भारत ने तीसरे वनडे में वेस्टइंडीज को 96 रन से हराया, 3-0 से सीरीज जीतकर किया क्लीन स्वीप

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत निराशाजनक रही थी। आज फिर शीर्ष क्रम के बल्लेबाज सस्ते में निपट गए। सलामी बल्लेबाज कप्तान रोहित शर्मा (13), विराट कोहली (0) और शिखर धवन (10) जल्द ही पवेलियन लौट गए। बाद में पंत और अय्यर ने पारी संभाला।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में शुक्रवार को खेले गए तीन मैचों की सीरीज के आखिरी वनडे में भारत ने वेस्टइंडीज को 96 से करारी शिकस्त देकर सीरीज को 3-0 से जीत दर्ज कर क्लीन स्वीप कर लिया। भारत के 265 रनों के जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 37.1 ओवरों में 169 रनों पर सिमट गई। मेहमान टीम की ओर से ओडियन स्मिथ (36) और कप्तान निकोलस पूरन (34) ने सबसे ज्यादा रन बनाए। भारत की ओर से मोहम्मद सिराज और प्रसिद्ध कृष्णा ने तीन-तीन सफलताएं अपने नाम कीं। वहीं, दीपक चाहर और कुलदीप यादव ने दो-दो विकेट लिए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज टीम शुरू में ही पूरी तरह से लड़खड़ाती नजर आई, क्योंकि 14 ओवरों के अंदर ही टीम ने 68 रनों पर चार विकेट खो दिए। इस दौरान सलामी बल्लेबाज शाई होप (5), ब्रैंडन किंग (14), डैरेन ब्रावो (20) और शमरह ब्रूक्स (0) जल्द ही पवेलियन लौट गए, हालांकि ब्रावो और कप्तान निकोलस पूरन के बीच 49 गेंदों में 43 रनों की साझेदारी हुई पर ज्यादा देर तक चल न सकी, जिससे वेस्टइंडीज टीम का लक्ष्य का पीछा करना बेहद मुश्किल लगने लगा।

शुरुआत से ही वेस्टइंडीज का विकेट गिरने का सिलसिला जारी रहा और जेसन होल्डर (6) कृष्णा की गेंद पर कप्तान रोहित को कैच थमा बैठे, इसके अगले ही ओवर में फैबियन एलेन (0) कुलदीप के शिकार बने। इस समय तक वेस्टइंडीज का स्कोर 17 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 77 रन था। अभी भी कैरेबियन टीम को जीतने के लिए 189 रनों की जरूरत थी।

मैदान पर कप्तान पूरन और अल्जारी जोसेफ ने टीम को लक्ष्य के करीब ले जाने की कोशिश की। लेकिन कप्तान पूरन दो चौके और एक छक्के की मदद से 39 गेंदों में 34 रन बनाकर कुलदीप को अपना विकेट दे बैठे, जिससे वेस्टइंडीज का स्कोर 19वें ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 82 रन हो गया, जीत के लिए अभी भी विशाल स्कोर चाहिए थे।


इसके बाद नौवें स्थान पर आए ओडियन स्थिम ने एक बार फिर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। वह तीन चौके और तीन छक्के की मदद से 18 गेंदों में 36 रन बनाकर सिराज की गेंद पर शिखर धवन को कैच थमा बैठे। जिसके बाद 24वें ओवर में टीम का स्कोर आठ विकेट के नुकसान पर 122 रन बन गया, जीत के लिए अभी भी 141 रनों की आवश्यकता थी।

इसके बाद जोसेफ और हेडन वॉल्श के बीच 77 गेंदों में 47 रनों की सबसे बड़ी साझेदारी को कृष्णा ने तोड़ा, जब उनको 29 रनों पर आउट कर पवेलियन भेज दिया। अगले ओवर में वॉल्श को सिराज ने 13 रनों पर अपना शिकार बनाया, जिससे वेस्टइंडीज की टीम 37.1 ओवरों में 169 रनों पर ढेर हो गई। भारत ने यह मैच 96 रनों से जीतने के साथ ही वेस्टइंडीज पर क्लीन स्वीप कर लिया।

इससे पहले, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद निराशाजनक रही, क्योंकि एक बार फिर शीर्ष क्रम के बल्लेबाज सस्ते में निपट गए। इस दौरान, सलामी बल्लेबाज कप्तान रोहित शर्मा (13), विराट कोहली (0) और शिखर धवन (10) जल्द ही पवेलियन लौट गए। इस समय तक भारत ने 10 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 43 रन बना लिए थे।

चौथे और पांचवें नंबर पर आए श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत ने लड़खड़ाती पारी को संभालने का काम किया और भारत के स्कोर को 24वें ओवर में 100 के पार पहुंचा दिया। इस बीच, दोनों ने कुछ बेहतरीन शॉट लगाए। वहीं, शानदार खेल दिखाते हुए श्रेयस ने 75 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। अगले ओवर में पंत ने भी 47 गेंदों पर ताबड़तोड़ अर्धशतक ठोक दिया।


दोनों के बीच 110 रनों की लंबी होती साझेदारी को हेडन वाल्श ने तोड़ा, जब पंत (छह चौके और एक छक्के की मदद से 56 रन) को शाई होप के हाथों कैच आउट कराया। 30 ओवर के बाद भारत का स्कोर चार विकेट के नुकसान पर 152 रन था। छठे नंबर पर आए फॉर्म में चल रहे सूर्यकुमार यादव ने श्रेयस के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। लेकिन ज्यादा देर सूर्यकुमार (6) टिक न सके और एलेन का शिकार बन गए।

37वें ओवर में भारत को छठा झटका लगा, क्योंकि श्रेयस ने नौ चौके की मदद से 111 गेंदों में 80 रन बनाकर वॉल्श की गेंद पर ब्रावो को कैच थमा बैठे। भारत ने 37वें ओवर में छह विकेट खोकर 187 रन बना लिए थे। मैदान पर वाशिंगटन सुंदर और दीपक चाहर ने पारी को संभाला और महत्वपूर्ण रन जोड़े, इसके साथ ही एलेन की गेंद पर चाहर ने छक्का मारकर भारत का स्कोर 41वें ओवर में 200 रनों पर पहुंचा दिया।

इसके बाद, चाहर चार चौके और दो छक्कों की मदद से 38 गेंदों में 38 रन बनाकर होल्डर के शिकार बन गए, जिससे सुंदर और उनके बीच 51 गेंदों में 53 रनों की साझेदारी का अंत हो गया। भारत ने 46 ओवर के बाद सात विकेट गंवाकर 240 रन बना लिए थे। इस बीच, कुलदीप यादव (5) को भी होल्डर ने चलता किया। वहीं, आखिरी कुछ ओवरों में भारत तेज गति से रन बनाने में संघर्ष किया। सुंदर (33) और मोहम्मद सिराज (4) रन बाकर आउट हो गए, जिससे 50 ओवरों में भारतीय टीम 265 रनों पर सिमट गई।

वेस्टइंडीज की ओर से जेसन होल्डर ने सबसे ज्यादा चार विकेट अपने नाम किए। वहीं, अल्जारी जोसेफ और हेडर वाल्श ने दो-दो विकेट चटकाए, जबकि फैबियन एलेन और ओडियन स्मिथ ने एक-एक विकेट लिया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia