताओं में से प्रत्येक को 45,000 अमेरिकी डॉलर मिलेंगे। धावकों को 15,000 अमेरिकी डॉलर कोर्स रिकॉर्ड बनाने के लिए बोनस के रूप में प्रोत्साहन के तौर पर दिया जाएगा। हुरिसा ने कहा, "मैं चुनौती के लिए तैयार हूं और मैंने खिताब पर अपनी नजरें जमा ली हैं।" पुरुष वर्ग में हुरिसा के हमवतन आइले एब्शेरो और हेले लेमी और केन्या के फिलेमोन रोनो भी हैं, जो दिग्गज एलियुड किपचोगे के प्रशिक्षण भागीदार हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;