विशाखापट्टनम टेस्ट: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले घरेलू मैच में आज रोहित शर्मा की सलामी बल्लेबाजी पर होंगी नजरें

कोहली ने इस मैच के लिए युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत को बाहर कर अनुभवी विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को मौका दिया है। चोट से वापसी करने के बाद यह साहा की पहली सीरीज होगी। विंडीज में वह अंतिम-11 में नहीं चुने गए थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत भारतीय टीम अपना पहला टेस्ट मैचआज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एसीए-वीडीसीए स्टेडियम में खेलेगी। तीन मैचों की सीरीज के पहले मैच में दोनों टीमों की नजरें बढ़त हासिल करने पर होंगी। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 से बराबर रही थी।

मेजबान होने के नाते भारत को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। ऐसे में भारतीय टीम में से नजरें रोहित शर्मा पर सबसे ज्यादा होंगी। सीमित ओवरों में बड़ी-बड़ी पारियों के लिए मशहूर रोहित टेस्ट में इसलिए चर्चा में हैं, क्योंकि उन्हें इस प्रारूप में पहली बार बतौर सलामी बल्लेबाज के तौर पर चुना गया है। रोहित अभी तक टेस्ट में मध्य क्रम में ही खेलते आए हैं लेकिन लोकेश राहुल की खराब फॉर्म के कारण उन्हें टेस्ट में पारी की शुरुआत करने का मौका मिल रहा है।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अभ्यास मैच में रोहित हालांकि सिर्फ दो गेंदों पर बिना कोई रन बनाए आउट हो गए थे। इस शून्य के बाद रोहित के ऊपर अपने आप को साबित करने का दबाव बढ़ गया है।

भारत की टेस्ट में बल्लेबाजी मजबूत है। मयंक अग्रवाल ने विंडीज के खिलाफ बीती टेस्ट सीरीज में अच्छा किया था। कप्तान कोहली और उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे भी फॉर्म में हैं। हां, रहाणे के लिए निरंतरता बनाए रखना चुनौती हो सकता है। चेतेश्वर पुजारा भी रन कर रहे हैं।

निचले क्रम में हनुमा विहारी ने टीम का भार अच्छे से उठा रखा है। वह विंडीज में टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे।

कोहली ने इस मैच के लिए युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत को बाहर कर अनुभवी विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को मौका दिया है। चोट से वापसी करने के बाद यह साहा की पहली सीरीज होगी। विंडीज में वह अंतिम-11 में नहीं चुने गए थे। चोट के कारण वह बाहर होने से पहले बल्ले से भी अच्छी फॉर्म में थे और विकेटकीपिंग भी शानदार तरीके से कर रहे थे। साहा के लिए उसी फॉर्म को जारी रखना चुनौती होगा।

गेंदबाजी में हालांकि भारत के लिए जसप्रीत बुमराह का न होना परेशानी है। वह चोट के कारण बाहर हैं। उनकी अनुपस्थिति में ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी की जिम्मेदारी बढ़ गई है।

कोहली ने रवींद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी को एक बार फिर अंतिम-11 में मौका दिया है। इन दोनों के अलावा विहारी भी ऑफ स्पिनर हैं।

स्पिन खेलना दक्षिण अफ्रीका के लिए हमेशा से टेढ़ी खीर रहा है। ऐसे में तीन स्पिनरों का सामना अनुभव की कमी वाली दक्षिण अफ्रीका कैसे करती है यह देखना होगा।

मेहमान टीम की बल्लेबाजी कप्तान फाफ डु प्लेसिस और क्विंटन डी कॉक पर काफी हद तक निर्भर है। डीन एल्गर, एडिन मार्कराम और नए उप-कप्तान टेम्बा बावुमा का योगदान भी अहम होगा।

गेंदबाजी में उसके लिए कागिसो रबादा सबसे अहम हैं। रबाडा को भारत में खेलने का भी अच्छा अनुभव है। वार्नोन फिलेंडर और लुंगी नगिदी के लिए भारत की परिस्थतियों में गेंदबाजी करना आसान नहीं होगा। स्पिनर केशव महाराज से मेहमान टीम को काफी उम्मीदें होंगी।

ये हैं दोनों संभावित टीम

भारत: विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी।

दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), टेम्बा बावुमा (उप-कप्तान), थेयुनिस डे ब्रयून, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), डीन एल्गर, जुबायर हम्जा, केशव महाराज, एडिन मार्कराम, सेनुरान मुतुसामी, लुंगी नगिदी, एनरिक नोर्टजे, वार्नोन फिलेंडर, डेन पिएड्ट, कागिसो रबादा, रुडी सेकेंड।

लोकप्रिय