ICC ने टी20 के लिए लागू किया नया नियम, ऐसा करने पर मिलेगी सजा, जेब ही नहीं मैच पर भी पड़ सकता है भारी!

नई खेल परिस्थितियों में खेले जाने वाला पहला पुरुष मैच 16 जनवरी को जमैका के सबीना पार्क में वेस्टइंडीज और आयरलैंड के बीच एकमात्र मुकाबला होगा, जबकि दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की सीरीज का पहला टी20 मैच 18 जनवरी को सेंचुरियन में होगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने पुरुषों और महिलाओं के टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में धीमी ओवर दरों के लिए इन मैच पेनल्टी की शुरुआत की। इसमें यह भी कहा गया है कि पारी के बीच में वैकल्पिक ड्रिंक्स ब्रेक खेल परिस्थितियों का एक हिस्सा होगा।

नई खेल परिस्थितियों में खेले जाने वाला पहला पुरुष मैच 16 जनवरी को जमैका के सबीना पार्क में वेस्टइंडीज और आयरलैंड के बीच एकमात्र मुकाबला होगा, जबकि दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की सीरीज का पहला टी20 मैच 18 जनवरी को सेंचुरियन में होगा।

धीमी ओवर गति के लिए मैच के दौरान पेनल्टी का मतलब है कि फिल्डिंग टीम को इसके लिए दंडित किया जाएगा। आईसीसी ने एक बयान में कहा, "ओवर रेट नियमों को खेल की परिस्थितियों के खंड 13.8 में दर्ज किया गया है, जो यह निर्धारित करता है कि एक फिल्डिंग टीम के अंत के लिए निर्धारित या पुनर्निर्धारित समय तक पारी के अंतिम ओवर की पहली गेंद फेंकने की स्थिति में होना चाहिए।"

आईसीसी ने कहा, "यदि वे ऐसी स्थिति में नहीं हैं, तो पारी के शेष ओवरों के लिए 30 यार्ड सर्कल के बाहर कम से कम एक क्षेत्ररक्षक को अनुमति दी जाएगी। मैच के दौरान दंड अनुच्छेद 2.22 में धीमी ओवर दर के लिए प्रतिबंधों के अतिरिक्त शामिल किया है।"

वैश्विक क्रिकेट शासी निकाय ने कहा कि धीमी ओवर की दरों के लिए इन-मैच पेनल्टी को 2021 में इंग्लैंड में सौ प्रतियोगिता में इसकी प्रभावकारिता को देखने के बाद शामिल किया गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia